• Wed. Jul 24th, 2024

madhyapradeshnewsdiary 21 august 2021  shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,mpnews,madhyapradesh news,MPVaccinationMahaAbhiyan,todayindia,24,today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiary 21 august 2021 ऑक्सीजन व्यवस्था में आत्म-निर्भर बनेगा मध्यप्रदेश
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने साढ़े छ: करोड़ रूपये लागत के 10 ऑक्सीजन संयंत्रों का वर्चुअल लोकार्पण किया
मंत्री, सांसद और विधायक भी जुड़े कार्यक्रम से
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रदेश के 10 अस्पतालों में नव स्थापित ऑक्सीजन संयंत्रों का वर्चुअली लोकार्पण किया। लगभग साढ़े 6 करोड़ रूपये की लागत वाले इन 10 ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 5500 एलपीएम (लीटर प्रति मिनिट) ऑक्सीजन उत्पादन की है। लोकार्पित हुए ये प्लांट सीहोर जिले में आष्टा और रेहटी, विदिशा जिले में विदिशा और सिरोंज, खरगोन जिले में खरगोन और बड़वाह, सागर जिले में खुरई के अलावा कटनी, टीकमगढ़ और नरसिंहपुर में स्थापित किये गये हैं। प्रदेश में मार्च 2020 की स्थिति में किसी भी सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट नहीं था। प्रदेश में 190 ऑक्सीजन संयंत्र लगाए जा रहे हैं। इनमें से अभी तक 68 प्लांट्स स्थापित और 65 प्लांट्स क्रियाशील किये जा चुके हैं। सितम्बर माह तक शेष सभी प्लांट्स क्रियाशील हो जायेंगे।

कोविड के दौर में समझा ऑक्सीजन का महत्व

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्म-निर्भरता प्राप्त करने के प्रयास जीवन की सौगात की तरह हैं। कोविड के दौर में हम ऑक्सीजन का महत्व समझ चुके हैं। दूसरी लहर में ऑक्सीजन का मतलब था जिंदगी और ऑक्सीजन मिलने में देर होने का मतलब था जीवनलीला की समाप्ति। हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी वर्तमान के साथ भविष्य का आकलन भी करते हैं। उनके प्रयासों से मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों को समय पर ऑक्सीजन मिली, जिसके फलस्वरूप अनमोल जिंदगियों को बचाया जा सका। ऑक्सीजन में मध्यप्रदेश को आत्म-निर्भर बनाने का कार्य जारी है। टेंकरों की व्यवस्था करना बहुत बड़ी समस्या थी। प्रधानमंत्री के आशीर्वाद से यह संभव हो सका।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर के प्रति सजग और तैयार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड के संक्रमण की तीसरी लहर नहीं आए, उसके लिए हम सब कटिबद्ध हैं। यदि तीसरी लहर आ भी जाये तो उसके लिए हम पूरी तरह से सजग और तैयार हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम वह समय कभी भूल नहीं सकेंगे। न हम सोये, न आप सोये। प्रदेश में ऑक्सीजन की तत्काल व्यवस्था के लिये उड़ीसा, छत्तीसगढ़, गुजरात और उत्तरप्रदेश से ऑक्सीजन बुलवाई गई। इसमें मंत्री, सांसद, विधायक और जन-प्रतिनिधियों सहित सभी ने पूर्ण सहयोग दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में पीएम केयर फंड से 88, मुख्यमंत्री राहत कोष से 13, कार्पोरेट सोशल रिस्पांसबिलटी और स्थानीय प्रयासों से 89 संयंत्र स्थापित किये जा रहे हैं। इन सभी संयंत्रों से कुल 221 मिट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा सकेगा। उत्पादित ऑक्सीजन चिकित्सालयों में स्थापित ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स से सीधे मरीजों तक उपलब्ध कराई जा सकेगी।

सभी जिलों में सीटी स्केन व्यवस्था होगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह भी तय कर लिया है कि अक्टूबर माह तक सभी जिलों में सीटी स्केन की व्यवस्था उपलब्ध होगी।

लोकार्पित ऑक्सीजन प्लांट
स्वास्थ्य संस्था

उत्पादन क्षमता

स्वास्थ्य संस्था

उत्पादन क्षमता

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रेहटी, जिला सीहोर

200 एलपीएम

जिला चिकित्सालय, खरगोन

250 एलपीएम

सिविल अस्पताल आष्टा, जिला सीहोर

300 एलपीएम

सिविल अस्पताल बड़वाह जिला खरगोन

500 एलपीएम

जिला चिकित्सालय विदिशा

1000 एलपीएम

जिला चिकित्सालय टीकमगढ़

500 एलपीएम

सिविल अस्पताल सिरोंज, जिला विदिशा

250 एलपीएम

जिला चिकित्सालय नरसिंहपुर

1000 एलपीएम

जिला चिकित्सालय, कटनी

1000 एलपीएम

सिविल अस्पताल खुरई, जिला सागर

500 एलपीएम

प्रदेश के 30 जिलों में 32 स्लाइस की सीटी स्केन मशीन लगाने के लिए कार्य पूर्णत: की ओर है। इसके साथ ही स्वास्थ विभाग के अंतर्गत शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में 784 आई.सी.यू. बेड्स क्रियाशील किये गये हैं। सितम्बर माह तक 650 अतिरिक्त आई.सी.यू बेड क्रियाशील होंगे। इन संस्थाओं में 11 हजार 156 ऑक्सीजन बेड्स कियाशील किये गये हैं। सितम्बर माह तक इनकी कुल संख्या 14 हजार 255 हो जायेगी। कोविड-19 परिदृश्य में सरकारी चिकित्सा महाविद्यालयों में 2993 आई.सी.यू बेड्स थे। इनकी संख्या सितम्बर तक अतिरिक्त 445 बेड्स मिलाकर 3438 हो जायेगी। कोविड-19 की तीसरी लहर में शिशुओं के संक्रमित होने की आशंका को ध्यान में रखते हुए उपलब्ध 200 पीडिऐट्रिक आईसीयू बेड्स के अतिरिक्त 350 नए पीडिऐट्रिक आईसीयू बेड्स का प्रबंध हो रहा है। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग की संस्थाओं में भी बच्चों के उपचार के लिए 320 नए पीडिऐट्रिक आईसीयू बेड्स और 992 नए पीडिऐट्रिक ऑक्सीजन बेड्स की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि चिकित्सक, नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ के पदों की पूर्ति की प्रक्रिया भी लगभग पूरी हो गई है। रेडियो ग्राफर, लेब टेक्निशियन और ऑप्थाल्मिक टेक्निशियन के 429 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी हो गई है।

ऑक्सीजन संयंत्रों के वर्चुअली लोकार्पण के अवसर पर सांसद श्री वी.डी. शर्मा, लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव, चिकित्सा शिक्षा एवं गैस त्रासदी मंत्री श्री विश्वास सारंग एवं लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी उपस्थित थे। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह, सांसद और विधायकगण प्रदेश के विभिन्न स्थानों से लोकार्पण कार्यक्रम में सम्मिलित हुए।

================================================================

मुख्यमंत्री चौहान, स्व. श्री गौर की पुण्य-तिथि पर सुंदरकांड में शामिल हुए
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री बाबूलाल गौर की द्वितीय पुण्य-तिथि पर विधायक श्रीमती कृष्णा गौर के निवास पहुँचकर स्व. गौर को नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. गौर की तस्वीर पर पुष्प अर्पित किए और सुंदरकाण्ड में भी शामिल हुए। पं. वीरेंद्र शर्मा ने गीता पाठ किया। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, वरिष्ठ नेता श्री रघु ठाकुर और सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

===============================================================

दो दिवसीय वैक्सीनेशन महाअभियान को सभी मिलकर बनाएँ कामयाब: मुख्यमंत्री चौहान
मध्यप्रदेश देश में सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला दूसरा प्रांत
60 प्रतिशत को लग चुका है प्रथम डोज
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में आगामी 25 और 26 अगस्त को वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाने के लिए मंत्रीगण की उपस्थिति में सभी कलेक्टर्स और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स के सदस्यों से वर्चुअल चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-प्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों से मुखातिब होकर विस्तृत निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी मिलकर इस महाअभियान को कामयाब बनायें। प्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए तैयार की गई रणनीति के अनुसार 25 अगस्त को 20 लाख लोगों को पहला और दूसरा डोज, 26 अगस्त को 10 लाख लोगों को दूसरा डोज प्राथमिकता से देने का निर्णय लिया गया है। अगस्त माह में भारत सरकार से प्राप्त करीब 74.7 लाख डोज में से 73.9 लाख की खपत हो चुकी है। प्रदेश में महाअभियान के लिए आवश्यक डोजेज की व्यवस्था की गई है। प्रदेश की वैक्सीनेशन के लिए पात्र 5 करोड़ 48 लाख 90 हजार आबादी में से 3 करोड़ 32 लाख को प्रथम डोज और 64 लाख 90 हजार आबादी को द्वितीय डोज लग चुका है। देश में मध्यप्रदेश, गुजरात के बाद सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला प्रांत है।

उत्सव का वातावरण बनाएँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा वैक्सीनेशन के लिए सबको प्रेरित करें, ये पुण्य का कार्य है। वैक्सीनेशन महाअभियान में आशा और उषा, आँगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी ही नहीं अन्य विभाग भी सक्रिय भूमिका निभायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रभारी मंत्री इस महाअभियान की तैयारियों पर नजर रखें। उत्सव का वातावरण बनाएँ। नागरिक प्रथम डोज लगवाने के बाद लापरवाही बरत रहे हैं। दूसरा डोज न लगवाने से प्रथम डोज का प्रभाव कम हो जाता है। यह बात आमजन को बताते हुए जन-जागरण का कार्य आवश्यक है। सितम्बर माह तक प्रथम डोज शत-प्रतिशत पात्र आबादी को लग जाए, यह लक्ष्य है। पंचायतवार, दूसरे डोज के लिए लाभार्थियों की सूची तैयार कर कार्य हो रहा है। कंट्रोल रूम की स्थापना, कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर लोगों को पीले चावल देकर वैक्सीनेशन के लिए आमंत्रित करने और अन्य नवाचारों से वैक्सीनेशन के महाअभियान को गति दी जाए। सोशल मीडिया पर भी अपील करते हुए लोगों को प्रेरित किया जाए। विभिन्न क्षेत्रों के प्रख्यात व्यक्तियों का भी सहयोग इसके लिए लिया जाए।

भाई-बहन सुनिश्चित करें एक-दूसरे की सुरक्षा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी जन-प्रतिनिधि सहयोग करेंगे तो अभियान निश्चित ही सफल होगा। आम जनता भी इस महाअभियान से जुड़े और इसे सफल बनाएँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रक्षाबंधन पर टीका लगवाने की बात भाई-बहन याद रखें। रक्षाबंधन पर भाई-बहन परस्पर यह सुनिश्चित करें कि उन्होंने टीका लगवाकर जीवन रक्षा की कोशिश की है या नहीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाअभियान को इसलिए भी कामयाब बनाना है क्योंकि ये जिंदगी का डोज है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को भी धन्यवाद दिया। वैक्सीनेशन और कोविड अनुकूल व्यवहार ही कोरोना नियंत्रण का प्रभावी माध्यम है। वैक्सीन के लिए प्रत्येक व्यक्ति, प्रत्येक संस्था लोगों को प्रेरित करें कि वे वैक्सीन जरूर लगवाएँ, जिनका दूसरा डोज ड्यू है उन्हें विशेष रूप से प्रेरित करना है।

कार्यकर्ता करेंगे मोबलाइज

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विभिन्न धर्मगुरू और समाजसेवी भी इस अभियान से जुड़ जायें तो अच्छी सफलता मिलेगी। प्रदेश में जन-जागरण से सितम्बर माह तक प्रथम डोज के लक्ष्य को शत-प्रतिशत प्राप्त करना है। दो दिवसीय महाअभियान में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य, करीब एक लाख कोरोना वॉलेंटियर्स, 32 हजार मोबलाइजर्स और 3.75 लाख ब्रिगेड सदस्यों के माध्यम से दूसरी डोज के बैकलॉग लाभार्थियों को जुटाने का कार्य किया जायेगा। महाअभियान में सार्थक लाइट एप पर वॉलेंटियर्स का पंजीकरण भी किया गया है। प्रत्येक वॉलेंटियर को दूसरे डोज के ड्यू 20 लाभार्थी की सूची मोबलाइजेशन के लिए प्राप्त होगी।

प्रथम महाअभियान में इंदौर अव्वल

प्रदेश में 21 जून से 3 जुलाई के मध्य संचालित प्रथम वैक्सीनेशन महाअभियान में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तीन जिलों इंदौर, सीहोर और उज्जैन का रहा है। इंदौर जिले में 21.3 प्रतिशत, सीहोर जिले में 18.2 प्रतिशत और उज्जैन जिले में 16.5 प्रतिशत पात्र आबादी को प्रथम डोज लगाया जा चुका है। इंदौर शहर वैक्सीनेशन में प्रदेश में प्रथम है। यहाँ 95 प्रतिशत लोग प्रथम डोज और 27 प्रतिशत लोग द्वितीय डोज लगवा चुके हैं। शहरी क्षेत्र में वैक्सीनेशन कार्य अच्छा हुआ है। भोपाल शहर में प्रथम डोज 85 प्रतिशत और दूसरा डोज 25 प्रतिशत लोग लगवा चुके हैं। अन्य जिलों में हरदा की स्थिति भी बहुत अच्छी है, जहाँ 82 प्रतिशत वैक्सीनेशन हुआ है।

मध्यप्रदेश का मॉडल सराहा गया

सांसद श्री विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोविड के संकट को रोका है। जनता की भागीदारी से यह कार्य आसान हुआ। मध्यप्रदेश के मॉडल की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई है। जहाँ 25 अगस्त को वैक्सीन प्रथम और द्वितीय डोज और 26 अगस्त को वैक्सीन के दूसरे डोज पर फोकस किया जा रहा है। समाजसेवी और कार्यकर्ता पात्र लोगों को वैक्सीनेशन केंद्रों तक लाने के साथ ही उनका सहयोग भी करेंगे। श्री शर्मा ने आशा व्यक्त की कि तीसरी लहर की आशंका से बचने के लिए सरकार और सभी संगठन, दल और नागरिक मिलकर कार्य करते हुए इतिहास बनायेंगे।

मुख्यमंत्री निवास में हुई बैठक में श्री सुहास भगत, श्री हितानंद जी के अलावा मंत्री सर्वश्री गोपाल भार्गव, विश्वास सारंग, डॉ. प्रभुराम चौधरी, बिसाहूलाल सिंह, कमल पटेल, मोहन यादव, राम खेलावन पटेल, सुश्री ऊषा ठाकुर, श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, श्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह और श्री भारत सिंह कुशवाह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

=================================================================

मुख्यमंत्री चौहान ने करंज का पौधा रोपा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट उद्यान में करंज का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान अपने संकल्प के क्रम में प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं।

आयुर्वेदिक चिकित्सा में महत्वपूर्ण माने गए करंज का उपयोग धार्मिक कार्यों में भी किया जाता है।
===============================================================

मुख्यमंत्री चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री गौर को किया नमन
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री बाबूलाल गौर की द्वितीय पुण्य-तिथि पर नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. गौर की तस्वीर पर पुष्पांजलि भी अर्पित की।
================================================================

madhyapradeshnewsdiary 21 august 2021  shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,mpnews,madhyapradesh news,MPVaccinationMahaAbhiyan,todayindia,24,today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiary 21 august 2021

aum

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *