केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह और मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमर शहीद राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर दी श्रद्धांजलि

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह और मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमर शहीद राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर दी श्रद्धांजलि
todayindia,mpnews,shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,madhyapradesh news,todayindianews,24,#today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiaryआजादी के अमृत महोत्सव पर बलिदानी पिता-पुत्र की प्रतिमा पर किए श्रद्धा-सुमन अर्पित
केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आजादी के अमृत महोत्सव पर देश और धर्म की रक्षा के लिए प्राणों की आहुति देने वाले जनजातीय नायक अमर शहीद राजा शंकर शाह और उनके पुत्र कुंवर रघुनाथ शाह के 164वें बलिदान दिवस पर आज मालगोदाम चौक पहुँचकर यहाँ स्थापित उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह को मुख्यमंत्री श्री चौहान और केन्द्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री कुलस्ते ने स्वाधीनता आंदोलन के नायक राजा शंकरशाह एवं कुंवर रघुनाथ शाह की मंडला जिला स्थित पवित्र जन्म स्थली और रामनगर मंडला में स्थापित गोंडवाना साम्राज्य के राजस्तंभ का चित्र भेंट किया।

आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के अंतर्गत केन्द्रीय गृहमंत्री श्री शाह और मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गोंडवाना साम्राज्य के राजा शंकर शाह एवं कुंवर रघुनाथ शाह की बलिदान गाथा का स्मरण किया। गोंडवाना साम्राज्य के राज परिवार को प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में भारत के रजवाड़ों में प्रथम बलिदानी होने का गौरव हासिल है, जिन्हें तोप के मुंह से बांधकर मृत्यु दी गई।

कार्यक्रम में केन्द्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते, केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण एवं जलशक्ति राज्य मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल, केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री श्री रामेश्वर तेली, सांसद श्री वी.डी. शर्मा, श्री राकेश सिंह, गृह, जेल, संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, जबलपुर जिले के प्रभारी एवं लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, जनजातीय कार्य, अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह, सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री श्री अरविंद भदौरिया, राज्यसभा सांसद श्रीमती संपतिया उइके और विधायक श्रीमती नंदनी मरावी उपस्थित रहे।
=================================================================मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 1857 के अमर बलिदानी राजा शंकर शाह तथा रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर उन्हें नमन किया।
मुख्यमंत्री चौहान ने निवास स्थित सभागार में उनके चित्र पर माल्यार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमर बलिदानियों के बलिदान को स्मरण करते हुए मीडिया को स्मार्ट पार्क में दिए संदेश में कहा कि आज राजा शंकर शाह तथा रघुनाथ शाह का बलिदान दिवस है। भारत माता के पैरों से परतंत्रता की बेड़ियाँ काटने के लिए उन्होंने अपना सर्वत्र न्यौछावर कर दिया था। कुछ लोगों की गद्दारी के कारण समय से पहले क्रांति की योजना का खुलासा हो गया था। बाद में वे गिरफ्तार किए गए और तोपों के मुँह से बांधकर उनको उड़ा दिया गया। लेकिन उससे पहले उनसे पूछा गया कि आपकी अंतिम इच्छा क्या है। उन्होंने क्रांति की वह कविता जो चारों तरफ क्रांति की ज्वालाएँ धधका रही थी, उसको फिर से पढ़ने की इच्छा व्यक्त की। उन्होंने मुस्कुराते हुए कविता पढ़ते–पढ़ते अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया। हम आजादी का 75 वां साल मना रहे हैं। आज राजा शंकर शाह तथा रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर जबलपुर में कार्यक्रम आयोजित है। कार्यक्रम में केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह पधार रहे हैं।

यह थी कविता

मूंद मुख डंडिन को, चुगली को चबाई खाई।

खूंद डार दुष्टन को, शत्रु संहारिका।

मार अंगरेज, रेज कर देई मात चंडी

बचै नाहिं बैरी- बाल-बच्चे संहारिका॥

….

संकर की रक्षा कर, दास प्रतिपाल कर,

दीन की पुकार सुन आय मात कालका।

खाइले मलेछन को, देर नाहीं करौ मात,

भच्छन कर तच्छन भौर मात कालिका॥

संक्षिप्त जानकारी

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जबलपुर नगर का भाग हो चुके पुवा ग्राम में राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह का निवास था। यहीं रहकर उन्होंने गुप्त रूप से 1857 महासंग्राम में सैनिकों को क्रांति में भाग लेने के लिए प्रेरित किया। जबलपुर की 52वीं रेजीमेंट के सिपाही इस सिलसिले में अकसर राजा शंकर शाह के घर जाया करते थे। अपने क्रांतिकारी साथियों और 52वीं रेजीमेंट के सैनिकों के साथ मिलकर पिता-पुत्र ने क्रांति की योजना बनाई। लेकिन गद्दार ने यह सूचना अंग्रेजों तक पहुँचा दी। गुप्तचर से सूचना मिलते ही 14 सितम्बर 1857 को राजा और उनके पुत्र व अनुयायियों सहित 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया। राजा के घर की तलाशी ली गयी। इसमें क्रांति संगठन के दस्तावेजों के साथ राजा शंकर शाह द्वारा लिखित एक कविता मिली। दोनों क्रांतिवीर पिता-पुत्र को बंदी बनाकर सैनिक जेल में रखा गया। राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह की गिरफ्तारी से सैनिकों और जनता में आक्रोश बढ़ गया। तुरंत डिप्टी कमिश्नर और दो अंग्रेज अधिकारियों की एक औपचारिक सैनिक अदालत बैठायी गयी। अदालत में न्याय का नाटक चला और देशद्रोही कविता लिखने के जुर्म में राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह को मृत्यु-दण्ड देने का फैसला दिया गया। 18 सितम्बर 1857 को जबलपुर में फाँसी परेड हुई। राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह को जेल से लाया गया और तोप के मुँह से बांध दिया गया। तोप चलते ही दोनों के अंग क्षत-विक्षत होकर चारों ओर बिखर गए। अंग्रेज, राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह को तोप से उड़ा क्रांति की आग बुझाना चाहते थे। लेकिन वह आग बुझी नहीं बल्कि दावानल बन गई।
=================================================================मुख्यमंत्री चौहान ने लगाया कदम्ब का पौधा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन पौधा लगाने के क्रम में आज स्मार्ट सिटी पार्क में कदम्ब का पौधा लगाया। कदम्ब फूलदार वृक्ष है। इसके पत्ते महुए के पत्तों जैसे तथा फल नींबू की तरह गोल होते हैं। यह हरियाली बढ़ाने और पर्यावरण की दृष्टि से महत्वपूर्ण है।
=================================================================बायोडिग्रेडेबल कैरी बैग को जीएसटी की दर 5 प्रतिशत रखें
श्री देवड़ा ने जीएसटी काउंसिल बैठक में दिया सुझाव
पर्यावरण संरक्षण और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने बायोडिग्रेडेबल कैरी बैग को जीएसटी की दर 5 प्रतिशत रखने का सुझाव दिया है। आज लखनऊ में जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक में भाग लेने पहुँचे श्री देवड़ा ने यह सुझाव दिया। केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमति निर्मला सीतारमण ने बैठक की अध्यक्षता की।

केरल उच्च न्यायालय के निर्णय के अनुसार काउंसिल ने पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार-विमर्श की प्रक्रिया शुरू कर उचित समय पर निर्णय लिया जायेगा।

कोविड-19 की जीवन रक्षक दवाओं पर जारी छूट की अवधि को 31 दिसंबर 2021 तक बढ़ाया गया। बैठक में कुछ इनवर्टेड ड्यूटी स्ट्रक्चर वाली वस्तुओं पर कर की दरों में संशोधन कर इस प्रभाव को समाप्त किया गया। कुछ वस्तुओं पर कर की दर के संबंध में तथा प्रावधानों के संबंध में स्पष्टीकरण जारी करने का अनुमोदन किया गया।

केन्द्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि जून 2022 के बाद क्षतिपूर्ति की व्यवस्था समाप्त होने पर राज्यों को राजस्व का नुकसान नहीं होने के उपायों के लिए दो मंत्री समूहों का गठन किया जाएगा जो दो माह में रिपोर्ट देंगे।

कुछ वस्तुओं के विभिन्न प्रकारों पर अलग-अलग कर की दरों की विसंगति को दूर करने के लिए एक समान कर की दरें की गईं, जैसे विभिन्न प्रकार के पेन, पेपर बेग। बैठक में विभिन्न राज्यों के उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री उपस्थित रहे।
================================================================
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस पर दिव्यांगों को उपकरण वितरित : परिवहन मंत्री राजपूत
परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के जन्म-दिन पर पूरे देश में सरकार एवं संगठन के द्वारा बड़े ही उमंग और उत्साह के साथ जन्मदिन मनाया जा रहा है। आज जो कार्यक्रम हुए है वे वास्तव में दिल को छू लेने वाले थे। मंत्री श्री राजपूत दमोह में प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज केंद्रीय मंत्री श्री पहलाद पटेल द्वारा दिव्यांग जनों के लिए मोट्रेटसाइकिल वितरित की गई है, दिव्यांगजनों के दिल एवं उनके परिवार से जो दुआ निकलेंगे सही मायने में वह उस व्यक्ति नेता उस महान व्यक्तित्व जिसका आज जन्मदिन है, उन्हें पहुँचेंगी। प्रधानमंत्री जी की सोच के अनुसार एक सप्ताह तक पौधारोपण सहित अन्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा आप सभी स्वस्थ रहें, खुशहाल रहें, प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सभी खुशहाल रहें यही मेरी कामना है।

इस अवसर पर केन्द्रीय खाद्य प्र-संस्करण तथा जल शक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार में प्रत्येक पात्र हितग्राही को जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है। सभी के पास आवास, शौचालय, रसोई गैस हो सभी सुखी और निरोगी रहें इस प्रकार की व्यवस्था को लेकर सरकार अपना कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि आप सभी याचक नहीं अपितु दाता हैं, आपने अपने मत को देकर हमें सेवा करने का मौका दिया है इसलिये हमसे बड़े आप हैं और जन की सेवा करने का हम सभी का दायित्व है जिसको हम निभा रहे हैं। श्री पटेल ने किसान और गरीब की कहानी के माध्यम से उपस्थितों को चिंतन मनन करने मजबूर कर दिया।

उन्होंने कहा कि सपने वह होते हैं अच्छे जो किसी को सोने नहीं देते और अपने वह होते हैं अच्छे जो किसी को रोने नहीं देते हैं, ऐसे भारत के प्रधानमंत्री जी हैं जो कभी किसी की आँख में आँसू नहीं देखना चाहते हैं, हम सभी लोग भाग्यशाली है आज उनके जन्मदिन मना रहे हैं, उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएँ।

इस अवसर पर वेयरहासिंग लॉजिस्टिक एवं कारपोरेशन अध्यक्ष श्री राहुल सिंह लोधी, विधायक हटा श्री पी.एल. ततुवाय, विधायक जबेरा श्री धर्मेन्द्र सिंह लोधी, कलेक्टर श्री एस. कृष्ण चैतन्य, सांसद प्रतिनिधि श्री नरेंद्र बजाज सहित अधिकारीगण एवं हितग्राही उपस्थित थे।
=================================================================

todayindia,mpnews,shivrajsinghchouhan,mpcm,madhyapradesh chiefminister,chiefminister of madhyapradesh,madhyapradesh news,todayindianews,24,#today india,madhyapradeshnewsdiary,madhyapradeshnewsdiary