• Mon. Jul 22nd, 2024

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने चक्रवात बिपरजॉय से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की, गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी कर रहा है

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने चक्रवात बिपरजॉय से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की, गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी कर रहा है
narendramodi,PM,primeministerofindiaप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘बिपरजॉय’ से निपटने के लिए आज एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। श्री मोदी ने केंद्र सरकार के मंत्रालयों और एजेंसियों के साथ गुजरात की तैयारियों की भी समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने संवेदनशील स्थानों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित रूप से निकालने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया। श्री मोदी ने बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल जैसी सभी आवश्यक सेवाओं के रखरखाव को सुनिश्चित करने और नुकसान की स्थिति में उन्हें तुरंत बहाल करने को भी कहा है। प्रधानमंत्री ने मवेशियों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करने और नियंत्रण कक्षों को चौबीसों घंटे काम करने का निर्देश दिया।

बैठक के दौरान मौसम विभाग ने सूचित किया कि चक्रवात बिपार्जॉय बृहस्पतिवार की दोपहर तक गुजरात के मांडवी और पाकिस्तान के कराची के बीच गुजरात के जखाऊ बंदरगाह के पास सौराष्ट्र और कच्छ को पार करने की उम्मीद है। इसमें हवा लगातार 125 से 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी और अधिकतम 145 किलोमीटर प्रति घंटे तक चल सकती है। इससे बुधवार और बृहस्पतिवार को गुजरात के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है। इस दौरान कच्छ, देवभूमि द्वारका और जामनगर में अत्यधिक वर्षा और पोरबंदर, राजकोट, मोरबी और जूनागढ़ जिलों में कुछ स्थानों पर बहुत अधिक वर्षा हो सकती है। मौसम विभाग 6 जून को चक्रवाती प्रणाली की शुरुआत के बाद से सभी राज्यों और संबंधित एजेंसियों को नवीनतम पूर्वानुमान के साथ नियमित बुलेटिन जारी कर रहा है।

गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है और राज्य सरकार और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है। एन.डी.आर.एफ. ने 12 टीमों को पहले से तैनात कर दिया हैं और 15 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है। भारतीय तट रक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज और बचाव कार्यों के लिए जहाजों और हेलीकॉप्टरों को तैनात किया है। वायुसेना और इंजीनियर टास्क फोर्स इकाइयां, नावों और बचाव उपकरणों के साथ तैनाती के लिए स्टैंडबाय पर हैं। निगरानी विमान और हेलीकॉप्टर तट पर लगातार निगरानी कर रहे हैं। आपदा राहत दल और सेना, नौसेना और तटरक्षक बल के चिकित्सा दल भी तैयार हैं।

प्रधानमंत्री को चक्रवात से निपटने के लिए गुजरात सरकार के उपायों के बारे में भी जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री स्तर पर जिला प्रशासन के साथ समीक्षा बैठकें की जा चुकी हैं और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए राज्य का पूरा प्रशासन सतर्क है। कैबिनेट सचिव और गृह सचिव गुजरात के मुख्य सचिव और संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों के साथ लगातार संपर्क में हैं।

इस उच्चस्तरीय बैठक में प्रधानमंत्री के साथ गृहमंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों शामिल हुए।
====================================Courtesy=================================
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने चक्रवात बिपरजॉय से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की, गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी कर रहा है
narendramodi,PM,primeministerofindia

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *