बच्चे बाहर जाकर पढ़ाई करें, कमरों का किराया देगा मामा : मुख्यमंत्री

Madhya Pradesh News

छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने की घोषणा
अम्बाड़ा में केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने भी सभा को संबोधित किया
जुन्नारदेव। बाहर रहकर पढ़ाई करने वाले बच्चों को दोतरफा परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्हें पढ़ाई का खर्च तो उठाना ही पड़ता है, जिन कमरों में वे रहते हैं, उनका किराया भी देना पड़ता है। हमने उन बच्चों की बातें सुनी

हैं। अब बाहर रहकर पढ़ने वाले भांजे.भांजियों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। उनके कमरों का किराया उनके माता.पिता को नहीं देना होगा। कमरों का किराया उनका मामा भरेगा। यह घोषणा शुक्रवार को जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव में आयोजित सभा में की। मुख्यमंत्री ने यहां 1.89 करोड़ रुपए से बनने वाले सरोवर का भूमिपूजन भी किया।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा शुक्रवार को छिंदवाड़ा जिले के ग्रामीण अंचल में पहुंची। यात्रा की शुरुआत जुन्नारदेव से हुई। मौसम खराब होने के कारण सड़क मार्ग से जुन्नारदेव पहुंचे मुख्यमंत्री का लोगों ने आत्मीय स्वागत किया। सभा स्थल तक के रास्ते में लोगों ने कई जगह रोककर मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने सभा को संबोधित किया। इस दौरान मंच पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, स्थानीय विधायक श्री नत्थन शाह एवं स्थानीय नेता उपस्थित थे।

हमने जूते-चप्पल पहनाए, कांग्रेस के पेट में मरोड़ हो गई

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत मुख्यमंत्री ने छात्र, छात्राओं की समस्याओं से की। उन्होंने कहा कि बाहर रहकर पढ़ने वाले भांजे, भांजियों ने उन्हें बताया था कि मामा, हम लोगों को कमरे का किराया देने में परेशानी होती है। इस समस्या का समाधान हो गया है और अब कमरों का किराया सरकार देगी। उन्होंने कांग्रेस को जमकर आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हमने तपती दोपहर में नंगे पैर तेंदूपत्ता बीनने वाली महिलाओं और पुरुषों जूते, चप्पल पहनाए, तो कांग्रेस के पेट में मरोड़ उठने लगी। कांग्रेसी कह रहे हैं ये मत पहनना, इनसे बीमारी फैल जाएगी। मुख्यमंत्री ने कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए कहा कि तुम लोग 50 सालों के अपने शासन में कभी नंगे पैरों में जूते, चप्पल नहीं पहना पाए, हम पहना रहे हैं, तो पेट में मरोड़ क्यों हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने तो कभी तेंदूपत्ता तोड़ने वालों को बोनस तक नहीं दिया। लेकिन अब हमने तय किया है गरीबों के घर में कोई परेशानी नहीं आएगी।

जुन्नारदेव में हर गरीब को मिलेगा पक्का मकान

सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जुन्नारदेव में एक भी गरीब को पक्के मकान से वंचित नहीं रखा जाएगा। जिन लोगों के पास जमीन नहीं है, उन्हें सरकार मुफ्त में पट्टे भी देगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं लोगों की जिंदगी बदलने के अभियान पर निकला हूं, इस काम में आप का समर्थन चाहिए। मुख्यमंत्री ने जब सभा में उपस्थित लोगों से पूछा कि क्या मुझे आपका समर्थन मिलेगा, तो सभा में मौजूद हजारों लोगों ने हाथ उठाकर उनका समर्थन किया। मुख्यमंत्री ने यहां मुख्यमंत्री सरोवर योजना के अंतर्गत 1.89 करोड़ की लागत से बनने वाले सरोवर का भूमिपूजन भी किया। इसका उपयोग सिंचाई के लिए किया जाएगा।

6 नई कोयला खदानें शुरू होंगी, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

जुन्नारदेव से परासिया जाते समय मुख्यमंत्री कुछ देर के लिए इकलैरा में रुके। यहां उन्होंने अपने रथ से ही सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था का आधार कोयला खदानें हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल से उनकी बात हुई है और केंद्र सरकार इस क्षेत्र में जल्दी ही 6 नई कोयला खदानें शुरू करने जा रही है। इन खदानों के शुरू होने से इस क्षेत्र के हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। सभा में उपस्थित लोगों ने तालियां बजाकर मुख्यमंत्री की इस घोषणा का स्वागत किया। वहीं, रथ में मौजूद केंद्रीय कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि मैं 2016 में यहां आया था, तब एक खदान शुरू हुई थी। इस बार 6 खदानें शुरू होंगी, लेकिन मैं पूरी बात परासिया में बताऊंगा।

फोन पर ही मांग लिया जनता से आशीर्वाद

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान को छिंदवाड़ा से हेलीकॉप्टर द्वारा बटकाखापा जाना था, लेकिन मौसम खराब होने के कारण उनका हेलीकॉप्टर बटकाखापा में नहीं उतर सका। इसके बाद मुख्यमंत्री जुन्नारदेव पहुंचे, लेकिन मौसम के कारण यहां भी हेलीकॉप्टर नहीं उतर सका। आखिरकार मुख्यमंत्री को वापस छिंदवाड़ा जाना पड़ा। मुख्यमंत्री ने बटकाखापा के लोगों को फोन पर ही संबोधित करते हुए कहा कि भले ही खराब मौसम ने मुझे आपके पास तक नहीं आने दिया, लेकिन मैं दिल से आपके साथ हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे प्रदेश के लोगों की जिंदगी बदलने के लिए आपका समर्थन और आशीर्वाद चाहिए। इस बार 200 पार का लक्ष्य भाजपा को पूरा करना है। मुख्यमंत्री ने फोन पर ही संबल योजना का जिक्र करते हुए कहा कि यह लोगों की जिंदगी बदलने का अभियान है और इसे कोई नहीं रोक सकता।

सभी सीटों पर कमल खिलाकर कमलनाथ को जवाब देना हैरू पीयूष गोयल

जिले के अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के अंबाड़ा में केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल भी मंच पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के साथ उपस्थित थे। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के असली नेता मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ही हैं। उन्होंने कहा कि कमलनाथ पर जनता का भरोसा नहीं है। श्री गोयल ने सभा में उपस्थित लोगों से कहा कि छिंदवाड़ा जिले की सभी सीटों पर इस बार भाजपा को जिताकर कमलनाथ को करारा जवाब देना है। इस दौरान मंच पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद श्री प्रभात झा, प्रदेश शासन के मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, चौधरी चन्द्रभान सिंह, श्री रमेश फोफली, महापौर श्रीमती कांता सदारंग, श्रीमती कांता ठाकुर एवं श्रीमती उर्मिला भारती उपस्थित थीं।

चौथी बार सीएम बनकर आएं हमारे मामाजी………

मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा जब जुन्नारदेव से परासिया के लिए रवाना हुई, तो रिमझिम बारिश हो रही थी। कभी रिमझिम तो कभी तेज बूंदाबांदी के बीच रथ पर सवार होकर मुख्यमंत्री आमजन का आशीर्वाद लेते हुए आगे बढ़ रहे थे। बारिश को देख मुख्यमंत्री ने जुन्नारदेव में कहा कि भगवान भोले बाबा की कृपा है, हम उनका स्वागत करते हैं। उन्होंने बारिश करके किसानों को खुश करने का काम किया है। रास्ते में स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान का जोरदार स्वागत किया। स्वागत स्थल पर बड़ी संख्या में मौजूद भांजे.भांजियों ने मामाजी.मामाजी के नारे लगाए। बच्चों का नारा था-मामाजी, मामाजी, मेरे प्यारे मामाजी. चैथी बार सीएम बनकर आएं हमारे मामाजी। नन्हें बच्चों की मीठी आवाज में इस स्नेहिल नारेबाजी ने माहौल को प्रफुल्लित कर दिया।

चाय अच्छी बनाई है, तुम्हारा नाम संबल योजना में लिखवाएंगे

रिमझिम बारिश के बीच इकलेरा में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने एक जगह रुककर चाय पी। चाय वाकई अच्छी थी। मुख्यमंत्री ने चाय खत्म करने वाले को आवाज देकर बुलाया। पहले उसका नाम पूछा और फिर कहा कि राजा तुमने चाय अच्छी बनाई है, तुम्हारा नाम संबल योजना में लिखा जाएगा। सरकार जो भी संभव होगी आर्थिक मदद करेगी। मुख्यमंत्री से अपनी तारीफ सुनकर राजा भाव विभोर हो गया।

(पत्रकार वार्ता)

गरीबों का हक रोकने कांग्रेस पहुंची कोर्ट में: मुख्यमंत्री

छिंदवाड़ा। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि इस धरती के संसाधनों पर गरीबों का भी हक है, उन्हें रोटी कपड़ा मकान चाहिए। हर गरीब के हक की दिशा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार काम कर रही हैं लेकिन कांग्रेस गरीबों का हक रोकने के लिए कोर्ट में पहुँच गयी। कांग्रेस के नेता नहीं चाहते कि गरीबों को प्रदेश के संसाधनों में हक मिले। गरीबों के कल्याण की योजनाओं को रोकना राजनीतिक परंपरा नहीं रही। इससे कांग्रेस का भला होने वाला नहीं है। मुख्यमंत्री आज यहां छिंदवाड़ा में प्रेस से बात कर रहे थे। जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान छिंदवाडा पहंुचे मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज छिंदवाडा सर्किट हाउस में लोकतंत्र सेनानियों को ताम्रपत्र भेंटकर उनका अभिनन्दन किया।

मुख्यमंत्री ने पत्रकार बंधुओ से चर्चा करते हुए कहा कि हमने गरीबों के उत्थान के लिए संबल योजना बनाई लेकिन कांग्रेस के लोगों को यह भी रास नहीं आ रहा है। इसीलिए कांग्रेसी नेता संबल योजना रोकने के लिए कोर्ट में पहुंच गए। कांग्रेसी नेता यह भी नहीं चाहते की गरीबों को 200 में प्रतिमाह बिजली मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबल योजना प्रदेश में निरंतर जारी रहेगी।

डंपर व्यापमं में कुछ नहीं मिला अब कमर के नीचे वार कर रहे हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने पहले डंपर घोटाला, फिर व्यापमं घोटाला को लेकर मेरे और मेरे परिवार पर अनर्गल आरोप लगाए। कांग्रेस के नेता प्रदेश के न्यायालयों से होकर सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचे लेकिन जब उन्हें तसल्ली नहीं हुई तो वे कमर के नीचे वार करने लगे। मेरी पत्नी को भी नहीं छोड़ा कहने लगे। गोंदिया के 13 लोग भर्ती किए गए लेकिन गोंदिया का ही नहीं महाराष्ट्र से भी एक भी व्यक्ति भर्ती नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने पूरी ईमानदारी से जांच कराई हार्ड डिस्क में कोई छेड़छाड़ नहीं हुई। मुख्यमंत्री ने कहा मैं किसान का बेटा-मुख्यमंत्री हूं यही बात कांग्रेस के बड़े घरानों को रास नहीं आ रही है।

एट्रोसिटी एक्ट का दुरुपयोग नहीं होने दूंगा

मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा यह देश ऐसा बगीचा है जिसमें अलग-अलग रंग के फूल खिले हुए हैं। हर फूल अपने स्वाभाविक आकार में खिले और सुगंध बिखेरे यह जरूरी है और सब का आदर और सब का सम्मान यह भारतीय जनता पार्टी की भी नीति है। मैं प्रदेश के अंदर अनुसूचित जाति जनजाति संरक्षण कानून का किसी भी निर्दोष व्यक्ति के खिलाफ दुरुपयोग नहीं होने दूंगा।

2003 का छिंदवाड़ा मॉडल बताएं कमलनाथ

छिंदवाड़ा मॉडल के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 2003 से पहले का छिंदवाड़ा मॉडल कहां था जरा उसका जिक्र करें। कमलनाथ को आज जो कुछ विकास दिखाई दे रहा है वह भाजपा की देन है, कांग्रेस की नहीं। उनके राज में बिजली कंपनी कमलनाथ जी के हिसाब से चलती थी, लेकिन प्रदेश में बिजली गायब रहती थी। मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस किस दिशा में राजनीति को ले जाना चाहती है ? मध्यप्रदेश शांति का टापू है। हमारे यहाँ वैचारिक मतभेद रहे लेकिन मन भेद कभी नहीं रहे। मैंने कभी किसी नेता के खिलाफ कुछ नहीं कहा। मैं विचारों की बात करता हूं। लोकतंत्र में विचारों के आधार पर बात होनी चाहिए।

हमारा मूल मंत्र सामाजिक समरसता

मुख्यमंत्री ने कहा हमारा मूल मंत्र सामाजिक समरसता है, सबका साथ सबका विकास है। हम किसी एक वर्ग को छोड़कर दूसरे वर्ग के विकास की बात नहीं करते। हम समग्र रूप से सभी वर्गों के विकास की बात करते हैं।

Leave a Reply