मुझे कांग्रेस के काले झंडों की परवाह नहीं, उनसे मेरी नजर उतर जाएगी: मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान

Madhya Pradesh News

बालाघाट से होकर छिंदवाड़ा जिले में पहुंची मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा
कटंगी/पांढुर्ना। कांग्रेस के नेता परेशान है, कुंठित हैं। वे मैदान में मुकाबला नहीं करते,  आज कल मुझे गाली देने का काम करते हैं। जहाँ-जहाँ मैं जाता हूँ वहां काले झंडे दिखाने की योजना बनाते हैं। लेकिन मुझे इसकी परवाह नहीं, काले झंडों से मेरी नजर उतर जाएगी। जनता का आशीर्वाद मेरे साथ है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान गुरुवार को बालाघाट और छिंदवाड़ा जिलों में जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान आयोजित सभाओं में कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस जो कर रही है, वो मध्यप्रदेश के इतिहास में कभी नहीं हुआ।

                मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा गुरुवार को

बालाघाट से होकर छिंदवाड़ा जिले में पहुंची। यात्रा की शुरुआत बालाघाट जिले के कटंगी से हुई। मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से कटंगी पहुंचे। हेलीपैड पर स्वागत के बाद मुख्यमंत्री का काफिला सभास्थल पर पहुंचा। यहां लोगों की भीड़ से खचाखच भरे पंडाल में मुख्यमंत्री ने सभा को संबोधित किया। इस दौरान मंच पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, सांसद श्री बोध सिंह, मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, मुख्यमंत्री की पत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान, विधायक श्री के.डी. देशमुख सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

कांग्रेस सोचे, वह किस दिशा में जा रही है

                सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को जमकर आड़े

हाथों लिया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने का अधिकार है, लेकिन 14 सालों से सत्ता से बाहर रहने के कारण कांग्रेस के नेता लोकतांत्रिक मर्यादाएं भूल चुके हैं। वे कभी मुझे वैश्या, तो कभी जनरल डायर, कभी नालायक तो कभी मदारी कहते हैं। उन्होंने कांग्रेस को जवाब देते हुए कहा कि हाँ मैं मदारी हूँ-मेरे डमरू बजाते ही गरीबों का बिजली का बिल जीरो हो जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस सत्ता के लिए जिस तरह के ओछे हथकंडे अपना रही है, उसे सोचने की जरूरत है कि वह किस दिशा में जा रही है। कांग्रेस चाहती है कि मध्यप्रदेश में अराजकता फैल जाये। प्रदेश का शांतिपूर्ण वातावरण बिगड़ जाये। प्रदेश में पत्थरबाजी हो, दंगे हो। सत्ता से बेदखल होकर कांग्रेस पूरी तरह बौखला गयी है।

चिंता की जरूरत नहीं, खजाने का मुंह किसानों की तरफ कर दिया है

                मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने सभा की शुरुआत कांग्रेस और उसके नेता राहुल गांधी को आड़े हाथों लेकर की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भोपाल आए और गांव तथा किसानों की चिंता करने लगे। उन्होंने कभी गांव की पगडंडियां नहीं देखी, खेत नहीं देखे, उन्हें किसानों की चिंता हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल को यह तो पता नहीं कि मिर्ची जमीन में ऊगती है या ऊपर, वह क्या किसानों की बात करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के गरीब और किसानों के लिए मैंने खजाने का मुंह उन की ओर मोड़ दिया है। अब उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा 70 साल में 50 साल तक कांग्रेस ने प्रदेश पर राज्य किया लेकिन हमारे प्रदेश को उन्होंने बीमारू राज्य का तमगा दिला दिया। भाजपा सरकार ने प्रयास करके बीमारू राज्य को विकसित बनाया है और अब उसे हम समृद्ध प्रदेश बनाने के प्रयास कर रहे हैं।

कांग्रेसी नींद में भी चिल्लाते हैं-शिवराज हटाओ, शिवराज हटाओ

                मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं गरीब घर में पैदा हुआ किसान का बेटा हूँ। लेकिन कांग्रेस के उद्योगपति और राजा- महाराजा नेता मुझसे परेशान हैं। उन्हें लगता है कि सरकार चलाना सिर्फ इनका अधिकार है। दुबला पतला गरीब किसान का बेटा कैसे मुख्यमंत्री बन सकता है। वे कहते हैं शिवराज हटाओ, मैं कहता हूं गरीबी मिटाओ, किसानों को बिना ब्याज कर्ज दिलाओ, कन्यादान कराओ, गरीबों को एक रुपए किलो गेहूं चावल बंटवाओ, लाड़ली लक्ष्मी योजना चलाओ..। आजकल कांग्रेस के सारे नेता सपने मैं भी चमक-चमक कर चिल्लाते है शिवराज हटाओ- शिवराज हटाओ और मेरा सूत्र मन्त्र है मध्यप्रदेश बनाओ। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने प्रदेश को बीमारू बना दिया था हमने बीमारू से विकसित और विकसित से विकासशील प्रदेश बनाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले पांच वर्षो में प्रदेश को विकासशील से समृद्ध प्रदेश बनाने के लिए कटंगी की जनता का आशीर्वाद लेने आया हूँ।

आपने मेरे लिए पसीना बहाया, मैं उसकी पूरी कीमत चुकाऊंगा

                सभा उपस्थित समाज के हर वर्ग के श्रोताओं की भीड़ से अभिभूत

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनसभा में उपस्थित जन समुदाय को देखकर मैं गदगद हूं। पंडाल छोटा पड़ गया है और जगह न होने के कारण कई लोगों को धूप में खड़ा होना पड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज आप लोगों ने मेरे लिए जो पसीना बहाया है, मैं कटंगी का विकास करके उसकी पूरी कीमत चुकाऊंगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने गरीब और मध्यम वर्ग की जिंदगी बदलने के लिए संबल योजना बनाई है। इस योजना के तहत सबसे पहले घरों में आने वाले बड़े-बड़े बिलों को माफ करने का काम किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के लोग इस पर सवाल उठा रहे हैं। मेरा कहना है कि जब मैंने खजाना खोल दिया है, तो आपके पेट में दर्द क्यों हो रहा है। हम गरीबों का जीवन बदलने का काम कर रहे हैं, तो कांग्रेस को क्यों परेशानी हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेसी नेता जागते और सोते एक ही बात रट रहे हैं कि शिवराज को हटाओ। मैं कहता हूं गरीबी हटाओ, मैं प्रदेश को समृद्ध बनाने की बात कर रहा हूं, मैं किसानों की जिंदगी बदलने की बात कर रहा हूं, मैं बीमारी दूर करने की बात कर रहा हूं, वे कहते हैं- शिवराज हटाओ, शिवराज भगाओ।  मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायक के.डी. देशमुख ने जो भी मांगें रखी हैं उन्हें भी जल्द पूरा किया जाएगा। उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों से चैथी बार भाजपा की सरकार बनाने को आशीर्वाद देने का आग्रह किया।

हाथ में डंडा लेकर गुंडों की अक्ल ठिकाने लगाएंगी बेटियां

                मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पांढुर्ना में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 14-15 सालों में हमने बेटियों को ताकत देने की कोशिश की। पहले उन्हें लाड़ली लक्ष्मी बनाया, फिर गांव की बेटियों के लिए प्रतिभा किरण योजना लागू की। अब हम बेटियों को पुलिस की भर्ती में 33 फीसदी आरक्षण देकर उनके हाथ में डंडा पकड़ाएंगे, ताकि वे गुंडों की अक्ल ठिकाने लगा सकें। इसी तरह हमने बेटियों को शिक्षा विभाग में 50 फीसदी आरक्षण देने की व्यवस्था की है। पंचायत चुनाव में 50 फीसदी आरक्षण हम पहले ही दे चुके हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने शिक्षा को बदहाल कर दिया था। शिक्षकों का कैडर बदलकर उन्हें गुरुजी बना डाला। सिर्फ 500 रुपए वेतन में वे भला बच्चों का क्या भविष्य बनाएंगे जिनका खुद का भविष्य सुरक्षित नहीं। उन्होंने कहा अब हमने 40000 से 50000 रुपए प्रतिमाह देने की व्यवस्था की है। कैडर भी बदल दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की जिंदगी बदलने के लिए उनके खातों में अलग-अलग योजनाओं के तहत 34 हजार करोड़ से अधिक की राशि डाली गई है। उन्होंने कहा कि अब हमने तय किया है प्रदेश में सोयाबीन 3400 रुपए क्विंटल से कम भाव पर नहीं बिकेगा।  हमें खेती को लाभ का धंधा बना ना है।

Leave a Reply