• Fri. May 24th, 2024

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में आज पापुआ न्यू गिनी पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में आज पापुआ न्यू गिनी पहुंचे
narendramodi,PM,primeministerofindiaप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में आज पापुआ न्यू गिनी पहुंचे। पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री जेम्स मारापे ने उनका स्वागत किया। श्री मोदी कल पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री के साथ भारत-प्रशांत द्वीप समूह सहयोग फोरम के तीसरे शिखर सम्मेलन की संयुक्त रूप से मेजबानी करेंगे। इस फोरम को नवंबर 2014 में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की फिजी यात्रा के दौरान शुरू किया गया था। इस फोरम में भारत और चौदह भारत-प्रशांत द्वीप देश शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी पापुआ न्‍यू गिनी के गर्वनर जनरल बॉब डोडाय और प्रधानमंत्री जेम्‍स मरापे के साथ चर्चा करेंगे। भारत के किसी भी प्रधानमंत्री की यह पहली पापुआ न्‍यू गिनी यात्रा है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के साथ हिरोशिमा में द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत की। दोनों नेताओं ने भारत और ब्रिटेन के बीच सामरिक साझेदारी की समीक्षा की और दोनों देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौता वार्ता में हुई प्रगति का जायजा लिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने ब्राजील के राष्‍ट्रपति लूला डि सिल्‍वा के साथ भी चर्चा की। एक ट्वीट में श्री मोदी ने कहा कि व्‍यापारिक संबंधों को और अधिक बेहतर बनाने के लिए भारत और ब्राजील परस्‍पर मिलकर काम करते रहेंगे। उन्‍होंने कृषि और रक्षा क्षेत्र के अलावा विविध क्षेत्रों में आपसी सहयोग पर भी चर्चा की। दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय विकास के मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। यह दोनों नेताओं के बीच पहली बैठक थी।

जापान के हिरोशिमा में जी-7 शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने शांतिपूर्ण, स्‍थायी और समृद्धशाली विश्‍व विषय पर आयोजित कार्यकारी सत्र में भी हिस्सा लिया। सत्र के संबोधन में श्री मोदी ने कहा कि यूक्रेन मानवता और मानवीय मूल्‍यों से जुडा हुआ विषय है। उन्‍होंने कहा कि भारत का हमेशा से मानना है कि किसी भी तनाव या विवाद का हल समाधान बातचीत के जरिए शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान वैश्विक परिस्थिति में खाद्य, ईंधन और उर्वरक संकट के गंभीर असर का सामना विकासशील देशों को करना पडा है। उन्‍होंने कहा कि सभी देशों के लिए यह जरूरी है कि वे संयुक्त राष्ट्र के चार्टर, अंतर्राष्‍ट्रीय कानून एवं संप्रभुता और सभी राष्‍ट्रों की क्षेत्रीय अखंडता का सम्‍मान करें।

इससे पहले आज प्रधानमंत्री हिरोशिमा में शांति स्मारक संग्रहालय गए। वहां उन्होंने प्रदर्शित दस्‍तावेज देखे और आगन्‍तुक पुस्तिका में संदेश भी लिखा।
===========================================Courtesy===========================
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में आज पापुआ न्यू गिनी पहुंचे
narendramodi,PM,primeministerofindia

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *