• Sun. Jun 26th, 2022

(madhyapradeshnewsdiary)-अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के साथ चुनाव कराना मेरे मुख्यमंत्रित्व काल का सबसे सुखद कार्य : मुख्यमंत्री चौहान

अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के साथ चुनाव कराना मेरे मुख्यमंत्रित्व काल का सबसे सुखद कार्य : मुख्यमंत्री चौहान
todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews,madhyapradeshnewsdiaryअन्य पिछड़ा वर्ग के सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध
मुख्यमंत्री श्री चौहान का प्रदेश के पिछड़ा वर्ग समाज ने किया अभिनंदन
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मेरे सम्पूर्ण मुख्यमंत्रित्व काल का सबसे सुखद कार्य, स्थानीय निकायों के चुनाव अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के साथ कराने पर सहमति बनाना रहा है। हमने ओबीसी आरक्षण के साथ चुनाव कराने का संकल्प विधानसभा में पारित कर हरसंभव प्रयास किया। वर्ष 1977 में मंडल कमीशन के गठन के साथ अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण की दिशा में कार्य शुरू हुआ था। राज्य में पिछली सरकारें न्यायालय में अपना पक्ष प्रस्तुत करने में गंभीर नहीं रही। हमारी सरकार ने ओबीसी आरक्षण के लिए हरसंभव प्रयास किया है। ट्रिपल टेस्ट के लिए अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन किया गया। अंतत: सत्य की विजय हुई और प्रदेश में अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के साथ चुनाव का मार्ग प्रशस्त हुआ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान अन्य पिछड़ा वर्ग आरक्षण पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए ऐतिहासिक निर्णय के संदर्भ में प्रदेश के सम्पूर्ण पिछड़ा वर्ग समाज द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री निवास में हुए इस कार्यक्रम में गृह, जेल, संसदीय कार्य तथा विधि-विधायी कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण तथा नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री श्री ब्रजेंद्र सिंह यादव, लोक निर्माण राज्य मंत्री श्री सुरेश धाकड़, आयोग के सदस्य विधायक श्री प्रदीप पटेल, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर तथा पिछड़ा वर्ग के विभिन्न संगठन के पदाधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह भी उपस्थित रही।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल पर ही पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्राप्त हुआ। प्रधानमंत्री श्री मोदी का मंत्र है “सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास और सबके प्रयास।” मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार सभी वर्गों के कल्याण और विकास के लिए समर्पित है। हमारा ध्येय सामाजिक न्याय-सामाजिक समरसता के साथ है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में स्थानीय निकायों के चुनाव में अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के लिए मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग द्वारा ट्रिपल टेस्ट की वार्डवार रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। रिपोर्ट में प्रत्येक निकाय में ओबीसी की स्थिति को लेकर तथ्यात्मक जानकारियाँ संकलित की गईं। आयोग के सदस्यों के गहन अध्ययन और विभिन्न जिलों के अधिकारी और कर्मचारियों द्वारा व्यापक दौरे और सर्वे कर संकलित आंकड़ों के आधार पर ही यह तार्किक रिपोर्ट विकसित हो पाई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कृषि क्षेत्र की उपलब्धियों पर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर वक्तव्य देने के लिए मुझे डावोस आमंत्रित किया गया था, परंतु प्रदेश में अन्य पिछड़ा वर्ग को न्याय दिलाना मेरे लिए सर्वोपरि था। पिछड़ा वर्ग के हितों का संरक्षण राज्य सरकार की प्राथमिकता है। न्यायालय में मजबूती के साथ पुन: पक्ष रखने के लिए मैंने अपनी विदेश यात्रा निरस्त की। राज्य सरकार अन्य पिछड़ा वर्ग के सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। अब स्थानीय निकायों में आबादी के अनुसार आरक्षण मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश ने अन्य पिछड़ा वर्ग को न्याय दिलाने के लिए जो रोड मैप बनाया है, उसका अनुसरण अन्य राज्य भी करेंगे।

मध्यप्रदेश अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग का संरक्षण और विकास, आयोग की प्राथमिकता है। आयोग द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट, राज्य सरकार की इच्छा शक्ति का प्रतीक है। अन्य पिछड़ा वर्ग के अधिकारों के लिए आयोग निरंतर सक्रिय रहेगा। कार्यक्रम को नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह और सांसद खजुराहो श्री वी.डी. शर्मा, ने भी संबोधित किया। अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री राम खेलावन पटेल ने कार्यक्रम में सम्मिलित अन्य पिछड़ा वर्ग के विभिन्न संगठन के पदाधिकारियों का स्वागत किया।
———————————————————————————————
जनता के जीवन स्तर को ऊपर उठाने में नहीं छोड़ेंगे कोई कसर – मुख्यमंत्री चौहान
todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews
मुख्यमंत्री चौहान 24 मई को निकलेंगे आँगनवाड़ियों के लिए जन-सहयोग से सामग्री एकत्र करने
खण्डवा में पेयजल आपू्र्ति की स्थिति में सुधार के लिए बदली जाएगी पाइप लाइन
डिंडोरी जिले के दूरदराज क्षेत्रों में संस्थागत प्रसव का प्रतिशत बढ़ाने किये जायें विशेष प्रयास
जनजातीय युवाओं को माइक्रो डेयरी सहित स्व-रोजगार की स्थानीय एवं अन्य गतिविधियों से जोड़ें
स्वास्थ्य के लिए उपयोगी डिंडोरी की ऑर्गेनिक कोदो-कुटकी की करें प्रभावी ब्रांडिंग और मार्केटिंग
भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस और अपराधियों को पूर्ण ध्वस्त करना हमारी प्राथमिकता
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लगातार तीसरे दिन प्रात: 6:30 बजे की जिलों की समीक्षा
खण्डवा और डिंडोरी जिलों के अधिकारियों के साथ हुई वर्चुअल बैठक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जन-सेवा और विकास कार्यों से आज दिन की शुरुआत हो रही है। हमारा संकल्प है कि जनता के जीवन स्तर को ऊपर उठाने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान लगातार तीसरे दिन प्रातः 6:30 बजे जिलों में संचालित विकास गतिविधियों और कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज निवास कार्यालय से खंडवा और डिंडोरी जिले की समीक्षा की। पर्यटन एवं संस्कृति और खंडवा जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री उषा ठाकुर और उच्च शिक्षा एवं डिंडोरी जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. मोहन यादव वर्चुअली सम्मिलित हुए। खंडवा से वन मंत्री कुंवर विजय शाह भी बैठक में शामिल हुए। कलेक्टर खण्डवा श्री अनूप कुमार सिंह, कलेक्टर डिंडोरी श्री रत्नाकर झा और जिलों के प्रशासनिक अधिकारी भी समीक्षा बैठक से वर्चुअली जुड़े।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मेरा लक्ष्य है कि विकास गतिविधियों और जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हितग्राहियों को बिना विलंब और भ्रष्टाचार के मिले। शासकीय अमला हितग्राहियों से निरंतर संवाद कर संपर्क में रहे। इससे योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही कठिनाइयों का पता चलता है और उनका निराकरण भी सुगम हो जाता है। भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस और अपराधियों तथा माफिया को पूरी तरह ध्वस्त करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा और डिंडोरी जिले में पेयजल व्यवस्था, आँगनवाड़ियों एवं पोषण की स्थिति, प्रधानमंत्री आवास योजना, अमृत सरोवर,राशन वितरण, सीएम हेल्पलाइन, मनरेगा, जिलों में जारी नवाचार तथा “एक जिला-एक उत्पाद” योजना में संचालित गतिविधियों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने आँगनवाड़ियों में जन-भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि वे स्वयं 24 मई को आँगनवाड़ियों के लिए जन-सहयोग से सामान एकत्र करने निकलेंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना में रिकार्ड बनाये खण्डवा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा जिले की समीक्षा में निर्देश दिए कि कुपोषण को टास्क में लेकर समाप्त करें और हर 3 माह में इसकी समीक्षा करें। आँगनवाड़ियों में पेयजल और बिजली की आपूर्ति पर ध्यान दें। अडॉप्ट एन आँगनवाड़ी अभियान में आमजन को प्रोत्साहित करें और गोद ली गईं आँगनवाड़ियों की सतत मॉनिटरिंग करें। कलेक्टर खण्डवा ने जानकारी दी कि कुपोषण दूर करने के लिए मुनगा की पत्तियों के चूर्ण का उपयोग आँगनवाड़ियों में किया जा रहा है, जो प्रभावी रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खंडवा में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की स्थिति बेहतर है। जिले में 94.33 प्रतिशत आवास पूर्ण होने पर मुख्यमंत्री ने प्रशासन को बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शेष रहे 6 प्रतिशत आवास पूर्ण कर खण्डवा जिला रिकॉर्ड बना सकता है। जानकारी दी गई कि आवास प्लस का टारगेट 16 हजार 300 है, जिसमें 10 हजार आवास की स्वीकृति मिल चुकी है। कुछ में तकनीकी समस्याएँ आ रही हैं, जिनका शीघ्र निराकरण कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में चयनित हितग्राहियों की सूची पंचायत स्तर पर प्रदर्शित की जाकर हितग्राहियों को मुख्यमंत्री की ओर से पत्र भेजा जाए। योजना में नाम जुड़वाने या किस्त जारी करने के लिए पैसे लेने की शिकायत बर्दाश्त नहीं की जाएगी, ऐसी शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहरी आवास योजना में 42.9 प्रतिशत आवास पूर्ण हुए हैं, इनके कार्यों में गति लाये। मुख्यमंत्री ने मनरेगा के कार्यों की समीक्षा भी की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खण्डवा में पेयजल स्थिति की समीक्षा के दौरान चारखेड़ से खण्डवा तक की पाइप लाइन बदलने के निर्देश दिए। जानकारी दी गई कि पेयजल आपूर्ति के लिए राजस्व, पुलिस, नगर निगम द्वारा टीम बनाकर कार्य किया जा रहा है। पेयजल के संबंध में जन-सामान्य से लगातार संवाद के लिए अधिकारियों को दायित्व सौंपे गये हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जहाँ पानी की समस्या है, वहाँ तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राशन वितरण में विलंब पर नाराजगी व्यक्त की। बैठक में बिजली आपूर्ति और बिजली बिल में गड़बड़ी संबंधी शिकायतों के निराकरण पर भी चर्चा हुई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले में गौरव दिवस, सीएम राइज स्कूल और अमृत सरोवर की प्रगति की जानकारी प्राप्त की। जिले में जावर और हरसूद में सीएम राइज स्कूल आरंभ किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले में बनाये जा रहे 101 अमृत सरोवर में से कुछ सरोवर का कार्य 15 अगस्त तक पूर्ण कर इनके आस-पास स्वतंत्रता दिवस का आयोजन किया जाए। अमृत सरोवर के निर्माण में सौंदर्यीकरण और पौध-रोपण का विशेष ध्यान रखे और इन्हें जल-संरक्षण के मॉडल के रूप में विकसित करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि माफियाओं और अपराधियों से मुक्त कराई गई जमीन पर गरीबों के लिए मकान बनाने को प्राथमिकता दी जाए। बताया गया कि जिले में अब तक 95 हेक्टेयर भूमि माफियाओं से मुक्त कराई गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अपराधियों और माफियाओं पर कठोरतम कार्रवाई की जाए। अवैध पशु परिवहन को गंभीरता से लें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कलेक्टर अपना इन्टेलीजेंस नेटवर्क विकसित करें और भ्रष्ट अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई करें। बैठक में वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने जिले के 16 गाँवों को सिंचाई व्यवस्था से जोड़ने की आवश्यकता बताई।

डिंडोरी जिले की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डिंडोरी जिले की समीक्षा में संस्थागत प्रसव की कम संख्या को लेकर चिंता जताई। बताया गया कि छत्तीसगढ़ से लगे दो विकासखंड में नेटवर्क की समस्या के कारण तत्काल सूचना प्राप्ति में विलंब होता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नेटवर्क की व्यवस्था को सुदृढ़ करने और विकासखंडों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर डिंडोरी ने बताया कि जिला मुख्यालय पर जन-भागीदारी से जिला अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया गया है। कलेक्टर ने जिले में माइक्रो डेरी की व्यवस्था में किये गए नवाचार की जानकारी दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि डेयरी व्यवसाय से जनजातीय युवाओं को आजीविका से जोड़ने में मदद मिलेगी। ऐसी गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले में स्व-रोजगार गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए बैंक से समन्वय कर योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि “एक जिला-एक उत्पाद” में कोदो-कुटकी की बेहतर मार्केटिंग की जाए। जिले में पूर्णतः ऑर्गेनिक तरीके से उत्पादित हो रही कोदो-कुटकी की स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत मांग है। इस मांग को देखते हुए इसके ब्रांड का विस्तार पूरे देश में किया जा सकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तेंदूपत्ता की तुड़ाई मजदूरी, वनोपज के उचित मूल्य और जनजाति बहुल क्षेत्रों में संचालित रोजगार मूलक योजनाओं की समीक्षा भी की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए विशेष प्रयास करने के निर्देश भी दिए।
———————————————————————————————– मुख्यमंत्री चौहान ने नीम और पीपल के पौधे लगाए
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में आज नीम और पीपल का पौधा लगाया। सक्सेसफुल-डे फाउंडेशन, सेव ट्री सेव अर्थ संस्था के शरद मस्तकर, साहिल मिश्रा, कुलदीप गौड़, मोहित परिहार, पूनम चौरसिया, डिंपी बरासी, प्राची सिंह और प्रतीक सिंह भी पौध-रोपण में शामिल हुए।

फाउंडेशन प्रमुख दिवसों और किसी के जन्म-दिवस पर पर्यावरण-संरक्षण के लिए पौधा-रोपण और भोजन वितरण जैसे कार्य में संलग्न है। साथ ही गरीब, बेसहारा और फुटपाथ पर जीवन-यापन करने वालों के लिए प्रतिदिन भोजन की व्यवस्था की जाती है। पशु-पक्षियों के भोजन-पानी के लिए भी विशेष प्रयास किये जाते हैं।

आज लगाए गए पौधों में पीपल एक छायादार वृक्ष है। यह पर्यावरण शुद्ध करता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व है। एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को महत्वपूर्ण औषधि के रूप में जाना जाता है।
——————————————————————————————-
मुख्यमंत्री चौहान ने न्यायाधिपति श्री माहेश्वरी की माताजी के निधन पर श्रद्धसुमन अर्पित किये
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मुरैना जिले के जौरा पहुँचकर सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधिपति श्री जितेन्द्र कुमार माहेश्वरी की माताजी श्रीमती मोहन प्यारी देवी के निधन पर शोक व्यक्त कर श्रद्धा-सुमन अर्पित किये।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि माताजी पुण्यात्मा थी। उन्होंने 97 वर्ष की आयु पूरी की। विवाह के समय भजन गाते हुए उनका वीडियो मैंने देखा है। उनके पुण्य प्रताप से माहेश्वरी परिवार, समाज की सेवा कर रहा है। भगवान उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें। मैं उनके चरणों में श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और शोकाकुल माहेश्वरी परिवार को यह दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है।

अल्पसंख्यक वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री रघुराज कंषाना, जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री योगेशपाल गुप्ता ने भी श्रद्धा-सुमन अर्पित किये। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री राजेश चावला, कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष बागरी सहित अधिकारी और नागरिक मौजूद थे।
————————————————————————————————
todayindia,todayindia24,shivrajsinghchouhan,mpcm,mpnews,madhyapradeshnews,madhyapradeshnewsdiary

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published.