अल्पसंख्यकों के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पांच शैक्षिक संस्थान खुलेंगे- सनब्बर पटैल

Latest

18/06/2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी, अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री सनब्बर पटैल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी ने ‘सबका साथ-सबका विकास’ मूलमंत्र यथार्थ में बदला है। पिछले तीन वर्षों में सरकार के अजेंडा में अन्य वर्गों के ही साथ अल्पसंख्यकों के लिए एजुकेशन, इंप्लायमेंट और एम्पायरमेन्ट की दिशा में प्रचुर सुविधाएं मुहैय्या कराई गई। तहरीक ए तालीम अभियान दिल्ली से आरंभ हुआ है। इसका देश के सभी राज्यों में विस्तार किया जा रहा है। हुनर के उस्ताद, शिल्पकारों और दस्तकारों को बाजार मुहैय्या कराया जा रहा है। इसके लिए हुनर ए हाट का आयोजन किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक बहुल बस्तियों में 100 गुरूकुल नवोदय जैसे विद्यालय खोले जा रहे हैं। लोगांे की ख्वाहिश के मुताबिक पानी के जहाज से भी हज यात्रा का बंदोबस्त किये जाने पर सरकार विचार कर रही है। उन्होंने बताया कि अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए नई रोशनी के तहत 2 लाख महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया है।
केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक कल्याण का बजट बढ़ाकर 4195 करोड़ रू. कर दिया है। अल्पसंख्यक युवकों को इल्म, हुनर और तालीम के क्षेत्र में बढ़ावा दिया जा रहा है। मुद्रा बैंक योजना, स्टेंड अप इंडिया, स्टार्टआप, मेक इन इंडिया जैसी योजनाओं से महिला और पुरूष दोनों का सभी वर्गों का सशक्तिकरण हुआ है। मुद्रा बैंक योजना के तहत 7 करोड़ 45 लाख उद्यमियों को 3 लाख करोड़ रू. का कर्ज बिना किसी गारन्टी के दिया गया है। लाभार्थियों में 70 प्रतिशत से अधिक महिलाएं हैं। जो कमी रोजगार के लिए दूसरों के सामने हाथ पसारते थे, वे दूसरों को रोजगार देने के लिए सक्षम बन चुके हैं।

Leave a Reply