स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा – कोविड-19 के मामले में विश्व की तुलना में भारत बेहतर स्थिति में है, लेकिन संतुष्टि की कोई गुंजाइश नहीं

Dr.Harshverdhan,todayindia,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,covid-19
स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा – कोविड-19 के मामले में विश्व की तुलना में भारत बेहतर स्थिति में है, लेकिन संतुष्टि की कोई गुंजाइश नहींकोविड-19 से संबद्ध मंत्री-समूह की 16वीं बैठक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए कल नई दिल्ली में हुई, जिसमें महामारी से निपटने के उपायों की समीक्षा की गई।

मंत्री-समूह के अध्यक्ष डॉक्टर हर्षवर्धन (Dr.Harshverdhan)ने कहा कि विश्व की तुलना में भारत बेहतर स्थिति में हैं लेकिन संतुष्टि की कोई गुंजाइश नहीं हैं। मंत्री-सूमह को देश में चिकित्सा ढ़ांचे की जानकारी दी गई। उन्हें बताया गया कि 9 जून तक कोविड संबंधी स्वास्थ्य ढ़ांचे को मजबूत बनाया गया। इसके अंतर्गत नौ सौ 58 समर्पित कोविड अस्पतालों की व्यवस्था की गई जिसमें एक लाख 67 हजार बिस्तर उपलब्ध हैं। इनमें 21 हजार आईसीयू बेड और 73 हजार से अधिक ऑक्सीजन की व्यवस्था वाले बेड शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि देश में दो हजार तीन सौ 13 समर्पित कोविड स्वास्थ्य केन्द्र और सात हजार पांच सौ से अधिक कोविड देखभाल केन्द्र उपलब्ध हैं। कोविड बिस्तरों के लिए करीब 21 हजार पांच सौ वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। केन्द्र ने 60 हजार आठ सौ 48 और वेंटिलेटरों के लिए ऑर्डर दिया है।

मंत्री-समूह को यह भी बताया गया कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद की परीक्षण क्षमता पांच सौ 53 सरकारी और दो सौ 31 निजी प्रयोगशालाओं के माध्यम से बढ़ाई गई हैं। देश में अभी तक 49 लाख से अधिक लोगों की जांच की जा चुकी है। यह भी बताया गया कि देश में एक लाख 29 हजार दो सौ 14 कोविड रोगी ठीक हो चुके हैं। इससे संक्रमण से स्वस्थ होने की दर बढ़कर 48 दशमलव चार सात प्रतिशत हो गई है। देश में अभी एक लाख 29 हजार नौ सौ 17 लोगों का उपचार चल रहा है।

डॉ. हर्षवर्धन ने आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने पर जोर देते हुए कहा कि इससे जोखिम के खुद आकलन और संक्रमण से सुरक्षा में मदद मिलेगी। देश में अब तक 12 करोड़ 55 लाख से अधिक लोग यह ऐप डाउनलोड कर चुके हैं।

अधिकार प्राप्त मंत्री समूह के अध्यक्ष परमेश्वरन अय्यर ने लॉकडाउन के दौरान देश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए अपनाई गई महत्वपूर्ण कार्यनीतियों का उल्लेख किया।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद के डॉ. रमन गंगाखेरकर ने परीक्षण प्रयोगशालाओं और परीक्षण क्षमता में वृद्धि की स्थिति का ब्यौरा दिया। उन्होंने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन, रेमडेसिविर और सेरो अध्ययन से संबंधित मुद्दों का भी उल्लेख किया।

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और गृह राज्यमंत्री नित्यानंद रवि भी बैठक में उपस्थित थे।
==============
Courtesy
==============
Dr.harshverdhan,todayindia,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,covid-19

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *