(todayindia) देवेन्‍द्र फडणवीस दोबारा मुख्‍यमंत्री बने। एनसीपी नेता अजित पवार(Ajit Pawar) ने उपमुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली।

(todayindia)
एनसीपी नेता अजित पवार(Ajit Pawar) ने उपमुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली।आज तड़के राष्‍ट्रपति शासन समाप्‍त करने के बाद भाजपा नेता देवेन्‍द्र फडणवीस को मुख्‍यमंत्री और राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अजित पवार(Ajit Pawar) को उप मुख्‍यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई।(todayindia)(Ajit Pawar)(dhananjay munde) राज्‍यपाल भग‍त सिंह कोश्‍यारी ने दोनों नेताओं को मुम्‍बई में राजभवन में एक सादे समारोह में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

शपथग्रहण समारोह के बाद संवाददाताओं से बातचीत में श्री फडणवीस ने कहा कि महाराष्‍ट्र के लोगों ने चुनाव में स्‍पष्‍ट जनादेश दिया था, लेकिन शिवसेना ने अन्‍य राजनीतिक दलों के साथ गठजोड़ की कोशिशें कीं। उन्‍होंने कहा कि महाराष्‍ट्र को स्थिर सरकार की जरूरत है, न कि खिचड़ी सरकार की।

हमने हमारा दावा आदरणीय राज्‍यपाल जी को पेश किया। उस दावे की पुष्टि करते हुए आदरणीय राज्‍यपाल जी ने माननीय राष्‍ट्रपति जी से अनुशंसा की कि राष्‍ट्रपति शासन वापस लिया जाए और राष्‍ट्रपति शासन वापस लेने के बाद आज यहां पर हमको माननीय राज्‍यपाल जी ने शपथ का निमंत्रण दिया। मैंने और श्री अजीत दादा पवार इन्‍होंने शपथ ली है। मैंने मुख्‍यमंत्री पद की ली है उन्‍होंने उपमुख्‍यमंत्री पद की ली है।

संवाददाताओं से बातचीत में उप मुख्‍यमंत्री अजित पवार(Ajit Pawar) ने कहा कि विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद से आज तक कोई भी अन्‍य पार्टी महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने की स्थिति में नहीं थी। इससे किसानों समेत राज्‍य के लोगों को समस्‍याओं का सामना करना पड़ रहा था। इसीलिए उन्‍होंने राज्‍य में स्थिर सरकार देने के लिए यह कदम उठाया।

महाराष्‍ट्र में अलग-अलग प्रॉब्‍लम हैं ज्‍यादा करके फार्मस के जो प्रॉब्‍लम हैं, बाकि लोगों के जो प्रॉब्‍लम्‍स है वो हल करने के लिए लोगों ने चुना हुआ अगर गर्वेमेंट आता है तो उसमें से अच्‍छे से रास्‍ता निकालना को मदद हो सकती है। डिसीजन जल्‍द से जल्‍द हम ले सकते हैं। इसलिए हमने ये सब निर्णय लिया और अच्‍छा गर्वेमेंट हमने स्‍थापित किया है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देवेन्‍द्र फडणवीस और उपमुख्‍यमंत्री अजित पवार(Ajit Pawar) को बधाई दी है। एक ट्वीट संदेश में प्रधानमंत्री ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया है कि नई सरकार महाराष्‍ट्र के उज्‍जवल भविष्‍य के लिए कड़ी मेहनत से कार्य करेगी।

केन्‍द्रीय मंत्री अमित शाह और नितिन गड़करी ने भी दोनों नेताओं को शुभकामनाएं दी हैं।

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि शिवसेना ने गठबंधन से अलग होकर विश्‍वासघात किया है।

महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष और विधायक चंद्रकांत पाटिल ने शनिवार को राज्य में भाजपा-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा का एक धड़ा) सरकार बनने के बाद कहा कि सरकार अपने 5 वर्षों का कार्यकाल पूरा करेगी। पाटिल ने कहा कि देवेन्‍द्र फडणवीस और अजित पवार(Ajit Pawar) की सरकार 5 वर्षों का कार्यकाल आसानी से पूरा करेगी।
उन्होंने शिवसेना के नेता संजय राउत को अब शांत बैठे रहने की भी सलाह दी। उन्होंने राउत पर शिवसेना को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाने का भी आरोप लगाया। महाराष्ट्र की जनता ने भाजपा और शिवसेना को महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए जनमत दिया था लेकिन शिवसेना ने जनता के जनमत का अनादर करते हुए भाजपा के साथ सरकार बनाने को मना कर दिया।

महाराष्‍ट्र की जनता ने जो आदेश दिया था, जनादेश दिया था, वो भारतीय जनता पार्टी को दिया था। बीजेपी, शिवसेना एलायंस में थी। शिवसेना को जो वोट मिले वो बीजेपी के साथ है, इसलिए मिले। मोदी जी और फडनवीस सरकार के काम के कारण मिले। उसका शिवसेना ने विश्‍वासघात किया और इसीलिए आज सच्‍चाई की जीत हुई है।

इस बीच, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने स्‍पष्‍ट किया है कि महाराष्‍ट्र में सरकार के गठन के लिए भाजपा को समर्थन देने का फैसला उनके भतीजे अजित पवार का व्‍यक्तिगत निर्णय है। मुम्‍बई में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ संयुक्‍त संवाददाता सम्‍मेलन में शरद पवार ने कहा कि अजित पवार का फैसला पार्टी की नीति के खिलाफ है और अनुशासनहीनता है। राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का कोई भी नेता या कार्यकर्ता एनसीपी-भाजपा गठबंधन सरकार के गठन के पक्ष में नहीं है। उन्‍होंने कहा कि जो विधायक भाजपा के साथ जा रहे हैं, उन्‍हें यह जान लेना चाहिए कि देश में दल-बदल विरोधी कानून है और इसके अंतर्गत उनकी सदस्‍यता समाप्‍त हो सकती है। श्री पवार ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों को बहुत जल्‍द एक मंच पर लाया जाएगा।

पत्रकार वार्ता में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी ने महाराष्‍ट्र के हित में हरसंभव प्रयास किया है।
सरकार बनाने में विफल रही शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा है कि यह छत्रपति शिवाजी महाराज की धरती पर ‘फर्जिकल स्ट्राइक’ है और राज्य की जनता इसका करारा जवाब देगी।

ठाकरे ने राकांपा नेता शरद पवार के साथ शनिवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में यह राजनीतिक घटनाक्रम रात के अंधेरे में हुआ जो चौंकाने वाला है। शिवसेना अंधेरे में नहीं बल्कि जो भी करती है, दिन के उजाले में करती है।

मुंबई में मीडिया को संबोधित करते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के नेता सरकार बनाने के लिए एकसाथ आए। उनके पास पर्याप्‍त सदस्‍य भी थे, जिनकी कुल संख्‍या 170 के आसपास थी। उन्‍होंने दोहराया कि अजीत पवार का फैसला पार्टी के खिलाफ है और अनुशासनहीन है। उन्‍होंने बताया कि प्रक्रिया के अनुसार उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि आज शाम चार बजे पार्टी के विधायक दल का नया नेता चुना जाएगा। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बताया कि शिवसेना ने जो किया वो सामने किया, पीठ पीछे कुछ भी नहीं किया। उन्‍होंने यह भी कहा कि कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना अब साथ रहेंगे। माधुरी पांगे, आकाशवाणी समाचार, मुंबई।

कांग्रेस ने मुम्‍बई में पार्टी कार्यालय में अपने नेताओं की बैठक बुलाई है। पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी वेणुगोपाल इस बैठक में मौजूद रहेंगे।

महाराष्‍ट्र में सरकार के गठन को लेकर जारी राजनीतिक गतिरोध को देखते हुए इस महीने की 12 तारीख को राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन लागू किया गया था। 288 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा 105 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी। शिवसेना ने 56, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटें जीती थीं।

इस बीच, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायकों को गुमराह किया गया था और अब वे वापस पार्टी के साथ लौट रहे हैं। संवाददाताओं से बातचीत में उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि अन्‍तत: शिवसेना, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस की सरकार बनेगी।

कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने कहा है कि इस मामले में कांग्रेस की अनावश्‍यक रूप से बदनामी हुई और शिवसेना के साथ गठबंधन के बारे में सोचना एक भूल थी।

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने मुंबई में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज का दिन महाराष्‍ट्र के इतिहास में एक काला धब्‍बा है। उन्‍होंने कहा कि आज तड़के जल्‍दबाजी में की गई इस पूरी कार्यवाही में कहीं कुछ गड़बड़ अवश्‍य है। उन्‍होंने कहा कि इससे शर्मनाक कुछ और नहीं हो सकता। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि कांग्रेस पार्टी राजनीतिक और कानूनी तौर पर इससे निपटेगी। श्री पटेल ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि कांग्रेस, शिवसेना और एन०सी०पी० मिलकर महाराष्‍ट्र में सरकार बनाएंगे।(todayindia)(Ajit Pawar)
देवेन्द्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की और अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। शपथ ग्रहण के बाद महाराष्ट्र की सियासी उठापटक को लेकर लोग सोशल मीडिया पर मीम बनाकर पोस्ट कर रहे हैं। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और प्रवक्ता संजय राउत का मजाक उड़ रहा है।
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है। उन्होंने भरोसा जताया कि महाराष्ट्र में भाजपा के नेतृत्व वाली नई सरकार सदन में विश्वासमत जीतेगी।
शनिवार शाम को घटनाक्रम फिर बदलता दिखा, जब शरद पवार ने राकांपा विधायकों की बैठक बुलाई। इसमें पार्टी के 54 में से 42 विधायक पहुंचे। बताया जा रहा है कि इनमें 7 विधायक ऐसे है जो कि सुबह राजभवन में अजित पवार के साथ थे। उधर, शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा फडणवीस के शपथ ग्रहण के खिलाफ रात 10 बजे तक सुप्रीम कोर्ट पहुंचेंगे।
राकांपा ने अजित पवार की जगह विधायक दल का नया नेता चुनने के लिए शरद पवार की अध्यक्षता में बैठक बुलाई है। पार्टी नेता धनंजय मुंडे भी इसमें शामिल होने के लिए वाईवी चव्हाण सेंटर पहुंचे। इससे पहले राकांपा सांसद दो अन्य विधायक उपमुख्यमंत्री अजित पवार को मनाने के लिए पहुंचे, लेकिन उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा। अजित अपने भाई श्रीनिवास के आवास पर थे। यहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी है। कांग्रेस के सभी विधायक जयपुर भेजे जा सकते हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पार्टी के विधायकों को स्वागत है। उनकी सुरक्षा करना हमारा फर्ज है।

महाराष्ट्र के विकास को रफ्तार देगी नई सरकारः राकेश सिंह
भोपाल। देवेंद्र फड़नवीस और श्री अजीत पंवार के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र की नई सरकार प्रदेश को स्थिरता प्रदान करेगी तथा राज्य के विकास को नई गति प्रदान करेगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद श्री राकेश सिंह ने महाराष्ट्र की नई सरकार को शुभकामनाएं देते हुए कही।

प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री फड़नवीस, उप मुख्यमंत्री श्री पंवार एवं महाराष्ट्र की जनता को नई सरकार के गठन पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की पिछली सरकार के कामकाज एवं भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर भरोसा जताते हुए महाराष्ट्र की जनता ने भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को जनादेश दिया था। भारतीय जनता पार्टी ने श्री अजीत पंवार के सहयोग से सरकार बनाकर उस जनादेश का सम्मान किया है।

उन्होंने आशा जताई कि श्री देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व वाली नई सरकार महाराष्ट्र को विकास के अगले सोपान तक पहुंचाने के लिए निरंतर प्रयास करेगी।
(todayindia)(Ajit Pawar)(dhananjay munde)
================
courtesy