(mpnews)प्रधानमंत्री के जन्म-दिवस पर 20 वर्षों के सुशासन और कल्याणकारी कार्यों के लिए दी जाएगी आदरांजलि : मुख्यमंत्री चौहान

(mpnews) प्रधानमंत्री के जन्म-दिवस पर 20 वर्षों के सुशासन और कल्याणकारी कार्यों के लिए दी जाएगी आदरांजलि : मुख्यमंत्री चौहान
todayindia,mpnews,shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,madhyapradesh news,todayindianews,24,#today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiary17 सितम्बर से 7 अक्टूबर तक होंगे कार्यक्रम
मुख्यमंत्री चौहान ने गतिविधियों और कार्यक्रमों के संबंध में ली बैठक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जन्म- दिवस 17 सितम्बर को है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में पहली बार 7 अक्टूबर 2001 को शपथ ली थी। प्रधानमंत्री श्री मोदी के 71वें जन्म-दिवस और गुजरात के मुख्यमंत्री तथा देश के प्रधानमंत्री के रूप में कार्य करते हुए सुशासन देने के लगातर सफल 20 वर्ष पूर्ण करने पर राज्य सरकार विकास कार्यों और कल्याणकारी कार्यक्रमों की शुरूआत करेगी। प्रदेश में 17 सितंबर से 7 अक्टूबर की अवधि में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होगा। यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री श्री मोदी को विनम्र आदरांजलि होंगे। मुंख्यमंत्री श्री चौहान कार्यक्रमों की तैयारी के संबंध में मंत्रालय में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्म-दिवस 17 सितंबर को वृक्षारोपण और वैक्सीनेशन महाअभियान का संचालन होगा। स्वास्थ्य, महिला-बाल विकास, पर्यावरण, किसान-कल्याण, ऊर्जा, शिक्षा, नगरीय प्रशासन, औद्योगिक विकास, ग्रामीण विकास, जल जीवन मिशन और प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से जुड़ी विभिन्न गतिविधियाँ इस अवधि में संचालित की जाएंगी। प्रदेश के गरीबों, महिलाओं, बच्चों, पिछड़ों, मजदूरों, अनुसूचित जाति और जनजाति के कल्याण और विकास के लिए कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे।

71 हजार विद्यालयों में 71 हजार छात्रों द्वारा 71 हजार पौधों का होगा रोपण

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश के 71 हजार विद्यालयों में 71 हजार छात्रों द्वारा 71 हजार पौधों का रोपण होगा। अंकुर अभियान में इन सभी पौधों की फोटो एक माह बाद अपलोड की जाएगी। वन विभाग द्वारा 63 क्षेत्रीय वन मंडलों और 8 वन विद्यालयों इस प्रकार 71 स्थानों पर वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम किए जाएंगे। किसान-कल्याण के अंतर्गत 71 बीज ग्रामों का शुभारंभ, 71 कृषक उत्पादक संगठनों का गठन और कृषि अधोसंरचना निधि के 71 प्रकरणों में राशि का वितरण किया जाएगा।

71 हजार लाड़ली लक्ष्मी को होगा छात्रवृत्ति का भुगतान

प्रदेश की 71 हजार लाड़ली लक्ष्मी को छात्रवृत्ति का भुगतान और मातृ वंदना योजना के 7100 हितग्राहियों को राशि का भुगतान किया जाएगा। कुपोषित से सामान्य श्रेणी में आये 7100 बच्चों की माताओं को पोषण अधिकार सूचना-पत्र प्रदान किए जाएंगे। प्रदेश में 71 आँगनवाड़ी, 7100 वाटिकाओं और 71 विद्यालय भवनों का लोकार्पण एवं 71 बालिका छात्रावासों का भूमि-पूजन भी इस अवधि में होगा। महिला सशक्तिकरण के अंतर्गत 7100 महिला स्व-सहायता समूहों को क्रेडिट लिंकेज सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

71 हजार आवासों में होगा गृह प्रवेश

विकास गतिविधियों के अंतर्गत 71 विद्युत उप केंद्रों का भूमि-पूजन, नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा विभिन्न नगरीय निकायों में 71विकास कार्यों का लोकार्पण/भूमि-पूजन सम्पन्न किया जाएगा। ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत निर्मित 71हजार आवासों में गृह प्रवेश कराया जाएगा। साथ ही 710 पंचायत भवनों की शुरूआत होगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 71 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 71 उप प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का भूमि-पूजन होगा। जल जीवन मिशन के अंतर्गत 71 योजनाओं का भूमि-पूजन होगा।

71 उद्योगों और 71 लघु उद्योगों के लिए भूमि आवंटन

प्रदेश में 71 उद्योगों और 71 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को भूमि आवंटन का एलओआई प्रदान किया जाएगा। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत 71 हजार लोगों को स्वामित्व पट्टा वितरित किया जाएगा।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह, कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री कमल पटेल, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सकलेचा, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्द्धन सिंह, स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार )श्री इंदर सिंह परमार, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री श्री रामखेलावन पटेल, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युमन सिंह तोमर, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा तथा पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग वर्चुअली सम्मिलित हुए।
=================================================================इथेनॉल पॉलिसी पर हुआ विचार मंथन
प्रदेश हित में नीति को शीघ्र देंगे अंतिम रूप : मुख्यमंत्री चौहान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज प्रस्तावित इथेनॉल पॉलिसी पर विचार-विमर्श हुआ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह नीति अन्य राज्यों के तुलनात्मक अध्ययन के पश्चात निर्धारित की जाए। मध्यप्रदेश में मक्का, धान और गन्ना आदि से इथेनॉल निर्माण के लिए इकाइयों की स्थापना पर विचार किया जाएगा। इस क्षेत्र में निवेश की संभावनाओं को साकार करने के लिए प्रोत्साहनकारी प्रावधान भी किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नीति के केंद्र में प्रदेश का हित होना चाहिए। सभी बिंदुओं पर आवश्यक विचार-विमर्श के पश्चात केंद्र सरकार से संपर्क कर आवश्यक सहयोग प्राप्त किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केंद्र सरकार के संबंधित मंत्रालयों और केंद्रीय मंत्रियों से भी चर्चा करेंगे।

बैठक में वाणिज्यिक कर, वित्त, योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा और मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस उपस्थित थे।
================================================================
मुख्यमंत्री चौहान ने फसलों के एम.एस.पी. में वृद्धि के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी का माना आभार
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार माना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी किसान हितैषी प्रधानमंत्री हैं। वे किसानों के हित में लगातार फैसले ले रहे हैं। प्रधानमंत्री ने गेहूँ, जौ, चना, मसूर, कुसुम के फूल और सरसों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि कर किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

प्रति क्विंटल वृद्धि

गेहूँ – 40 रूपये

चना – 130 रूपये

जौ – 35 रूपये

मसूर – 400 रूपये

सरसों – 400 रूपये

कुसुम के फूल – 114 रूपये
=================================================================मुख्यमंत्री चौहान ने रोपा अशोक का पौधा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन पौधारोपण के संकल्प के क्रम में आज स्मार्ट सिटी पार्क में अशोक का पौधा लगाया। अशोक वृक्ष सिर्फ पर्यावरण को ही शुद्ध नहीं करते, बल्कि हमारे शरीर को भी स्वस्थ करने में सक्षम हैं। अशोक का वृक्ष उद्यानों की शोभा बढ़ाने में भी महत्वपर्ण है।
=================================================================ग्रीन गणेश अभियान के अंतिम दिन 700 से अधिक लोगों ने लिया प्रशिक्षण
एप्को द्वारा गत 4 सितम्बर से संचालित ग्रीन गणेश अभियान के अंतिम दिन 700 से अधिक बच्चों और नागरिकों ने गणेश मूर्ति प्रतिमा निर्माण का प्रशिक्षण लिया। पर्यावरण परिसर में आयोजित शिविर में तकरीबन 500 लोगों ने और राज्य स्तरीय ऑनलाइन शिविर में 200 से अधिक ईको क्लब के मास्टर ट्रेनर्स प्रभारी शिक्षकों और प्राध्यापकों ने विद्यार्थियों को मूर्ति निर्माण सिखाने प्रशिक्षण दिया। मूर्ति विशेषज्ञ श्री कमलेश वर्मा ने जहाँ मूर्ति बनाना सिखाया वहीं अधिकारियों ने मिट्टी गणेश मूर्ति विसर्जन से पर्यावरण को होने लाभों की जानकारी दी।

कोरोना नहीं हरा सका जज्‍बे को

अधीक्षणयंत्री श्री जे.पी. नामदेव ने बताया कि वर्ष 2016 से गणेश चतुर्थी के पूर्व एप्को द्वारा भोपाल के विभिन्न स्थानों पर शिविर लगा कर गणेश प्रतिमा निर्माण का प्रशिक्षण दिया जाता था। परन्तु इस बार कोरोना की वजह से केवल एप्को के अरेरा कॉलोनी स्थित पर्यावरण परिसर में ही शाम 3 से 6 बजे तक पाँच दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में बैरागढ़, कोलार, इतवारा, कोहेफिजा, अवधपुरी क्षेत्र की कॉलोनियों के बच्चें भी अपने माता-पिता के साथ आये और गणेश मूर्ति बनाकर उमंग-उत्साह के साथ घर ले गए।

बैरागढ़ के असवानी परिवार ने बताया कि वे अपने बच्चे मनोमय को पर्यावरण संरक्षण और सुसंस्कारित बनाने के लिए इतनी दूर से आए है। वही गुलमोहर कालोनी की रिद्धिमा ने बताया कि हम हमारे बनाए हुए गणेश जी की पूजा करेंगे यह सोच कर ही बहुत खुशी हो रही है। बच्चों में गणेश मूर्ति बनाने का उत्साह इतना था कि 6 बजे शिविर समाप्त होने के बावजूद लोग आते रहे और रात 8 से 9 बजे तक मिट्टी के गणेश का निर्माण कर उत्साह के साथ घर ले गए। लोगों के उत्साह को देखते हुए एप्को के अधिकारी कर्मचारी भी रूके रहे।
=================================================================खजुराहो से नई दिल्ली को जोड़ने वाली वायुयान सेवा पुन: प्रारंभ की जाये
केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से श्रम एवं खनिज साधन मंत्री श्री सिंह ने किया अनुरोध
श्रम एवं खनिज साधन मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने नई दिल्ली में केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से सौजन्य भेंट की। मंत्री श्री सिंह ने बुन्देलखण्ड के विश्व विख्यात पर्यटन स्थल खजुराहो को नई दिल्ली से जोड़ने वाली वायुसेवा को पुन: प्रारंभ करने का अनुरोध किया। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 के दौरान नई दिल्ली से खजुराहो वायुयान सेवा बंद कर दी गई थी।

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अक्टूबर माह से नई दिल्ली से खजुराहो वायुयान सेवा पुन: प्रारंभ करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि खजुराहो से मुम्बई वायुयान सेवा भी शीघ्र प्रारंभ की जायेगी।
=================================================================जो अकादमी रिजल्ट नहीं देगी उसे बंद किया जायेगा : मंत्री श्रीमती सिंधिया
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा है कि प्रदेश में विभिन्न अकादमी ऑफ एक्सीलेंस संचालित हैं। वर्तमान में प्रदेश के खिलाड़ी न सिर्फ राष्ट्रीय बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं। अगर किसी भी खेल अकादमी से हमें राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी नहीं मिल रहे हैं तो ऐसी अकादमी का औचित्य नहीं है। ऐसी अकादमी को बंद किया जायेगा। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया मंगलवार को टीटी नगर स्टेडियम में हॉकी अकादमी की समीक्षा कर रही थीं।

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने ग्वालियर स्थित हॉकी अकादमी की समीक्षा में कहा कि प्रदेश के सभी अकादमी में रहने वाले खिलाड़ियों की डिजिटलाइज्ड मेडिकल फाइल बनाई जाएगी। हर अकादमी के प्रत्येक खिलाड़ी का ब्लड टेस्ट किया जायेगा। उनकी फाइल बनाई जायेगी जिसमें प्रत्येक खिलाड़ी की पर्सनल प्रोफाइल जैसे ब्लड ग्रुप, ब्लड टेस्ट की रिपोर्टस, कितने बच्चें कोरोना पॉजिटिव हुए हैं उनकी इन्ज्योरी आदि मेनटेन किया जायेगा।

मंत्री श्रीमती सिंधिया ने ग्वालियर महिला हॉकी अकादमी के निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने पॉवर प्वाइंट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से अकादमी में चल रहे निर्माण कार्यों पर विस्तृत चर्चा की। प्रमुख सचिव खेल एवं युवा कल्याण श्री गुलशन बामरा, नवागत खेल संचालक श्री रवि कुमार गुप्ता और हॉकी प्रशिक्षक श्री परमजीत सिंह उपस्थित थे।
=================================================================मंत्री सारंग ने हमीदिया और कमला नेहरू अस्पताल का किया निरीक्षण
गंभीर रूप से घायल मिसरोद की बालिका को नागपुर रेफर करवाया
किडनी ट्रांसप्लांट के लिये डॉ. की टीम की हौसला अफजाई
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने मंगलवार को हमीदिया और कमला नेहरू अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने वहाँ की तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। मंत्री सारंग गंभीर रूप से घायल मिसरोद निवासी 14 वर्षीय बालिका से मिले और उसका डाक्टर्स से हालचाल जाना। डाक्टर्स के परामर्श के बाद बालिका के उचित इलाज के लिये नागपुर रेफर करने के निर्देश दिये।

पहला किडनी ट्रासप्लांट

मंत्री श्री सारंग ने पहला किडनी ट्रांसप्लांट करने वाले हमीदिया अस्पताल में डाक्टर्स की टीम को बधाई दी। उन्होंने टीम से चर्चा कर दोनों डोनर और पेसेन्ट के स्वास्थ्य के बारे में जाना। श्री सारंग ने डॉक्टर्स की टीम की हौसला अफजाई की। उन्होंने सभी डॉक्टर्स और उनकी टीम में प्रत्येक सदस्य से मिलकर उनकी सराहना की। डॉ. सौरभ जैन, डॉ अमित जैन और डॉ. हिमांशु शर्मा के प्रयासों से प्रदेश में शासकीय अस्पताल में पहला किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है।

विभागवार सफाई अभियान

मंत्री श्री सारंग ने अस्पताल की साफ-सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखने के निर्देश दिए। इसके लिये विभागवार काम्पीटिशन भी करवाया जाये। स्वच्छता अभियान की हफ्ते में रैंकिंग भी हो।

बच्चा वार्ड में कार्टून कैरेक्टर

मंत्री श्री सारंग ने कहा कि बच्चा वार्ड में बच्चों के लिये उचित और मनोरम वातावरण निर्मित करने के उद्देश्य से मिक्की माउस जैसे कार्टून कैरेक्टर दीवारों पर प्रदर्शित कराए ताकि बच्चे उसे देखकर खुश रहने के साथ उनका मन भी बहले।

स्टेंडवाई में वेंटिलेटर की व्यवस्था

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि अस्पताल में मौसमी बीमारी के 150 बच्चे भर्ती हैं। वह खुद उनसे मिलें और उनके परिजनों से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। अस्पताल में 200 बैड की व्यवस्था है। श्री सारंग ने स्टेंडवाई में एक एक्स्ट्रा वैंटिलेटर रखवाने के निर्देश दिये।

दवाई और व्यवस्थाओं में न हो कमी

श्री सारंग ने डॉक्टर्स को हिदायत देते हुए कहा कि दवाई और व्यवस्थाओं में किसी भी प्रकार की कमी नहीं आना चाहिए। किसी भी जरूरत के समय उच्च स्तर पर अवगत करवाया जाए।

बिटिया को देख दी राशि

मंत्री श्री सारंग अस्पताल से घर जा रही तीन दिन की बिटिया को देख अपनी खुशी रोक न पाये। उन्होंने आकांक्षा-सुनील सोनी की बेटी वेदांशी को दुलार किया और 500 रूपये की राशि आशीर्वाद स्वरूप प्रदान की।

दो नये ओटी

मंत्री श्री सारंग ने डॉक्टर्स की मांग पर दो नये ऑपरेशन थिएटर नये इन्फ्रास्टेक्चर में शामिल करवाने का आश्वासन दिया। साथ ही डॉक्टर्स की टीम को जरूरत के हिसाब से आवश्यकताओं का एक संक्षिप्त विवरण तैयार कर उपलब्ध करवाने को भी कहा।

मंत्री श्री सारंग ने मरीजों के परिजनों से चर्चा की और उनकी समस्याओं का निराकरण भी करवाया। इस दौरान डीन डॉ. जितेन्द्र शुक्ला और हमीदिया के अधीक्षक डॉ. लोकेन्द्र दबे मौजूद थे।
=================================================================राज्य लोड डिस्पेच सेंटर बना सायबर सिक्योरिटी लागू करने वाला देश का पहला पॉवर यूटिलिटी
समूचे देश में लागू होगी म.प्र. पावर ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा विकसित प्रणाली
मध्यप्रदेश राज्य लोड डिस्पेच सेंटर जबलपुर पॉवर सेक्टर में सायबर क्राइसिस प्रबंधन योजना लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी के प्रबंध संचालक श्री सुनील तिवारी ने जानकारी दी है कि केन्द्र शासन के निर्देश पर मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी के स्टेट लोड डिस्पेच सेंटर के इंजीनियर्स ने विशेषज्ञ सलाहकारों की मदद लिए बिना इनहाऊस सायबर क्राइसिस प्रबंधन योजना तैयार की है। इस योजना का अनुमोदन कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी इंडिया) भारत सरकार द्वारा करवाकर इसे लागू कर दिया। यह पॉवर सेक्टरों में सायबर अटैक को रोकने अंतर्राष्ट्रीय स्तर की एक कारगर प्रणाली है। यह लोड डिस्पेच सेंटर में स्थापित सभी कम्प्यूटर प्रणालियों की सायबर सुरक्षा से संबंधित है।

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है, जिसके लोड डिस्पेच सेंटर को आईएसओ 27001 द्वारा प्रमाणित भी किया गया है। यह सर्टिफिकेट सायबर सिक्योरिटी के अनुपालन के लिए प्रदाय किया जाता है।

बिजली प्रणाली में नहीं होगा सायबर अटैक – ऊर्जा मंत्री

ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस उपलब्धि पर पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी के इंजीनियर्स को बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि प्रणाली को लागू करने का लाभ यह है कि मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी का समूचा सिस्टम बाहरी सायबर अटैक से सुरक्षित रहेगा और कोई भी हैकिंग या वायरस के माध्यम से प्रदेश की बिजली प्रणाली में छेड़छाड़ नहीं कर पाएगा। मालूम हो कि गत वर्ष मुंबई की बिजली प्रणाली इस सायबर अटैक का शिकार हुई थी, जिसके कारण मुंबई में घंटों विद्युत व्यवधान रहा था। इस घटना के बाद ही समूचे देश के पॉवर सेक्टरों को इस तरह की सायबर सुरक्षा तैयार करने के निर्देश केन्द्र शासन द्वारा दिए गए थे।

मध्यप्रदेश के लिये यह गौरव की बात है कि भारत में पॉवर सेक्टर को विभिन्न दिशा- निर्देश देने वाली संस्था पोसोको (पॉवर सिस्ट्म ऑपरेशन कार्पोरेशन लिमिटेड) और इनफार्मेशन सुरक्षा से संबंधित राष्ट्रीय नोडल एजेंसी एनसीआईआईपीसी(नेशनल क्रिटिकल इन्फार्मेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोटेक्शन सेंटर) ने मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी के द्वारा तैयार किए इस प्रबंधन योजना को पहले परीक्षण में ही अनुमोदन प्रदान कर इस प्रणाली के पॉवर सिस्टम संबंधित सभी प्रस्तावों को स्वीकार किया है। यह प्रणाली राज्य लोड डिस्पेच सेंटर जबलपुर के मुख्य अभियंता श्री के.के. प्रभाकर एवं अधीक्षण अभियंता श्री राजेश गुप्ता के प्रयास से ही संभव और तैयार हो पायी।

इससे पूर्व मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के लोड डिस्पेच सेंटर जबलपुर को एबीटी मीटरिंग प्रणाली (उपलब्धता आधारित शुल्क प्रणाली) एवं स्काडा सिस्टम लागू करने वाले देश के पहले पॉवर यूटिलिटी का दर्जा भी प्राप्त हो चुका है।
=================================================================

todayindia,mpnews,shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,madhyapradesh news,todayindianews,24,#today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiary