हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत पर्यावरण जागरूकता के लिए

राजधानी रायपुर में विशाल मानव श्रृंखला
रायपुर, 27 जुलाई 2016
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि ने आने वाले पीढ़ियों के लिए सभी लोगों से छत्तीसगढ़ को और भी अधिक हरा-भरा बनाने का आव्हान किया है। उन्होंने इसके लिए प्रत्येक नागरिक से हर साल कम से कम एक पौधा लगाने और उसके पेड़ बनने तक नियमित देखभाल करने की भी अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा है- वृक्षों से ही पृथ्वी और हमारे जीवन का अस्तित्व है। पृथ्वी, जल, आकाश, वायु और अग्नि इन पांच तत्वों पर आधारित हमारे जीवन के लिए पेड-पौधे बहुत महत्वपूर्ण है। वृक्षों के बिना दुनिया में जीवन की कल्पना ही नही की सकती। मुख्यमंत्री ने आज सवेरे राजधानी रायपुर के ऐतिहासिक तेलीबांधा तालाब (मेरिन ड्राइव) के किनारे हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत पर्यावरण जागरूकता के लिए आयोजित विशाल मानव श्रृंखला का शुभारंभ करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का आयोजन राज्य शासन के वन विभाग और रायपुर जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय स्कूल-कॉलेजों और समाज सेवी संस्थाओं के सहयोग से किया गया। इसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। तेलीबांधा तालाब के चारों ओर मानव श्रृंखला बनाकर परिक्रमा पथ के किनारे पौधे लगाए गए।
मुख्य अतिथि की आंसदी से कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा- पूरी दुनिया आज पर्यावरण की सुरक्षा को लेकर चिंतित है। पर्यावरण की सुरक्षा की जबावदारी हम सबकी है। हम सबको आज यह संकल्प लेना चाहिए कि एक-एक पेड़ अवश्य लगाएंगे और पर्यावरण को बचाने में सहभागी बनेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने की। मुख्यमंत्री ने सभी लोगों के साथ वहां वृक्षारोपण कर मानव श्रृंखला के कार्यक्रम का शुभारंभ किया। डॉ. सिंह ने नारियल का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानव श्रृंखला में शामिल स्कूली बच्चों के पास जाकर उनका उत्साह बढ़ाया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा- इन बच्चों में पर्यावरण के संरक्षण के प्रति जो जागरूकता, उत्साह और ऊर्जा देखने को मिली है, उससे हम सभी आशान्वित है कि आने वाली पीढ़ी को हरा-भरा छत्तीसगढ़ और स्वच्छ पर्यावरण की सौगात मिलेगी। इसके लिए उन्होंने सभी बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत वन विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ को हरा-भरा बनाने के लिए इस साल पूरे प्रदेश में 10 करोड़ पौधों का रोपण किया जा रहा है। इस बार 4 से 10 फीट तक के पौधे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा-गांवो में तो पेड़-पौधें अधिक संख्या में दिखायी देते हैं, लेकिन शहरों में उनकी संख्या बढ़ाने और उनकी सुरक्षित देखभाल की जरूरत है। उद्देश्य से रायपुर शहर को हरा-भरा बनाने के लिए आज यहां यह विशाल मानव श्रृंखला का आयोजन किया गया है।
वन मंत्री श्री महेश गागड़ा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज पर्यावरण को बचाना सबसे महत्वपूर्ण है। रायपुर शहर को हरा-भरा बनाने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर 5 जून को दूरदर्शन केन्द्र परिसर में वृक्षारोपण अभियान का शुभारंभ किया गया था। वन विभाग द्वारा रायपुर शहर में विभिन्न सामाजिक व शासकीय संस्थाओं को अब तक 30 हजार पौधों का वितरण किया जा चुका है। कृषि और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, आवास और पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत, रायपुर नगर निगम के महापौर श्री प्रमोद दुबे, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष एवं विधायक धरसींवा श्री देवजी भाई पटेल, विधायक रायपुर नगर (उत्तर) श्री श्रीचंद सुन्दरानी, राज्य औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष श्री छगन मुदड़ा, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री केदार गुप्ता, आवास एवं पर्यावरण विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, वन विभाग के प्रमुख सचिव श्री आर.पी.मण्डल, कलेक्टर रायपुर श्री ओ.पी.चौधरी और शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।