कॉर्ड से फोटो तो हटा दोगे कमलनाथ(Kamal Nath) जी, जनता के दिलों से कैसे हटाओगे :Shivraj Singh Chouhan शिवराजसिंह चौहान(todayindia)

पूर्व मुख्यमंत्री ने उज्जैन जिले में पाले से खराब हुई फसलों का लिया जायजा(todayindia)
भोपाल/उज्जैन। लोकतांत्रिक प्रणाली में सरकारें बदलती रहती हैं, परंतु योजना नहीं बदलतीं। लेकिन प्रदेश सरकार दुर्भावना से ग्रसित होकर भाजपा सरकार द्वारा गरीबों के लिए शुरू की गयी संबल योजना का लाभ भी पात्र लोगों तक नहीं पहुंचा रही है। उन्हें संबल योजना के कार्डों पर छपे शिवराजShivraj Singh Chouhan के फोटो से तकलीफ है। कमलनाथ जी, आप(todayindia)(todayindia)कार्ड से फोटो तो हटा दोगे परंतु प्रदेश की करोड़ों जनता के दिलों में शिवराज की जो फोटो है, उसे कैसे हटाओगे। यह बात बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चौहान ने उज्जैन में मीडिया से चर्चा के दौरान कही। श्री चौहान ने जिले में पाले के कारण खराब हुई फसलों का जायजा लिया और किसानों की समस्याएं भी सुनीं।


पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चौहानShivraj Singh Chouhan उज्जैन संभाग के दो दिवसीय दौरे पर हैं। दौरे के पहले दिन श्री सिंह ने आगर जिले के पाला प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण किया एवं दूसरे दिन श्री सिंह प्रातः 11 बजे उज्जैन पहुंचे। मकोड़िया चौराहे पर उज्जैन उत्तर के विधायक श्री पारस जैन एवं नगराध्यक्ष श्री विवेक जोशी के साथ सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। स्थानीय सर्किट हाउस में किसानों के प्रतिनिधिमण्डल ने भी श्री चौहान का स्वागत कर उन्हें खराब हुई फसलों की जानकारी दी। पूर्व मुख्यमंत्री ने इस दौरान मीडिया से चर्चा भी की।


किसानों को तुरंत राहत दे सरकार
मीडिया से चर्चा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह ने कहा कि कमलनाथ(Kamal Nath) सरकार किसानों के मामले में संवेदनशीलता बरतते हुए तुरंत पाला प्रभावित फसलों की क्षति का आकलन कराए। नुकसान के हिसाब से किसानों को तुरंत राहत प्रदान करने का कार्य करे। उन्होंने कहा कि अन्यथा भारतीय जनता पार्टी किसानों के हितों की लड़ाई सड़कों पर भी लड़ेगी। श्री चौहान ने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वो अपने आप को अकेला ना समझें, पूरी भारतीय जनता पार्टी के साथ शिवराज आपके लिए खड़ा है। उन्होंने कहा कि पहले हम कलम की ताकत से आदेश देकर राहत पहुँचाने का काम करते थेए अब हम संघर्ष कर के किसान भाइयों को राहत दिलाने का काम करेंगे।

रंग-बिरंगे आवेदन भरवाकर रंग बदल रही सरकार
श्री चौहान ने कहा कि मैं काँग्रेस को उनके वचन पत्र की याद दिलाते हुए कहना चाहता हूँ कि आपने प्रत्येक किसान का 2 लाख तक का कर्ज़ माफ करने की घोषणा की थी, फिर अब किन्त, परंतु और आवेदन भरवाने की प्रक्रिया क्यों ? उन्होंने कहा कि इतने किन्तु, परंतु के बीच ये भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि किसका कर्जा माफ होगा और किसका नहीं। श्री चौहान ने काँग्रेस सरकार की कर्जमाफ़ी की योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार कर्ज माफ़ी के नाम पर अलग-अलग रंगों के आवेदन भरवाकर प्रदेश के किसानों को भ्रमित कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास सहकारी एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्जदार किसानों की सूची है, उसके माध्यम से सरकार किसानों की दो लाख तक की कर्जमाफ़ी कर के किसानों को प्रमाण पत्र सौंपे। उन्होंने कहा कि मैं सरकार से कहना चाहता हूं कि जो वादे आपने सत्ता हासिल करने के लिए प्रदेश की जनता से किए हैं, उन्हें जल्द से जल्द अक्षरशः पूरा करें।

प्रक्रिया लंबी करके समय काट रही सरकार
श्री चौहान ने प्रदेश की काँग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि किसानों की कर्जमाफ़ी को लेकर सरकार अपनी मंशा स्पष्ट करे। कहीं सरकार इन आवेदनों की आड़ में महीने दो महीने का समय तो काटना नहीं चाहती है, जिससे कि लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लग जाये और काँग्रेस इसका बहाना लेकर कर्जमाफ़ी से पल्ला झाड़ सके। उन्होंने कमलनाथ सरकार को वचन पत्र की याद दिलाते हुए कहा कि आपने कहा था कि बिजली का बिल हॉफ होगाए फिर अब क्या हुआ। बिल हॉफ करना तो दूर कई जगह तो संबल योजनाओं के पोर्टल तक ने काम करना बंद कर दिया है।