आप आशीर्वाद दीजिए, शिवाजी की तरह देश-समाज की सेवा करूंगा: मुख्यमंत्री

बालाघाट जिले में पहुंची जन आशीर्वाद यात्रा, गांव-गांव में हुआ अभूतपूर्व स्वागत
बालाघाट। शिवाजी महाराज ने अपना सारा जीवन समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के कल्याण को समर्पित कर दिया। अपना जीवन खतरे में डालकर भी शिवाजी महाराज उन्हीं के लिए संघर्ष करते हैं। शिवाजी महाराज को इसकी प्रेरणा उनकी मां जीजाबाई से मिली थी, मुझे इसकी प्रेरणा पं. दीनदयाल उपाध्याय के विचारों से संस्कारित भारतीय जनता पार्टी से मिली है, जो मेरी मां है। आप आशीर्वाद दीजिए, मैं भी शिवाजी महाराज की तरह प्रदेश के गरीबों, किसानों और अंतिम छोर पर खड़े व्यक्तियों की सेवा करूंगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने जिले के भानेगांव में शिवाजी प्रतिमा के समीप आयोजित जनसभा में की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की संबल योजना गरीबों की सेवा के लिए उठाया गया ऐसा ही कदम है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा बुधवार को बालाघाट जिले में पहुंची। यात्रा की शुरुआत मलाजखंड से हुई। मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से मलाजखंड पहुंचे। हेलीपेड से सभास्थल तक के रास्ते में स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री का उत्साहपूर्वक स्वागत किया। यहां से मुख्यमंत्री का काफिला सभास्थल प्रगति मैदान पहुंचा, जहां उन्होंने सभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री की सभा के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, सांसद श्री बोधसिंह, मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।

कांग्रेस को मौका देकर देख लिया, अब हमें आशीर्वाद दीजिए

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने मलाजखंड के प्रगति मैदान पर उपस्थित हजारों लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए कहा कि पिछली बार बैहर विधानसभा सीट कांग्रेस ने जीत ली थी। आपने कांग्रेस को मौका दिया, लेकिन कांग्रेस ने क्षेत्र के विकास के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि इस बार भारतीय जनता पार्टी को अपना आशीर्वाद दीजिए, हम काम करके दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि गरीबों को मुफ्त में पट्टा और 200 रुपए में महीने भर बिजली देकर हमने इसकी शुरुआत भी कर दी है। मुख्यमंत्री ने कहा हमने जिंदगी बदलने का अभियान चलाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी कहते हैं संबल योजना के लिए पैसा कहां से आएगा ? लेकिन हमने अफसरों को कह दिया है सरकारी खजाना खाली होता है तो हो जाए, पर हम लोगों की जिंदगी बदल कर रहेंगे।

आपने कांग्रेस को जिताया, लांजी विकास को तरस गया

लांजी में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि 2013 के चुनाव में आपने कांग्रेस को जिता दिया था, लेकिन हुआ क्या ? पिछले 5 सालों में लांजी क्षेत्र विकास के लिए तरस गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार भाजपा को जिता कर देखिए। उन्होंने कहा कि हमने आमजन के विकास के लिए, उनका जीवन बदलने के लिए संबल अभियान चलाया है। इसमें हमने गरीबों को ₹200 में महीने भर बिजली, जो लोग झोपड़ी में रहते हैं उन्हें 4 साल में पक्का मकान देने की योजना बनाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम प्रदेश में एक भी झोपड़ी नहीं रहने देंगे, यही हमारा प्रयास है। मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस ने अपने शासन में गरीबी हटाने के लिए सिर्फ नारे दिये, काम नहीं किया। इंदिरा जी से लेकर राजीव जी तक की सरकारें नारे देती रहीं, गरीबी नहीं हटा पाईं।

बच्चे मेरे प्राण हैं, उनके भविष्य की हमेशा चिंता करूंगा

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने भाने गांव सभा के दौरान कहा कि किसान भाइयों शिवराज सिंह चैहान आपको वचन देता है कि आपके पशुओं की और फसलों की पूरी चिंता की जाएगी, काम के बदले पूरा दाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने संबल योजना में 5 एकड़ तक के किसानों को शामिल किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों के भविष्य को बनाने के लिए शिवराज सिंह चैहान हर संभव प्रयास करेगा। बच्चों के भविष्य को बर्बाद नहीं होने दूंगा और उनके लिए सरकारी खजाने खोल दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश को बनाने के अभियान पर निकला हूं, इस काम में आप लोग मेरी मदद करें। मुख्यमंत्री ने स्थानीय युवाओं की मांग पर भानेगांव में मिनी स्टेडियम बनाने की घोषणा की। वहीं, किरनापुर में मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बारहवीं में 75 फीसदी अंक आने पर लैपटॉप मिलते थे, लेकिन मैंने अपने भांजे भांजियों की मांग पर अब 70 फीसदी अंक आने पर लैपटॉप देने की घोषणा कर दी है। उन्होंने बच्चों से कहा कि आप तो पढ़ते रहो, सरकार के खजाने आपके लिए खुले हैं। बच्चों ने तालियां बजाकर एवं मुख्यमंत्री जिंदाबाद के नारे लगाकर उनका समर्थन किया।

हर जगह हुआ मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत

बालाघाट जिले में जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री बुधवार को जहां भी गए, हर जगह उनका आत्मीय स्वागत किया गया। मलाजखंड में अभूतपूर्व स्वागत के बाद जब मुख्यमंत्री लांजी पहुंचे, तो सड़क के दोनों ओर खड़े लोगों ने उनका स्वागत किया। लांजी से बाहर निकलते समय भी पूरे रास्ते में लोगों ने मुख्यमंत्री पर फूल बरसाए। स्कूल की बच्चियां अपनी-अपनी साइकिलें लेकर काफिले के साथ चल रही थीं, तो कई बच्चे मामाजी-मामाजी लिखी तख्तियां लेकर खड़े थे। बोले गांव, भानेगांव, टेटुआ गांव, जहां भी मुख्यमंत्री पहुंचे, ग्रामीणों ने उनका आत्मीय स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *