(todayindia) शहरी भारत को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया

(todayindia) शहरी भारत को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया
स्‍वच्‍छ भारत मिशन-शहरी ने शहरों में खुले में शौच से मुक्ति का अपना लक्ष्‍य प्राप्‍त कर लिया है। 35 राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के शहरी क्षेत्र खुले में शौच से मुक्‍त हो गये हैं। देश के चार हजार तीन सौ 72 में से चार हजार तीन सौ 20 शहरों ने स्‍वयं को खुले में शौच में मुक्‍त घोषित किया है।(todayindia)

इनमें से चार हजार एक सौ 67 शहरों के दावों का सत्‍यापन तीसरे पक्ष ने किया। देश के शहरी भागों को खुले में शौच से मुक्‍त करने के लिए 59 लाख घरों में शौचालय बनाने का लक्ष्‍य रख गया था लेकिन इससे कहीं अधिक लगभग 65 लाख 81 हजार शौचालय बनाये गये। इनके आलावा बड़ी संख्‍या में शहरों में सार्वजनिक शौचालयों का भी निर्माण कराया गया था।

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने सभी सार्वजनिक शौचालयों की गूगल मैप्‍स पर गिनती करायी है। दो हजार तीन सौ शहरों ने गूगल मैप्‍स पर 57 हजार से अधिक सार्वजनिक शौचालयों की मौजूदगी दर्ज की है। इन शहरों में भारत की शहरी जनसंख्‍या का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्‍सा रहता है।

इस वर्ष आरम्‍भ किये गये स्‍वच्‍छता ही सेवा अभियान में तीन हजार दो सौ शहरों में सात करोड़ से अधिक शहरी निवासियों ने भागीदारी की।

स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण अगले साल चार जनवरी से आरम्‍भ होगा और 31 जनवरी तक चलेगा(todayindia)
===================
courtesy