• Sun. Jun 26th, 2022

(madhyapradesh news diary) पेयजल की प्रतिदिन आपूर्ति करें सुनिश्चित – मुख्यमंत्री चौहान

(madhyapradesh news diary) पेयजल की प्रतिदिन आपूर्ति करें सुनिश्चित – मुख्यमंत्री चौहान
todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnewsमुख्यमंत्री श्री चौहान ने की बड़वानी में क्रियान्वित “पहुँच अभियान” और “मिशन उम्मीद” की सराहना
“पहुँच अभियान” और “मिशन उम्मीद” का सभी जिलों में हो प्रभावी क्रियान्वयन
पोषण स्तर में सुधार सरकार के साथ समाज की भी जिम्मेदारी
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना का अनाज एक साथ किया जाए वितरित
आवास योजनाओं के लिए जिला स्तर पर एक साथ क्रय करें निर्माण सामग्री
हितग्राहियों को कम मूल्य पर सामग्री उपलब्ध कराने करें नवाचार
पंचायत सचिव और रोजगार सहायकों को बेहतर कार्य के लिए प्रोत्साहित करना आवश्यक
“एक जिला-एक उत्पाद” में राजगढ़ में संतरा और बड़वानी में अदरक को किया जाए प्रोत्साहित
अवैध कब्जे वाली भूमि गुंडों से छीन कर गरीबों में बाँटी जाएगी
समाज को एकरस रखना, शांति और सामाजिक समरसता बनाए रखना सर्वोच्च प्राथमिकता
पेसा एक्ट और सामुदायिक वन प्रबंधन का अभियान जनजातीय समाज के कल्याण और उत्थान में होगा सहायक
मुख्यमंत्री चौहान ने प्रात 6:30 बजे की राजगढ़ और बड़वानी जिले की समीक्षा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनता को प्रतिदिन पीने का पानी मिले, यह सुनिश्चित करना आवश्यक है। पानी की आपूर्ति नल, टैंकर, ट्यूबवेल से हो या फिर परिवहन करना पड़े, जो भी व्यवस्था आवश्यक है, वह करें और प्रतिदिन पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रातः 6:30 बजे निवास कार्यालय से राजगढ़ और बड़वानी जिले की वर्चुअली समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिये। बड़वानी जिले के प्रभारी एवं पशुपालन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, राजगढ़ जिले के प्रभारी एवं उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, कलेक्टर राजगढ़ श्री हर्ष दीक्षित और कलेक्टर बड़वानी श्री शिवराज सिंह वर्मा तथा जिले के अधिकारी बैठक में वर्चुअली शामिल हुए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बड़वानी में गर्भवती महिलाओं को संस्थागत प्रसव के लिए स्वास्थ्य केंद्र तक लाने वाले व्यक्तियों को प्रोत्साहित करने शुरू किए गए “मिशन उम्मीद”, ग्रामीणों के समस्त आवश्यक दस्तावेज पूर्ण कराने “पहुँच अभियान” और अंकुर अभियान में वृक्षा-रोपण के लिए संचालित गतिविधियों की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि “मिशन उम्मीद” और “पहुँच अभियान” का क्रियान्वयन अन्य जिलों में भी प्रभावी रूप से किया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आकांक्षी जिलों में सभी 6 सूचकांक की स्थिति सुधार के लिए विशेष गतिविधियाँ प्राथमिकता से चलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी और स्वास्थ्य केंद्रों में मूलभूत सुविधाएँ बढ़ाने के साथ, कुपोषण दूर करने जन-भागीदारी को शामिल कर जन-जागरूकता अभियान संचालित किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अधिकारी-कर्मचारी, जन-प्रतिनिधि और समाज के लोगों को साथ लेकर अभियान चलाने की आवश्यकता है। हमें यह भाव विकसित करना होगा कि बच्चों के पोषण स्तर में सुधार, सरकार के साथ समाज की जिम्मेदारी भी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी के बच्चों के लिए सामग्री एकत्र करने के उद्देश्य से 24 मई को भोपाल में वे स्वयं निकलेंगे। जिलों में जन-प्रतिनिधि भी आगे आये। इस प्रकार के अभियान से आँगनवाड़ियों के संचालन में सकारात्मक प्रभाव होगा। todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राशन वितरण की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना का अनाज हितग्राहियों को एक साथ वितरित किया जाए। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में नियमों में आवश्यक संशोधन के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीब का राशन कोई और खा जाए, यह सहन नहीं किया जाएगा। राशन वितरण में अनियमितता पाए जाने पर संबंधित अधिकारी-कर्मचारी की सेवाएँ समाप्त की जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में जिन हितग्राहियों के आवास स्वीकृत हुए हैं, उन्हें सही मूल्य पर निर्माण सामग्री उपलब्ध कराने के लिए जिला स्तर पर व्यवस्था स्थापित की जाए। सीमेंट-लोहा जैसी सामग्री एक साथ क्रय कर, हितग्राहियों को तुलनात्मक रूप से कम कीमत पर सामग्री उपलब्ध कराई जा सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों को आवास आवंटित किया गया है, उनकी सूची पंचायतों में लगाये। साथ ही सभी आवंटितों को आवास आवंटन के संबंध में स्वीकृति की जानकारी उनकी ओर से चिट्ठी के माध्यम से देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आवास योजना में जिन हितग्राहियों को आवंटन और पहली किस्त जारी हो गई है, उनकी प्रतिक्रियाएँ सोशल मीडिया पर लाने के लिए व्यवस्था स्थापित की जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पंचायत सचिव और रोजगार सहायकों को बेहतर कार्य के लिए प्रोत्साहित करना आवश्यक है। मैदानी अमले में यह भाव विकसित करना होगा कि वे गरीब का मकान बनवाने में मदद कर पुण्य का कार्य कर रहे हैं। हमारा उद्देश्य है कि प्रधानमंत्री आवास, आवास प्लस आदि योजनाओं में बनने वाले आवास गुणवत्तापूर्ण हों और हितग्राहियों के आवासों का निर्माण बिना कठिनाई के पूर्ण हो।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आजादी के अमृत काल में बन रहे अमृत सरोवरों को आदर्श रूप में विकसित किया जाए। उनके सौंदर्यीकरण, वृक्षा-रोपण और जल-संचयन प्रणाली को विकसित करने पर विशेष ध्यान दें। प्रधानमंत्री श्री मोदी की अद्भुत कल्पना के परिणाम स्वरूप निर्मित हो रहे अमृत सरोवरों के नजदीक 15 अगस्त और 26 जनवरी जैसे अवसरों पर झंडा वंदन का कार्यक्रम किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमृत सरोवर के विकास में जन-प्रतिनिधियों का सहयोग लेने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मियों से संवाद स्थापित कर उनकी आगे की पढ़ाई के लिये मार्गदर्शन उपलब्ध कराने तथा केरियर काउंसलिंग देने की व्यवस्था को स्थापित करना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने “एक जिला-एक उत्पाद” में राजगढ़ जिले में संतरा और बड़वानी में अदरक की बेहतर मार्केटिंग, ब्रांडिंग और किसानों को सही दाम दिलाने आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व-सहायता समूह की गतिविधियों को प्रोत्साहित करने जिले की आवश्यकता और मांग के अनुसार कार्य-योजना बनाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता बताई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अपराधियों और माफियाओं के विरुद्ध कठोर कार्यवाही आवश्यक है। गुंडों से मुक्त भूमि गरीबों को उपलब्ध कराई जाएगी। अवैध कब्जे वाली भूमि गुंडों से छीनेंगे और गरीबों में बाँटेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह भी ध्यान रखना आवश्यक है कि अतिक्रमण हटाने में गरीब प्रभावित न हों। गरीबों के जीवन-यापन का ध्यान रखते हुए उनके पुनर्वास की पुख्ता व्यवस्था की जाए। todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सद्भावना बनाए रखना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। समाज में खाई पैदा करने वाले, विभिन्न धर्मों, जातियों, समुदायों को एक दूसरे के विरुद्ध भड़काने वालों एवं भ्रमित करने वालों, विद्वेष फैलाने वालों और समाज को तोड़ने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए। समाज को एकरस रखना, शांति और सामाजिक समरसता बनाए रखना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

राजगढ़ जिले की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जलापूर्ति के संबंध में जनता से निरंतर संवाद बनाए रखें। जनता की संतुष्टि स्तर को जाँचते रहें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कुंडालिया और मोहनपुरा जलप्रदाय योजनाओं में विलम्ब की जानकारी प्राप्त होने पर एल एण्ड टी के साथ वर्चुअली बैठक करने के निर्देश दिए।

आवास योजनाओं के क्रियान्वयन में गड़बड़ी पर 7 कर्मचारियों की सेवाएँ समाप्त की गई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कचनारिया फूड प्रोसेसिंग यूनिट को जल्द पूर्ण करने तथा इसे आदर्श रूप में विकसित करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने “एक जिला-एक उत्पाद” में कार्य को गति देने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि जिन राशन दुकानों के संचालन में गड़बड़ी पाई जाती है, उनका संचालन महिला स्व-सहायता समूहों को सौंपा जाए।

बैठक में बताया गया कि राशन वितरण में विसंगतियों पर 12 लोगों पर एफआईआर की जा चुकी हैं।

आवास योजनाओं के लिए 8 हजार 500 राज मिस्त्री और 22 हजार सहायक मिस्त्री चिन्हित किये गये हैं। निर्माण सामग्री की रेट लिस्ट तैयार की गई है। हितग्राहियों की सुविधा के लिए हेल्प लाइन नम्बर जारी किया गया है।

आँगनवाड़ियों में सोलर पेनलों से बिजली और पंखे की व्यवस्था के लिए नीति आयोग के सहयोग से पहल की जा रही है।

ब्यावरा में तीन दिन में एक दिन पानी दिया जा रहा है। तलेन में टैंकरों से पानी की सप्लाई हो रही है।

जिले की 612 में से 190 राशन दुकानों का संचालन महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा किया जा रहा है।

स्व-सहायता समूहों के “अपना बाजार” की अवधारणा की जानकारी दी गई।

बड़वानी जिले की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जल जीवन मिशन में उपयोग की जा रही सामग्री और निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा नदी के किनारे प्राकृतिक खेती को वृहद रूप में लेने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पेसा एक्ट लागू करना और सामुदायिक वन प्रबंधन का अभियान जनजातीय समाज के कल्याण और उत्थान में सहायक होगा। इसके क्रियान्वयन में शासकीय अमले के साथ जन-प्रतिनिधि भी सक्रियता से जिम्मेदारी निभाए।

ग्रामीणों के व्यक्तिगत दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, समग्र आईडी, जाति प्रमाण-पत्र, आयुष्मान कार्ड आदि बनवाने के लिए ग्राम स्तर पर “पहुँच अभियान” में शिविर लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने योजना के बेहतर संचालन के लिए जिले के सभी गाँव में नेटवर्क कनेक्टिविटी सुधारने के निर्देश दिए।

बैठक में जानकारी दी गई कि 25 मई को बड़वानी का गौरव दिवस मनाया जा रहा है। इस आयोजन में अंकुर अभियान में 60 हजार पौधे लगाने की योजना है। ड्रिप इरिगेशन द्वारा इन पौधों की सिंचाई की व्यवस्था की गई है।

आँगनवाड़ियों के बच्चों के पोषण की स्थिति में सुधार के लिए बैंक नोट प्रेस देवास के सहयोग से पौष्टिक लड्डू की व्यवस्था की गई है । जिले में पोषण की स्थिति में सुधार हुआ है।

“राशन आपके द्वार” योजना में 27 वाहनों से राशन वितरण का कार्य संचालित है।

आवास योजना के हितग्राहियों की ब्रीफिंग की व्यवस्था विकसित की गई है।

पेयजल स्थिति पर पूरी संवेदनशीलता के साथ नजर रखी जा रही है। जैसे ही किसी ग्राम या कस्बे में पानी की कमी की जानकारी प्राप्त होती है, पीएचई सहित संपूर्ण प्रशासनिक अमला पहुँच कर तत्काल निराकरण करता है।

जल जीवन मिशन में 290 योजनाएँ स्वीकृत हैं, जिनमें से 47 पूर्ण कर ली गई हैं।

अमृत सरोवर योजना में 101 सरोवर स्वीकृत हैं ,जिनमें से 98 में कार्य जारी है।

जिले की लगभग 1500 जल संरचनाओं को पुष्कर धरोहर समृद्धि योजना में जीर्णोद्धार के लिए लिया गया है।

महिला स्व-सहायता समूह को शालाओं के गणवेश बनाने और जल जीवन मिशन में राशि संग्रहण का दायित्व सौंपा गया है।

लाड़ली लक्ष्मियों की कॉउंसलिंग की व्यवस्था भीमा नायक महाविद्यालय के केरियर सेल के सहयोग से की गई है।

“एक जिला-एक उत्पाद” योजना में अदरक के साथ मिर्च को भी जोड़ने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है। साथ ही जिले के किसानों को प्रशिक्षण के लिए महाराष्ट्र भेजा गया है।
====================================================
आँगनवाड़ी केंद्रों को बेहतर बनाने जन-सहयोग भी है जरूरी – मुख्यमंत्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान 24 मई को हाथ ठेला लेकर आँगनवाड़ी केंद्रों के लिये जुटाएँगे खिलौने और आवश्यक सामग्री
मुख्यमंत्री ने आँगनवाड़ियों में जन-भागीदारी का किया आहवान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मंगलवार 24 मई को आँगनवाड़ियों के लिए जन-सहयोग जुटाने वे जनता के बीच पहुँचकर आहवान करेंगे। जनता के सहयोग से आँगनवाड़ी केंद्रों के लिए आवश्यक सामान जुटाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान हाथ ठेला लेकर भोपाल के अशोका गार्डन क्षेत्र से सामग्री एकत्रीकरण के अभियान का शुभारंभ करेंगे। अभियान की रूपरेखा पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में बैठक बुलाई। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में “एडाप्ट एन आँगनवाड़ी” अभियान संचालित है। इस अभियान को गति प्रदान करने के लिए वे स्वयं हाथ ठेला लेकर जनता से आहवान करेंगे कि आँगनवाड़ी बच्चों के लिए खिलौने एवं स्टेशनरी सामग्री प्रदान करें। उन्होंने बताया कि अनेक स्थान पर लोगों ने वाटर कूलर और फर्नीचर भी आँगनवाड़ी केंद्रों को दिये हैं। इन केंद्रों में आने वाले बच्चों के खान-पान में पौष्टिक सामग्री शामिल करने अनेक नागरिक आगे आए हैं। अभियान को जनता के सहयोग से ही बेहतर ढंग से संचालित किया जा सकता है। यदि स्वैच्छिक सहयोग मिलता है तो इन केंद्रों की उपयोगिता बढ़ जाएगी और ऐसे बच्चे भी आँगनवाड़ी केंद्रों तक पहुँचेंगे, जो वर्तमान में नहीं आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी किसान भाइयों ने आँगनवाड़ी केंद्रों के लिए अनाज उपलब्ध करवाया है। एक मटके में अन्य खाद्य सामग्री प्रदान करने में भी सहयोग मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में बच्चों को स्कूल बेग, ड्राइंग शीट, कलर्स के साथ ही कॉमिक्स और अन्य शिक्षाप्रद साहित्य उपलब्ध हो, इसके लिए जन-सहयोग आवश्यक है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी केंद्रों में आने वाले बच्चे जीवन में अभाव महसूस न करें, इसके लिए सरकार और समाज को संयुक्त प्रयास करना होंगे। समाज के विभिन्न वर्ग सहयोग करेंगे। इनमें स्वैच्छिक संगठनों के सदस्य, अधिकारी-कर्मचारी, व्यापारी, जन-प्रतिनिधि और रहवासी संघ के पदाधिकारी भी शामिल हैं।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने बताया कि अशोका गार्डन क्षेत्र में विवेकानंद चौराहे से मनसा देवी मंदिर तक करीब एक किलामीटर क्षेत्र में पैदल चलते हुए आँगनवाड़ियों के लिए खिलौने और अन्य आवश्यक सामग्री जन-सहयोग से प्राप्त की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ जन-प्रतिनिधि भी उपस्थित रहेंगे। todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews
======================================================
सिंचाई परियोजनाओं का कार्य तेज गति से समय-सीमा में पूरा करें – मुख्यमंत्री चौहान
नर्मदा नियंत्रण मंडल की हुई 74 वीं बैठक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में निर्माणाधीन सिंचाई परियोजनाओं का कार्य तेज गति से समय-सीमा में पूरा करें। उन्होंने कहा कि कार्यों में गुणवत्ता का भी पूरा ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास पर नर्मदा नियंत्रण मंडल की 74 वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सिंचाई के लिए किसानों को पानी देना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। सिंचाई परियोजनाओं एवं नहरों को पूरा कर पानी देना शुरू किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि सिंचाई परियोजनाओं के कार्य में किसी भी स्थिति में विलंब न हो और विलंब होने संबंधी शिकायतें सामने नहीं आएं। उन्होंने कहा कि कंस्ट्रक्शन कंपनियों द्वारा समय-सीमा में कार्य किया जाए।

अपर मुख्य सचिव नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण श्री एस.एन. मिश्रा ने बताया कि देवास, शाजापुर और सीहोर जिले में एक लाख हेक्टेयर क्षेत्र में माईक्रो सिंचाई पद्धति से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए आईएसपी-कालीसिंध उद्वहन माइक्रो सिंचाई परियोजना (प्रथम चरण) का 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष कार्य पूर्ण करने की समय अवधि 31 अक्टूबर 2023 तक बढ़ाई जाना है। बैठक में इंदिरा सागर परियोजना मुख्य नगर 155 किलोमीटर से 206 किलोमीटर तक के निर्माण कार्य एवं विभिन्न परियोजनाओं के निविदा प्रकरणों के संबंध में भी चर्चा की गई। todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews
=====================================================
मुख्यमंत्री चौहान से थिंक गैस के प्रतिनिधियों ने की भेंट
500 एकड़ भूमि पर विकसित होगा ग्रीन एनर्जी पार्क
200 लोगों को मिलेगा रोजगार
बायोगैस, ऑर्गेनिक खाद, सोलर पॉवर के साथ हाइड्रोजन और अमोनिया का भी होगा उत्पादन
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से आज थिंक गैस के प्रेसीडेंट श्री मनमोहन आहूजा, श्री भरत सक्सेना, वाइस प्रेसीडेंट श्री महेश्वरन तथा श्री डी.एस. दुर्गेश ने भेंट की। थिंक गैस, भोपाल और राजगढ़ जिले में 500 एकड़ भूमि पर ग्रीन एनर्जी पार्क विकसित करेगी। इसमें 15 टन प्रतिदिन क्षमता का बायोगैस प्लांट, ऑर्गेनिक खाद, 20 मेट्रिक टन प्रतिदिन क्षमता का कार्बन-डाई-ऑक्साइड केप्चर प्लांट और 10 मेगावाट क्षमता का केप्टिव सोलर पॉवर प्लांट स्थापित किया जाएगा। साथ ही हाइड्रोजन और अमोनिया गैस का उत्पादन भी होगा। थिंक गैस की प्रदेश में 250 करोड़ रूपए के निवेश की योजना है। इन गतिविधियों से प्रदेश में लगभग 200 व्यक्तियों के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

उल्लेखनीय है कि पर्यावरण के लिए समर्पित थिंक गैस वर्ष 2018 से स्वच्छ ईंधन के क्षेत्र में कार्यरत है, जो देश के 5 राज्यों में घरेलू, व्यवसायिक, औद्योगिक और आटोमोटिव क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए प्राकृतिक गैस की आपूर्ति करती है।
=========================================================== मुख्यमंत्री चौहान ने पुत्र कार्तिकेय के जन्म-दिवस पर लगाया नारियल का पौधा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अपने बेटे कार्तिकेय के जन्म-दिन पर पत्नी श्रीमती साधना सिंह और पुत्र कुणाल के साथ निवास परिसर में नारियल का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्री कार्तिकेय के दीर्घायु और यशस्वी जीवन की कामना की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे भी अपने बच्चों के जन्म-दिन पर पौधा अवश्य लगाएँ।

नारियल को भारतीय सभ्यता में शुभ और मंगलकारी माना गया है। नारियल को संस्कृत में ‘श्रीफल’ कहा जाता है, श्री का अर्थ लक्ष्मी है। नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स अच्छी मात्रा में होते हैं, जो थकान और कमजोरी में ताजगी देता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्मार्ट उद्यान में लगाया नीम और पीपल का पौधा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में आज सहयोग संस्था के प्रतिनिधियों और सामाजिक कार्यकर्ता श्री पंकज चतुर्वेदी एवं उनके परिवार के साथ पीपल और नीम के पौधे लगाए। पौध-रोपण में संस्था के सर्वश्री आशुतोष गुप्ता, उमेश सोनी, आदर्श मिश्रा, अभिषेक जैकी और अभिलाष ठाकुर शामिल हुए। सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहते हुए संस्था ने कोरोना के कठिन काल में जरूरतमंद लोगों को भोजन, दवा, मेडिकल सहायता, ऑक्सीजन एवं रक्त की व्यवस्था करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संस्था की गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की और सदस्यों को पर्यावरण-संरक्षण, स्वच्छता, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में निंरतर सक्रिय रहने के लिए प्रेरित किया।

आज लगाया गया पीपल एक छायादार वृक्ष है। यह पर्यावरण शुद्ध करता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व है। एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि के रूप में जाना जाता है।
==================================================
todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews

 

 

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published.