भारत का शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी(narendra modi) और पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान(imran khan) के बीच अलग से द्विपक्षीय वार्ता की संभावना से इन्‍कार।

भारत ने किर्गिजिस्‍तान की राजधानी बिशकेक में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी(narendra modi)और पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान(imran khan) के बीच अलग से द्विपक्षीय वार्ता की संभावना से इंकार किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार(ravish kumar) ने आज नई दिल्‍ली में संवाददाताओं के सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। 
जो पाकिस्‍तान की तरफ से हमने रिपोर्ट सुने हैं, देखे हैं कि काफी कुछ किया जा रहा था। लेकिन ये ध्‍यान में रखने वाली बात है कि जो वो स्‍टेप्‍स कर रहे हैं, हमारी जो डिमांड है कि वो इररिर्वसिबल है या नहीं और ये जो स्‍टेप्‍स हो रहा है वो सिर्फ दिखावा के लिए है या जेनवेन एक एक्‍शन है टेररिज्‍म के खिलाफ और उनके जो देश में टेरर इन्‍फ्रास्‍टेक्‍चर है, जो वहां पर लोग खुलेआम घूम रहे हैं, उनके खिलाफ एक्‍शन लेने लायक है या नहीं।
प्रधानमंत्री इस महीने की 13 और 14 तारीख को बिशकेक में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन के वार्षिक शिखर सम्‍मेलन में भाग लेंगे। रवीश कुमार ने यह भी बताया कि विदेश मंत्री एस. जयशंकर कल भूटान की दो दिन की यात्रा पर रवाना होंगे। मंत्रालय का कार्यभार ग्रहण करने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा है।
=======================
courtesy