क़त्ल खाने के विरोध में ।

हुज़ूर विधानसभा के मुगालिया कोट में एक बार फिर स्थानीय नागरिको जनप्रतिनिधियो को दरकिनार कर नगर निगम द्वारा क़त्ल खाना बनाने की तैयारी में है । आज गांव वालो ने हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा एवं कलेक्टर भोपाल को ज्ञापन सौप कर इसका पुरजोर विरोध करते हुए आमरण अनशन की चेतावनी दी है ।
इस पर स्थानीय हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने बताया की नगर निगम कोई भी निर्णय लेने से पहले स्थानीय नागरिको एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियो से बात करना जरुरी क्यों नहीं समझती । उन्होंने कहा की जिस जगह मुगालिया कोट में निगम क़त्ल खाना बनाना चाहता है उससे कुछ ही दूरी पर भारत के पूर्व माननीय प्रधानमंत्री आदरणीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम से हिंदी विश्व विद्यालय बनाया जाना है , उन्होंने कहा की जिस गांव में इतना बड़ा अंतराष्ट्रीय संस्था स्थापित होने वाला हो ऐसे गांव में क़त्ल खाना खोलने का निगम का निर्णय अविवेक पूर्ण निर्णय के आलावा कुछ नहीं । साथ ही वहां पर माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी चौहान द्वारा किसानो के अनाज सुरक्षित करने एवं किसानो के व्यापर व्यवसाय के लिए ‘स्टील साइलो’ का निर्माण भी कराया गया है । जहाँ प्रतिदिन 5 से 6 हज़ार किसान व्यापार करने आते है । वहां पर एक नदी भी है जो सीधे हलाली डेम में जाकर मिलती है कत्लखाने से वो भी प्रदूषित होगी ।
साथ ही उन्होंने कहा की वैसे तो क़त्ल खाना बनना ही नहीं चाहिए उन्होंने कहा की शुरू से ही सनातन हिन्दू धर्म क़त्ल खाने का विरोध करते आया है । उसके बाद भी अगर नगर निगम क़त्ल खाना बनाना चाहता है तो यह ऐसी जगह बनाया जाये जहाँ 70 प्रतिशत की आबादी मांसाहारी हो । श्री शर्मा ने इस सम्बन्ध में कलेक्टर भोपाल एवं नगर निगम आयुक्त भोपाल को पत्र लिखकर मुगालिया कोट में क़त्ल खाने पर रोक लगाने संबंधी आदेश जारी करने के निर्देश दिये है ।
courtesy