पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पंचतत्व में विलीन |

पूर्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता सुषमा स्वराज बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं | लोधी रोड स्थित विद्युत शवदाहगृह में राजकीय सम्मानपूर्वक उनका अंतिम संस्कार किया | अंतिम संस्कार की रस्मे उनकी पुत्री बांसुरी ने निभाई | इस दौरान उनके पति स्वराज कौशल और बेटी ने उन्हें सेल्यूट भी किया | अंतिम संस्कार के(sushma swaraj)(sushma swaraj death)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण अडवाणी , उप राष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू की आँखों में आंसू थे |

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद , उप राष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू , लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला,प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ,सोनिया गाँधी,मुलायम सिंह यादव , राहुल गाँधी , गुलाब नबी आज़ाद अरविन्द केजरीवाल ने बुधवार सुबह जंतर – मंतर स्थित घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की | भारतीय राजनीति की असाधारण नेता व सौम्य व सहज व्यक्तित्व की धनी सुषमा स्वराज की लाल बिंदी और लाल चुनरी में सजी उनकी पार्थिव देह  का जिसने भी अंतिम दर्शन किये उसकी आँखे नम हो गईं |

राजनाथ सिंह और शिवराजसिंह ने कन्धा दिया
बीजेपी मुख्यालय से फूलों से सजे वहां में उनकी अंतिम यात्रा प्रारम्भ हुई | यहाँ राजनाथ सिंह , रविशंकर प्रसाद , जेपी नड्ढा,शिवराजसिंह चौहान ने अर्थी को कन्धा दिया |

लालकृष्ण आडवाणी आडवाणी को नरेंद्र मोदी – राजनाथ सिंह ने हाथ थामकर संभाला |
लालकृष्ण आडवाणी अंतिम संस्कार के बाद श्रद्धांजलि देकर जाने लगे तो भावुक हो गए | उनके कदम ठीक से चल नहीं पा रहे थे | तभी प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका हाथ थामकर उनको सहारा दिया | बाद में राजनाथ सिंह ने भी आडवाणी के हाथ पकड़कर सहारा दिया |

अंतिम संस्कार में वह तमाम लोग बह पहुँचे जिनकी सुषमा स्वराज ने मदद की थी | दिल्ली और हरियाणा की सरकार ने सुषमा स्वराज के निधन पर दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया | उनका इस तरह असमय जाना विरोधी दलों के नेताओ को भी रुला गया |

वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे से १० मिनिट पहले ही कहा था- ले जाओ जाधव केस की एक रुपया फीस
अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में कुलभूषण जाधव मामले की पैरवी करने वाले देश के जाने माने वकील हरीश साल्वे मंगलवार की रात पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की असमय मौत से दुखी है | उन्होंने बुधवार को कहा , ‘ मेरे लिए सुषमा स्वराज बड़ी बहन जैसी थी ‘ मगलवार रात ८.४५ पर बजे ही उनसे बात हुई थी उन्होंने मुझसे कहा था -आप आओ और कुलभूषण जाधव मामले की अपनी फीस (एक रुपया) ले जाओ | इसके १० मिनिट बाद ही उन्हें दिल का दौरा पड़ गया |

सुषमा स्वराज की लाड़ली गीता स्तब्ध है |
पूर्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता सुषमा स्वराज की निधन की खबर सुनकर पाकिस्तान से भारत आई उनकी लाड़ली गीता स्तब्ध है | उसकी आँखों से आंसू रुक नहीं रहे | वह इशारे में बता रही है वह मेरी माँ थी | हर बात का ध्यान रखती थी | हमेशा कहती थी , अच्छे से रहो , अच्छे कपडे पहनो , खूब पढ़ाई करो , गीता को दुःख है की वह उनसे अंतिम क्षणों में नहीं मिल पाई |(sushma swaraj)(sushma swaraj death)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)

Madhyapradesh News

दूरदर्शी एवं सामाजिक सरोकार से जुड़ी राजनेता थी श्रीमती स्वराज — गोपाल भार्गव
भोपाल। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने भाजपा की वरिष्ठ नेत्री एवं पूर्व विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि आदरणीय सुषमा दीदी के निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। वे दूरदर्शी एवं सामाजिक सरोकार से जुड़ी राजनेता थी । नेता प्रतिपक्ष ने शोक संदेश में कहा कि श्रीमती सुषमा स्वराज एक विजनरी राजनेता थी। उनके काम मे विजन देखने को मिलता था। उन्होंने सफल विदेश मंत्री के रूप में अपनी भूमिका निभाई। उन्होंने अपने स्वास्थ्य की चिंता किये बगैर लगातार जनता की सेवा की। मध्यप्रदेश से उनका दिल से रिश्ता रहा। उन्होंने मध्यप्रदेश को कई सौगातें दी ।
भार्गव ने कहा कि सरल और सहज श्रीमती सुषमा दीदी का निधन न सिर्फ भाजपा परिवार बल्कि राष्ट्र के लिए एक अपूरणीय क्षति है। परम पिता परमेश्वर उन्हें अपने श्री चरणों मे स्थान दे और उनके परिवार पर हुए वज्रपात को सहन करने की परिजनों को ताकत दे। ॐ शांति
(sushma swaraj)(sushma swaraj death)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)
==================
courtesy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *