(todayindia) उत्तर प्रदेश में पुलिस ने, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू की

(todayindia)
उत्तर प्रदेश में पुलिस ने, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू की | उत्‍तर प्रदेश में सभी जिलों में स्थिति सामान्‍य है और कहीं से किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। वाराणसी, चंदौली और अलीगढ़ सहित कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं 48 घंटे बाद बहाल हो गई हैं, हालांकि कुछ शहरों में इस पर(todayindia)(CAA)अब भी रोक लगी है। राज्‍य के पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। अफवाहों को रोकने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी समाज के प्रभावशाली लोगों से संपर्क कर रहे हैं ताकि वे समाज में सही संदेश प्रचारित कर सकें। लखनऊ के जिलाधिकारी और वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक ने आज ईदगाह में उलेमाओं से मुलाकात कर उनसे शांति के लिए अपील करने का अनुरोध किया।

इस बीच, पुलिस ने राज्‍य के विभिन्‍न जिलों में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने में शामिल उपद्रवियों की संपत्ति को जब्‍त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने कहा कि पूरे राज्‍य में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। राज्‍य में आगजनी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में अब तक आठ सौ उन्‍यासी लोगों को हिरासत में लिया गया है। रात में भी चौकसी बरती जा रही है। श्री सिंह ने कहा कि कई शहरों में प्रदर्शनों के दौरान भड़की हिंसा में दो सौ 88 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।(todayindia)(CAA)
==================
courtesy