भाजपा में आपका स्वागत है, आओ मिलकर नया भारत बनाएं : शिवराजसिंह चौहान

पूर्व मुख्यमंत्री ने किया आह्वान- परिश्रम की पराकाष्ठा कर प्रदेश को भाजपामय कर दो
भोपाल। जिन बेटे-बेटियों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है, मैं उनका स्वागत करता हूं। मैं आपसे आव्हान करता हूं कि आओ मिलकर नया भारत बनाएं। युवा मोर्चा ने एक दिन में 5.50 लाख सदस्य बनाने का जो लक्ष्य तय किया है, उसे हासिल करके दिखा दो, क्योंकि युवा मोर्चा जो कहता है, उसे पूरा करता है। परिश्रम की पराकाष्ठा कर पूरे(bjp)(bjp yuva morcha)(shivrajsingh chouhan)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)(abhilash pandey) मध्यप्रदेश को भाजपामय कर दो। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं पार्टी के उपाध्यक्ष तथा सदस्यता अभियान के प्रभारी  शिवराजसिंह चौहान ने सोमवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में युवा मोर्चा के नए सदस्यों को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर उन्होंने युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पाण्डे के साथ प्रदेश कार्यालय परिसर में पौधरोपण किया तथा वरिष्ठ नेता  कैलाश जोशी के पैर भी धोए। कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष  विकास विरानी, प्रदेश महामंत्रीद्वय  केपी झाला एवं  प्रदीप नायर मंचासीन थे।

देश बनाने की राजनीति करती है भाजपा

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के अलावा जितनी भी पार्टियां है, उनका लक्ष्य सिर्फ सरकार बनाना होता है। जितने भी क्षेत्रीय दल हैं, वे राजनीति में सिर्फ इसलिए हैं कि उन्हें सत्ता प्राप्त करनी होती है। ये सत्ता प्राप्त करने के लिए किसी भी सीमा तक जा सकते हैं। इनका कोई विचार नहीं, कोई राजनैतिक सोच नहीं, देश के कल्याण का कोई मार्ग नहीं। लेकिन भाजपा इन सबसे अलग हटकर देश बनाने के लिए राजनीति करती है। हमारा लक्ष्य एक समृद्धशाली, गौरवशाली, वैभवशाली, संपन्न और शक्तिशाली भारत बनाना है। ऐसा भारत, जिसका कोई भी नागरिक सीना तानकर कह सके कि मैं भारत का नागरिक हूं।

हमारे नेताओं ने देश बनाने अपनी जिंदगी होम कर दी

श्री चौहान ने कहा कि आज चारों तरफ सिर्फ भाजपा ही दिखाई देती है। एक समय था जब पूरे देश में कांग्रेस के पं. जवाहरलाल नेहरू छाए हुए थे। कांग्रेस के अलावा किसी अन्य पार्टी के बारे में कोई सोचता तक नहीं था। देश की कोई विचारधारा नहीं थी। नेहरू जी पश्चिम से बहुत प्रभावित थे। विदेशी विचारधारा से प्रभावित कांग्रेस देश को गलत दिशा में ले गयी। कम्युनिस्टों की ऊर्जा के स्त्रोत चीन और रूस हुआ करते थे। पार्टियां आपसी मतभेदों की वजह से टूटती थीं और फिर एक हो जाती थीं। ऐसे समय में डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पं. दीनदयाल ने विचार किया कि हमारे पास जीवन दर्शन नहीं है, जीवन मूल्य नहीं है, जिनके आधार पर हम देश और समाज की रचना कर सकें। तब भारतीय जनसंघ की शुरूआत हुई। जनसंघ के कार्यकर्ताओं पर कई आरोप लगाए जाते थे। जनसंघ के कार्यकर्ताओं ने रात दिन मेहनत करके संगठन को आगे बढ़ाया। पं. दीनदयाल उपाध्याय, डॉ. श्यामप्रसाद मुखर्जी, कुशाभाऊ ठाकरे, सुंदरसिंह भंडारी, नानाजी देशमुख, राजमाता विजयाराजे सिंधिया, प्यारेलाल खण्डेलवाल, नारायणप्रसाद गुप्ता, सुंदरलाल पटवा, कैलाश जोशी जैसे नेताओं ने देश और संगठन के लिए पूरी जिन्दगी होम कर दी।


कांग्रेस अपने पापों से मर रही है

श्री चौहान ने कहा कि देश के अन्य दलों में भले ही नेतृत्व की कमी रही हो, लेकिन भाजपा को भगवान का वरदान प्राप्त है। जनसंघ की स्थापना के बाद डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पं. दीनदयाल उपाध्याय की जोड़ी ने संगठन को आगे बढ़ाया। फिर अटलजी- आडवाणी जी की जोड़ी ने उनके काम को आगे बढ़ाया। अब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और श्री अमित शाह जी उसी काम को आगे बढ़ा रहे हैं। कांग्रेस में जब डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, उनकी डोर किसी और के हाथ में थी। कांग्रेस शुरू से एक खानदान की गुलाम रही है। उसमें स्वतंत्र नेतृत्व कभी पनपने ही नहीं दिया गया। पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हाराव के अंतिम संस्कार में कोई कांग्रेसी नहीं गया, सिर्फ एक खानदान के डर से। आज कांग्रेस अपने पापों से मर रही है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने कहा था आजादी मिल गयी, अब कांग्रेस का समापन कर देना चाहिए। लेकितन सत्ता के लालच में पं. नेहरू ने कांग्रेस को राजनैतिक दल बना दिया।

कांग्रेस ने किया देश को बर्बाद

चौहान ने कहा कि पं. नेहरू के कारण आज आधे से ज्यादा कश्मीर हमारे पास नहीं है। श्रीमती इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाकर लोकतंत्र का गला घोंट दिया। राजीव गांधी के समय में शाहबानो प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम माताओं-बहनों के पक्ष में फैसला दिया, लेकिन कांग्रेस ने संविधान में संशोधन करके फैसला उलट दिया और माताओं-बहनों के अधिकारों को कुचल दिया। डॉ. मनमोहनसिंह के समय कांग्रेस ने ऐसा भ्रष्टाचार किया कि दुनिया हम पर हंसने लगी। उन्होंने कहा कि देश को बर्बाद करने का पाप कांग्रेस ने किया है और इस अपराध के लिए कांग्रेस को कभी क्षमा नहीं किया जा सकता।

देश में अब नहीं चलेगी वंशवाद की राजनीति

श्री चौहान ने कहा कि वंशवाद, परिवारवाद, जातिवाद के चलते कांग्रेस लोकसभा चुनाव में सिमट गई। उत्तरप्रदेश में बुआ-बबुआ डूब गए। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी कांग्रेस और कम्युनिस्टों को एकत्रित कर रही हैं। चन्द्रबाबू नायडू चौबे जी की तरह छब्बेजी बनने चले थे, दुबे जी बनकर रह गए। लोकसभा चुनाव में जनता ने बता दिया है कि देश में वंशवाद की राजनीति नहीं चलेगी। भाजपा में अटलजी, आडवाणी जी, नरेन्द्र मोदी, अमित शाह, जेपी नड्डा जैसे नेता हैं, जिनके परिवार को कोई नहीं जानता। यहां एक साधारण चाय वाला भी भारत का प्रधानमंत्री बन सकता है।

देश के निर्माण के लिए है भाजपा

श्री चौहान ने कहा कि भाजपा देश के पुर्ननिर्माण के लिए है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी विकास के आंदोलन हैं, भारत के लिए भगवान का वरदान हैं। आज अमेरिका, चीन के बाद भारत भी चन्द्रयान भेज रहा है। आज भारत दुनिया की छठवीं अर्थव्यवस्था है। जल्दी ही हम तीसरी अर्थव्यवस्था बनेंगे। भारत के प्रधानमंत्री जिस देश में जाते हैं, मोदी-मोदी के नारों से गुंजायमान हो जाता है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर जनता ने स्वच्छ भारत अभियान को अपनाया। लाखों लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी।

युवा वर्ग का समर्थन भाजपा को प्राप्त

युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री अभिलाष पाण्डे ने कहा कि लोकसभा चुनाव में बडी संख्या में युवा वर्ग ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का समर्थन किया। युवा मोर्चा सदस्यता अभियान के माध्यम से ऐसे विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले युवाओं को पार्टी का सदस्य बना रहा है। युवा मोर्चा मध्यप्रदेश में पिछली बार भी लक्ष्य से बढ़कर सदस्य बनाए थे, इस बार भी पुरजोर तरीके से मंडल स्तर तक प्राणपण के साथ जुटकर लक्ष्य की पूर्ति करेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा से युवा जुडे इसके लिए युवा मोर्चा सदस्यता अभियान में अपनी सार्थक भूमिका निभायेगा।(bjp)(bjp yuva morcha)(shivrajsingh chouhan)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)(abhilash pandey)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *