(todayindia) पीएससी के प्रश्नपत्र में भील समाज को शराबी , आपराधिक प्रवर्ति का बताना शर्मनाक |

(todayindia)(mpnews)
पीएससी के प्रश्नपत्र में भील समाज को शराबी आपराधिक प्रवर्ति का बताना शर्मनाक |
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने पीएससी के प्रश्नपत्र आदिवासियों को आपराधिक प्रवर्ति का बताना बेहद शर्मनाक है | उन्होंने कहा की आदिवासियों का देश की आज़ादी के इतिहास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है | ये हमारी संस्कृति के रक्षक है | भोले -भाले भीलो को आपराधिक प्रवर्ति का बताया जाना सम्पूर्ण(todayindia)(mpnews)(madhyapradesh news)(madhyapradesh samachar)(bhopal news) आदिवासी समाज का अपमान है | पहले आदिवासी विधायकों का अपमान और अब सम्पूर्ण भील समाज को इस तरह कहना , प्रदेश सरकार की आदिवासी सोच को उजागर करता है |
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने पीएससी के प्रश्नपत्र में भीलो को शराबी और आपराधिक प्रवर्ति का बताये जाने पर कहा की जिस भील समाज में टंटया भील जैसे राष्ट्रभक्त पैदा हुए | जिनके लिए हम आदर और सम्मान से सिर झुकाते है | उस मेहनतकश भील समाज को शराबी और अपराधी बताना मध्यप्रदेश सरकार के लिए शर्म की बात है |

सोमवार को झाबुआ के कांग्रेस विधायक व आदिवासी विकास परिषद् के अध्यक्ष कांति लाल भूरिया ने पीएससी के जवावदारो पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है | भील समाज का अपमान बताते हुए भूरिया ने कहा की समाज को जानभूझ कर टारगेट करते हुए यह प्रश्न दिए गए है |(todayindia)(mpnews)(madhyapradesh news)(madhyapradesh samachar)(bhopal news)
=============
courtesy