रायपुर : डॉ. रमन सिंह ने किया मुख्यमंत्री बाड़ी बांस योजना एवं स्कूल नर्सरी योजना का शुभारंभ

Latest

रायपुर, 12 अगस्त 2016
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज दुर्ग जिले के धमधा विकासखंड के ग्राम कोड़िया में आयोजित राज्य स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम में प्रदेशवासियों को मुख्यमंत्री बाड़ी बांस योजना एवं स्कूल नर्सरी योजना के रूप में वृक्षारोपण की दो बड़ी योजनाएं की सौगात दी।
इसके तहत ’’मुख्यमंत्री बाड़ी बांस योजना’’ के माध्यम से हितग्राहियों की बाड़ी या सुरक्षित स्थानों पर प्रतिवर्ष प्रति व्यक्ति 5 से 50 उच्च गुणवत्ता के टिशु कल्चर बांस पौधे हितग्राही को दिए जाएंगे। इसके तहत बांस की बैम्बूसा बाल्कोआ, बैम्बूसा टूल्डा, बैम्बूसा न्यूटन्स, डेन्ड्रोकेलेमस एस्पर प्रजाति के टिशू कल्चर पौधे व डेन्ड्रोकेलेमस स्ट्रिक्टस के बीजू पौधे दिए जाएंगे। रोपण पूर्व हितग्राहियों द्वारा अपनी बाड़ियों या सुरक्षित स्थलों में 45×45×45 सेन्टीमीटर के गड्ढे खोदे जाएंगे। पौधा रोपण का कार्य वन विभागीय अमले के देख-रेख में किया जाएगा तथा पौधा रोपण उपरांत पौधों का रख-रखाव हितग्राही द्वारा किया जाएगा। हितग्राही को पौध निःशुल्क प्रदाय किए जाएंगे तथा रोपण वर्ष के आगामी दो वर्षों तक प्रतिवर्ष प्रति जीवित पौधा के मान से रख-रखाव की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाएगी। इससे आदिवासी, बंसोड़ एवं अन्य पिछडे़ वर्गों में कौशल विकास हो सकेगा तथा उन्हें रोजगार के माध्यम से आय में वृद्धि होगी। इससे गैर वन भूमि में वनोपज के उत्पादन में भी वृद्धि होगी।
इसी तरह ’’स्कूल नर्सरी योजना’’ के अंतर्गत शाला के किशोर विद्यार्थियों को बीज अंकुरण से लेकर उसके पौधा में परिवर्तित होने की प्रक्रिया को समझाने तथा प्राकृतिक आनंद की अनुभूमि कर सकने की प्रक्रिया से जोड़ा जाएगा, जिससे विद्यार्थी स्वस्थ्य पर्यावरण की अवधारणा को आत्मसात कर सके। विद्यार्थियों को उनके आवासीय परिवेश में पाये जाने वाले वृक्षों का अध्ययन करने एवं रोपणी में ंउपयोग हेतु उनके बीजों का संग्रहण करने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। विद्यार्थियों को उनके द्वारा तैयार पौधों को रोपित करने, शाला आने वाले विशिष्टजनों को पौधा भेंट करने तथा उपयुक्त अवसरों पर जनता में वितरित करने हेतु प्रेरित करना योजना का लक्ष्य है। इसके तहत चयनित शाला में नर्सरी बनाई जाएगी। पांच वर्षों में करीब 1 हजार पौधे तैयार किए जाएंगे। इसके लिए हर एक स्कूल को 10 हजार रूपए की अनुदान राशि प्रतिवर्ष दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने इन योजनाओं के ब्रोशर का विमोचन किया तथा हितग्राहियों और स्कूलों को लाभान्वित किया। मुख्यमंत्री ने भिलाई के रूआबांधा स्कूल, शासकीय स्कूल कुथरेल और रसमड़ा के प्रधान आध्यपकों को स्कूल नर्सरी योजना के तहत 10-10 हजार रूपए की राशि प्रदान की तथा ग्राम कोड़िया के ग्रामीणों को बांस के पौधे प्रदाय किए।

Leave a Reply