4 August 2021 ki Top News-Current Affairs

4 August 2021 ki Top News-Current Affairs                                todayindia,todayindia news,today india,topnews4august2021,currentaffairs,4august2021kikhaskhabren,studymaterial,competativeexamstudymaterial

मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलंपिक में आज कांस्य पदक जीता

• राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लवलीना बोरगोहेन को उनके प्रदर्शन के लिए बधाई दी

• लवलीना को बधाई देते हुए खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा, भारत को आप पर गर्व है

मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने आज सेमीफाइनल में तुर्की की विश्व चैंपियन बुसेनाज सुरमेनेली से हारने के बाद 69 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता। यह टोक्यो ओलंपिक में देश का तीसरा पदक है। इससे पहले पी वी सिंधु ने बैडमिंटन में कांस्य पदक जीता था जबकि मीरा बाई चानू ने भारोत्तोलन में रजत पदक जीता था। राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर और देश के कोने-कोने से लोगों ने लवलीना बोरगोहेन को उनकी उपलब्धि के लिए बधाई दी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर लवलीना बोरगोहेन को बधाई दी। श्री कोविंद ने ट्वीट कर कहा कि, “लवलीना बोरगोहेन को बधाई! आपने अपनी कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय से देश को गौरवान्वित किया है। ओलंपिक खेलों में मुक्केबाजी में आपका कांस्य पदक युवाओं, विशेषकर युवा महिलाओं को चुनौतियों से लड़ने और अपने सपनों को हकीकत में बदलने के लिए प्रेरित करेगा।“
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर मुक्केबाज लवलीना को बधाई दी। श्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि, “लवलीना बोरगोहेन ने अच्छे खेल का प्रदर्शन किया! बॉक्सिंग रिंग में उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है। उनका तप और दृढ़ संकल्प सराहनीय है। उन्हें कांस्य जीतने पर बधाई। उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।”

युवा मामले और खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने भी मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर बधाई दी। श्री ठाकुर ने ट्वीट कर कहा कि, “लवलीना ने अपना सर्वश्रेष्ठ पंच दिया और उन्होंने जो हासिल किया, भारत को उस पर बहुत गर्व है। उन्होंने अपने पहले ओलंपिक में ही कांस्य पदक हासिल किया है और सफर अभी शुरू ही हुआ है।”

लवलीना का जन्म दो अक्टूबर 1997 को हुआ था और वह असम के गोलाघाट जिले की रहने वाली हैं। उनके पिता टिकेन एक छोटे स्तर के व्यवसायी हैं और अपनी बेटी की महत्वाकांक्षा का समर्थन करने के लिए उन्हें वित्तीय संघर्ष करना पड़ा। अपनी जुड़वां बहनों लीचा और लीमा के पदचिन्हों पर चलते हुए, असमिया ने सबसे पहले किकबॉक्सिंग की। जब वह अपने पहले कोच पदुम बोरो से मिलीं, तब उनके जीवन ने एक अहम मोड़ लिया। भारतीय खेल प्राधिकरण के शिलॉन्ग और दीमापुर केंद्रों में काम करने वाले बोरो ने उनका मुक्केबाजी से परिचय कराया और तब से लवलीना ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। मुक्केबाजी में लगाव के बाद, लवलीना हमेशा एक अवसर की तलाश में रहती थी और यह कुछ ही महीनों में आ गया। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) बारपत्थर गर्ल्स हाई स्कूल में परीक्षण कर रहा था जहाँ लवलीना पढ़ाई कर रही थीं और उन्होंने ट्रायल्स में भाग लेते हुए अपना कौशल दिखाया। इस तरह बोरो ने देखा कि उनकी इस असाधारण प्रतिभा ने 2012 से अपना कौशल दिखाना शुरू कर दिया था। लवलीना ने शिखर तक पहुंचने की अपनी यात्रा में उस समाज से लड़ाई लड़ी, जो एक महिला होने के चलते मुक्केबाजी में उनकी रुचि पर सवाल उठाता था। लेकिन इसने लवलीना की आकांक्षाओं को बिखरने नहीं दिया, जिससे उन्हें पहली बड़ी सफलता 2018 में विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक के जीतने के साथ मिली। टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए क्वालीफाई करने के बाद, वह असम के इतिहास में, ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली महिला बनीं।

व्यक्तिगत विवरण

जन्म तिथि: 02 अक्टूबर 1997

गृह स्थान: गोलाघाट, असम

प्रशिक्षण शिविर: असीसी, इटली

निजी कोच: सुश्री संध्या गुरुंग

राष्ट्रीय कोच: मोहम्मद अली कमर

उपलब्धियां:-

– कांस्य पदक विजेता 2018 और 2019 विश्व चैंपियनशिप

– कांस्य पदक विजेता 2017 और 2021 एशियाई चैंपियनशिप

मुख्य सरकारी सहायता:-

· लवलीना के कोविड-19 से ठीक होने के बाद गुवाहाटी में एक महीने का व्यक्तिगत प्रशिक्षण शिविर

· उपकरणों की खरीद के लिए मदद

· कोविड-19 का संक्रमण होने पर चिकित्सा व्यय और डॉक्टर से परामर्श की सुविधा

· टोक्यो ओलंपिक, 2020 के शुरू होने से पहले असीसी, इटली में एक महीने का प्रशिक्षण शिविर

वित्त पोषण:

टॉप्स

एसीटीसी

कुल

11,30,300 रुपये

7,00,215 रुपये

18,30,515 रुपये

कोचों का विवरण:

– ग्रासरूट लेवल: पदुम चंद्र बोरो और शिव सिंह

– डेवलपमेंट/इलीट: मोहम्मद अली क़मर और संध्या गुरुंग

================================================================

महिला हॉकी टीम ने दृढ़ संकल्‍प के साथ खेला और उत्‍कृष्‍ट कौशल का प्रदर्शन किया: प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि आज और समस्‍त गेम्‍स के दौरान हमारी महिला हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में दृढ़ संकल्‍प के साथ खेला और उत्‍कृष्‍ट कौशल का प्रदर्शन किया। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि उन्हें टीम पर गर्व है और उन्होंने टीम को आगे होने वाले मैचों एवं भविष्य में किए जाने वाले उत्‍कृष्‍ट प्रयासों के लिए शुभकामनाएं दीं।

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा;

‘हम #Tokyo2020 से जुड़ी जिस एक अहम बात को सदैव याद रखेंगे, वह है हमारी हॉकी टीमों का अद्भुत प्रदर्शन।

आज और समस्‍त गेम्‍स के दौरान हमारी महिला हॉकी टीम ने दृढ़ संकल्‍प के साथ खेला और उत्‍कृष्‍ट कौशल का प्रदर्शन किया। मुझे टीम पर गर्व है। आगे होने वाले मैचों एवं भविष्य में किए जाने वाले उत्‍कृष्‍ट प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।’

===============================================================

केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश के भारी बारिश तथा बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सहायता के लिए राज्य सरकार के साथ निकटतापूर्वक काम कर रही है : प्रधानमंत्री
04 Aug, 2021
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश के भारी बारिश तथा बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सहायता के लिए राज्य सरकार के साथ निकटतापूर्वक काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से भी बात की और स्थिति की समीक्षा की।

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा ;

“केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश के भारी बारिश तथा बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सहायता के लिए राज्य सरकार के साथ निकटतापूर्वक काम कर रही है। मैंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से बात की है और स्थिति की समीक्षा की है। मैं प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा एवं भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं। ”

===============================================================

प्रधानमंत्री ने राज्य के कुछ हिस्सों में बाढ़ की स्थिति पर पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री से बातचीत की
04 Aug, 2021
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री सुश्री ममता बनर्जी से राज्य के कुछ हिस्सों में बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण पैदा हुई बाढ़ की स्थिति पर बातचीत की है। प्रधानमंत्री ने स्थिति की गम्भीरता को कम करने में मदद के लिए केंद्र से हरसंभव सहायता का आश्वासन भी दिया।

पीएमओ के एक ट्वीट में कहा गया है, “पीएम @narendramodi ने राज्य के कुछ हिस्सों में बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण पैदा हुई बाढ़ की स्थिति पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री @MamataOfficial से बातचीत की। पीएम ने स्थिति की गम्भीरता को कम करने में मदद के लिए केंद्र से हर संभव समर्थन का आश्वासन दिया।

प्रधानमन्त्री श्री मोदी ने प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सुरक्षा और भलाई के लिए प्रार्थना की है।”

==============================================================

प्रधानमंत्री ने टोक्यो ओलम्पिक 2020 में बॉक्सिंग में कांस्य पदक जीतने पर लवलीना बोरगोहेन को बधाई दी
04 AUG 2021
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने टोक्यो ओलम्पिक 2020 में बॉक्सिंग में कांस्य पदक जीतने पर लवलीना बोरगोहेन को बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी दृढ़ता और संकल्प प्रशंसनीय है।

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा;

“ बहुत ही अच्छा संघर्ष@लवलीना बोरगोहेन! बॉक्सिंग रिंग में उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है। उनकी दृढ़ता और संकल्प प्रशंसनीय है। कांस्य पदक जीतने पर उनको बधाई। भविष्य में उनके प्रयासों के लिए हार्दिक शुभकामनाएं। #टोक्यो2020”

===============================================================

क्षेत्रीय संपर्क योजना उडान के अंतर्गत इम्फाल और शिलंग के बीच पहली सीधी विमान सेवा शुरू

क्षेत्रीय संपर्क योजना-उडे देश का आम नागरिक, आरसीएस-उडान के अंतर्गत इम्‍फाल और शिलंग के बीच पहली सीधी विमान सेवा कल शुरू हुई। मणिपुर और मेघालय की राजधानियों के बीच विमान संपर्क इस क्षेत्र के लोगों की लम्‍बे समय से मांग थी। इस हवाई मार्ग के शुरू होने से पूर्वोत्‍तर भारत के प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को विमान सेवा से जोडने का केन्‍द्र का उद्देश्‍य भी पूरा हो जाता है। इससे पहले इम्‍फाल से शिलंग पहुंचने के लिए लोगों को सडक मार्ग से 12 घंटे की यात्रा करनी पडती थी या उन्‍हें विमान से गुवाहाटी में लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे आना पडता था और बाद में बस से शिलंग जाना पडता था। अब लोग दोनों शहरों के बीच विमान से यात्रा कर सकते हैं। इम्‍फाल से शिलंग जाने के लिए मात्र एक घंटा लगेगा लेकिन शिलंग से इम्‍फाल आने के लिए 75 मिनट लगेंगे।

==============================================================

जानीमानी आधुनिक डोगरी कवियित्री पदमा सचदेव का आज सुबह मुम्‍बई में निधन

नीमानी आधुनिक डोगरी कवियित्री पदमा सचदेव का आज सुबह मुम्‍बई में निधन हो गया। वे 81 वर्ष की थी। सुश्री सचदेव डोगरी भाषा की पहली आधुनिक कवियित्री थी और उन्‍होंने मेरी कविता मेरे गीत सहित कई कविता संकलन प्रकाशित किया था। मेरी कविता मेरे गीत के लिए उन्‍हें 1971 में साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार मिला था। उन्‍हें हिन्‍दी तथा डोगरी भाषा में योगदान के लिए 2001 में पदमश्री से नवाजा गया था। पदमा सचदेव का जन्‍म 1940 में जम्‍मू के पूर्मांदल में हुआ था और उन्‍होंने आकाशवाणी जम्‍मू में 1961 से उद्घोषक के रूप में काम किया था। उन्‍होंने आकाशवाणी मुम्‍बई में भी अपनी सेवाएं दी थी। सुश्री पदमा ने प्रेम पर्वत, आंखिन देखी और साहस सहित कई फिल्‍मों के लिए गीत भी लिखे थे।
प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍यमंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह ने पदमा सचदेवा के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है और इसे डोगरी साहित्‍य के लिए बडा नुकसान बताया है।

==============================================================

केंद्रीय कैबिनेट का फैसला, स्पेशल फास्ट ट्रैक कोर्ट का कार्यकाल समेत इन विषयों को मिली मंजूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की मीटिंग में बुधवार को कई अहम फैसले लिए गए। इनमें समग्र शिक्षा स्कीम 2.0 लागू करने और केंद्र प्रायोजित विशेष फास्ट ट्रैक कोर्ट का कार्यकाल दो साल और बढ़ाने के निर्णय शामिल है। इस बैठक में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मौजूद थे। शिक्षा मंत्री प्रधान ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत समग्र शिक्षा योजना 2.0 में प्ले स्कूल व आंगनवाड़ी को औपचारिक रूप दिया जाएगा। जानकारी के लिए बता दें कि समग्र शिक्षा योजना 2.0 एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2026 तक लागू रहेगी। इस योजना पर कुल 2.94 लाख करोड़ रुपये की लागत आएगी।

=============================================================

संसद ने भारतीय हवाई अड्डा आर्थिक विनियामक प्राधिकरण विधेयक 2021 पारित कर दिया है
संसद ने भारतीय हवाई अड्डा आर्थिक विनियामक प्राधिकरण विधेयक 2021 पारित कर दिया है। राज्‍यसभा ने आज विपक्ष के शोरगुल के बीच इसे पारित कर दिया है। लोकसभा इसे पहले ही मंजूरी दे चुकी है।

यह विधेयक भारतीय हवाई अड्डा आर्थिक विनियामक प्राधिकरण अधिनियम 2008 में संशोधन के लिए लाया गया है। इस कानून में एक वर्ष में कम से कम 35 लाख यात्री यातायात वाले हवाई अड्डों को प्रमुख हवाई अड्डा नामित किए जाने का प्रावधान है।

विधेयक में प्रमुख हवाई अड्डे की परिभाषा में संशोधन किया गया है। इसमें यह प्रावधान किया गया है कि केन्‍द्र सरकार हवाई अड्डों का वर्गीकरण कर सकती है और किसी समूह को प्रमुख हवाई अड्डे के रूप में अधिसूचित कर सकती है।

नागर विमानन मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने राज्‍यसभा में इस विधेयक के महत्‍व पर प्रकाश डाला। इसे विपक्षी दलों के विरोध प्रदर्शन के बीच, संक्षिप्‍त चर्चा के बाद पारित कर दिया गया।

चर्चा में तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के सांसद के आर सुरेश रेड्डी, ऑल इंडिया अन्‍ना डीएमके पार्टी के एम थम्‍बीदुरई, वाईएसआर कांग्रेस के बी विजयसाई रेड्डी, मार्क्‍सवादी कम्‍यूनिस्‍ट पार्टी के विकास रंजन भट्टाचार्य, राष्‍ट्रीय जनता दल के मनोज झा, आम आदमी पार्टी के सुशील गुप्‍ता और अन्‍य ने भाग लिया।

=================Courtesy==========================