• Tue. Aug 9th, 2022

(madhyapradeshnewsdiary) विद्यार्थियों का पर्यावरण प्रेम प्रशंसनीय: मुख्यमंत्री चौहान
madhyapradeshnewsdiary,todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews,madhavraoraosapre,madhavraosaprejayantiस्मार्ट उद्यान में पीपल,करंज और कदम के पौधे रोपे गए
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट उद्यान में पीपल, करंज और कदम के पौधे रोपे। मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के विद्यार्थियों ने भी पौध-रोपण किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान को विद्यार्थियों ने बताया कि उनके द्वारा पौधे भेंट करने के लिए नारियल के खाली खोल का उपयोग किया जा रहा है। इससे पॉलिथिन के उपयोग के बिना पौधे को रोपने के पहले तक संरक्षित रखा जा सकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यार्थियों की जागरूकता और पर्यावरण प्रेम की प्रशंसा की। विद्यार्थियों में सुश्री नूपुर, श्री टी. देवाशीष, सुश्री मेघा, श्री हर्ष, श्री प्रदीप कुशवाहा और श्री दिलीप शामिल हैं। विद्यार्थियों द्वारा रक्तदान, बाल-संरक्षण जागरूकता और वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम में भी भागीदारी की जा रही है।

स्मार्ट उद्यान में रोपा गया पीपल पर्यावरण शुद्ध करने वाला पौधा माना गया है। यह छायादार वृक्ष के रूप में भी जाना जाता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व भी है।। करंज का उपयोग धार्मिक कार्यों में भी किया जाता है। भारत में हर जगह कदंब का वृक्ष पाया जाता है। यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है।
=====================================================
मुख्यमंत्री चौहान ने श्री माधव राव सप्रे की जयंती पर किया नमन
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रभाषा हिन्दी के उन्नायक, प्रखर चिंतक, मनीषी संपादक, पत्रकार, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और सार्वजनिक कार्यों के लिए समर्पित स्व. श्री माधव राव सप्रे की जयंती पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास कार्यालय स्थित सभागार में श्री सप्रे के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। श्री सप्रे का जन्म 19 जून 1871 को दमोह जिले के पथरिया ग्राम में हुआ था।

श्री माधवराव सप्रे का कृतित्व बहु आयामी था। उनका योगदान असाधारण और कालजयी है। उन्होंने कई अंग्रेजी शब्दों के लिए हिन्दी के शब्द गढ़े। वर्ष 1905 में उनके “हिन्दी विज्ञान कोश” का प्रकाशन हुआ था। वैचारिक सामाजिक क्रांति की अलख जागने का काम श्री सप्रे ने किया। श्री सप्रे का 23 अप्रैल 1926 को निधन हुआ। उनको समर्पित माधव राव सप्रे स्मृति समाचार-पत्र संग्रहालय भोपाल में संचालित है।
========================================================
विद्यार्थियों का पर्यावरण प्रेम प्रशंसनीय: मुख्यमंत्री चौहान
madhyapradeshnewsdiary,todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published.