• Mon. Dec 11th, 2023

इंटर्नशिप का कार्य ज्ञान, भक्ति और कर्म का त्रिवेणी संगम : मुख्यमंत्री चौहान
#madhyapradeshnewsdiary,#shivrajsinghchouhan,#mpcm,#mpnews,#madhyapradeshnews,#todayindia,#todayindia24,#todayindialive,smartschool,smartclass,smarteducation,mukhyamantriyouuthinternshipprogrammeसीएम इंटर्न्स बूटकैंप, मुख्यमंत्री यूथ इंटर्नशिप प्रोगाम का शुभारम्भ
इंटर्न को नियुक्ति-पत्र किये वितरित
एग्पा ने 8 विभिन्न संस्थाओं के साथ किया एमओयू

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंटर्नशिप का कार्य ज्ञान, भक्ति और कर्म का त्रिवेणी संगम है। इससे जुड़ कर युवा अपनी जिंदगी का एक नया अध्याय प्रारंभ कर रहे हैं। प्रदेश की प्रगति और विकास के लिए आपकी यह इंटर्नशिप मील का पत्थर साबित होगी। यह दुनिया का सबसे बड़ा इंटर्नशिप प्रोग्राम है। दुनिया के लोग इससे जुड़ गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान पुलिस ग्राउण्ड, नेहरू नगर में सीएम इंटर्न्स बूटकैंप, मुख्यमंत्री यूथ इंटर्नशिप प्रोग्राम (मुख्यमंत्री जन सेवा मित्र) के शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान द्वारा किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री यूथ इंटर्नशिप प्रोगाम में चयनित युवाओं को नियुक्ति-पत्र वितरित किए। कार्यक्रम में एग्पा ने विभिन्न 8 संस्थाओं के साथ एमओयू किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बन गए हैं। उनके नेतृत्व में देश विकास के नए सोपान गढ़ रहा है। अनेक योजनाएँ प्रधानमंत्री जी चला रहे हैं। अद्भुत कार्य कर रहे हैं। आज भारत नजरें झुका कर नहीं आँखें मिला कर दुनिया से बात करता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह सब उनके आत्म-विश्वास और कठिन परिश्रम से संभव हो रहा है। सभी युवाओं को भी अपने आप पर भरोसा रख कर कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि दो तरह के लोग होते हैं, एक हताश और दूसरे असंभव को संभव करने वाले। युवा अपने ऊपर निराशा हावी न होने दें, पूरे आत्म-विश्वास के साथ कार्य करें। शासन की योजनाओं और विकास कार्यों का लाभ जनता तक पहुँचाने के लिए मैदान में डट कर कार्य करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवाओं से कहा कि हम प्रदेश में गरीब कल्याण की योजनाओं की मॉनिटरिंग आपको देंगे। योजनाओं के क्रियान्वय में गैप नहीं हो। इसके लिए सभी सहयोग करें। मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना, राशन आपके ग्राम, आयुष्मान भारत जैसी अनेक योजनाएँ प्रदेश में चल रही हैं। योजनाओं के मैदानी क्रियान्वयन को ठीक से देखें, इनके लाभ से कोई वंचित न रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पहले प्रदेश में सड़कों की हालत खराब थी। पता ही नहीं चलता था कि गड्डों में सड़क है या सड़क में गड्डे हैं। अब शानदार सड़कों का जाल बिछ गया है। सिंचाई की क्षमता साढ़े 7 लाख हेक्टेयर से बढ़ कर 45 लाख हेक्टेयर तक पहुँच गई है। बिजली में हम सरप्लस स्टेट हैं। प्रदेश में बिजली की क्षमता 2900 मेगावाट से बढ़ कर 26 हजार मेगावाट हो गई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवाओं से पूछा कि तुम कौन हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वयं उत्तर देते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद के बताए मार्ग पर मैं चलने का प्रयास कर रहा हूँ। स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि तुम केवल साढ़े तीन हाथ के हाड़-मांस के पुतले ही नहीं, तुम अनंत शक्तियों के भण्डार हो। दुनिया में कोई भी कार्य ऐसा नहीं जो तुम न कर सको। जरुरत है आत्म-विश्वास की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवाओं से कहा कि लक्ष्य निर्धारित कर रोडमेप बनाएँ और उस पर ईमानदारी से चलें। अपने आपको आत्म-विश्वास से भर लो। इंटर्नशिप का कार्य साधारण तरीके से न लें। हर इंटर्न्स को 3-4 पंचायतें आवंटित की जाएंगी जिन्हें बदल कर दिखा दो। कलेक्टर को फील्ड में जो ट्रेनिंग दी जाती है, वही ट्रेनिंग आपको दी जा रही है। इससे आपके व्यक्तित्व का विकास होगा और आत्म-विश्वास बढ़ेगा। सबको समान मान कर कार्य करें। कभी घमंड न करें, विनम्रता के साथ क्षेत्र में जाएं। प्रदेश के विकास में बदलाव लाना है, इसमें जो बाधाएँ आएँ, उनका धैर्य पूर्वक सामना करें। आप युवा हैं बड़ा काम वही कर सकता है जो धैर्य रखकर रास्ता निकालने की कोशिश करे। उत्साह और उमंग हो, कभी निराश नहीं हों। सफलता नहीं मिले तो फिर से कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सफल होने के लिए अपने आप को नई परिस्थिति में ढालना पड़ेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में पहले 1 हजार बेटों पर 912 बेटियाँ पैदा हो रही थीं। अब यह अनुपात 956 हो गया है। प्रदेश में महिला- पुरूष का कुल अनुपात 976 हो गया है। बेटा-बेटी में भेद न हो इसके लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना और मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना बनाई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इंटर्नशिप मध्यप्रदेश को गुड गवर्नेंस देगी। सरकार के कार्यों में सहयोग मिलेगा। यह अपने टेलेंट को दिखाने और सीखने का मौका है। ढंग से ट्रेनिंग लें, जो भावी जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण सिद्ध होगी। हम अपने ज्ञान और स्किल के बल पर दुनिया पर राज कर सकते हैं। एक लाख 14 हजार पदों पर सरकारी भर्तियां चल रही हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान के उपाध्यक्ष प्रो. सचिन चतुर्वेदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन संस्थान में इंटर्नशिप कार्यक्रम शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कई कार्यक्रम लागू किए हैं। विकास का लाभ सभी हितग्राहियों को पहुँचाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी युवाओं के पास है। युवा इंटर्न्स ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार माना और अपने जीवन के अनुभव भी साझा किए।

कार्यक्रम में 4 हजार 600 से ज्यादा इंटर्न्स शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम स्थल पर ग्राउंड में फैला कचरा उठाकर स्वच्छता का संदेश दिया।

8 एमओयू हुए

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में ‘मुख्यमंत्री यूथ इन्टर्नशिप प्रोग्राम’ के लिये 8 संगठनों के साथ एग्पा ने एमओयू किया है। एग्पा ने सीनियर वाइस प्रेसीडेन्ट एण्ड हेड गवर्नमेंट बिजनेस एण्ड कंट्री हेड सार्क वेल्यू फर्स्ट डॉ. सौमेन्द्र मोहन्ती, डायरेक्टर पीरामल फाउंडेशन सुश्री संगीता ममगेन, सीईओ मुनिवर्सिटी श्री तेजस जैन, फाउंडर मुस्कान ड्रीम्स श्री अभिषेक दुबे, को-फाउंडर चाय-सुट्टा बार श्री अनुभव दुबे, को-फाउंडर स्टार वर्क्स प्राइम डिजिटल सॉल्यूशन्स श्री देवराज होडल, टेक को-फाउंडर कॉम्प इंजीनियर सुपर सोर्सिंग श्री मयंक प्रताप सिंह और एमडी एण्ड सीईओ इन्स्टा प्रिंट्ज श्री प्रतीक संचेती के साथ एमओयू किया है।
=======================================
इंटर्नशिप का कार्य ज्ञान, भक्ति और कर्म का त्रिवेणी संगम : मुख्यमंत्री चौहान
#madhyapradeshnewsdiary,#shivrajsinghchouhan,#mpcm,#mpnews,#madhyapradeshnews,#todayindia,#todayindia24,#todayindialive,smartschool,smartclass,smarteducation,mukhyamantriyouuthinternshipprogramme

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published.