सीताजी संबंधी तथ्यों की जांच कराकर हिंदुओं का अपमान कर रही मध्यप्रदेश सरकार : शिवराज सिंह

भोपाल। सारा देश और दुनिया जानती है कि सीता जी को श्रीलंका की अशोक वाटिका में रखा गया था। यह करोड़ों हिंदुओं की आस्था और विश्वास से जुड़ा मामला है। लेकिन प्रदेश सरकार इस तथ्य की जांच की बात कह रही है कि सीताजी लंका गई भी थीं या नहीं। यह करोड़ों हिंदुओं की आस्था पर कुठाराघात है, उनका अपमान है। किसी सरकार(sitaji)(hinduo ka apman)(shivrajsingh chouhan)(madhyapradesh sarkar)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news) को कोई अधिकार नहीं है कि वह लोगों की आस्थाओं पर चोट करे। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चौहान ने मंगलवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कही।

दो देशों को जोड़ते हैं सांची और अशोक वाटिका

पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि श्रीलंका दौरे के समय मैंने वह स्थान देखा था, जहां सीता जी ने अग्नि परीक्षा दी थी। मन में विचार आया तो श्रीलंका के तत्कालीन राष्ट्रपति जी से चर्चा की। वह भूमि एक मॉनेस्ट्री की थी, लेकिन जब मैंने वहां सीता माता का मंदिर बनाने की बात कही, तो वे खुशी-खुशी तैयार हो गए। हमने फैसला किया कि मध्यप्रदेश सरकार शुरू में एक करोड़ रुपए देगी और यहां मंदिर बनेगा। इसी तरह श्रीलंका में बौद्ध धर्म भारत से गया। सम्राट अशोक के बेटे मयंक और बेटी संघमित्रा सांची से ही श्रीलंका गए। इसलिए सांची में बौद्ध यूनिवर्सिटी बनाने का फैसला किया, ताकि धार्मिक पर्यटन के लिए लोग दोनों देशों में आएं-जाएं और उनके संबंध प्रगाढ़ हों। लेकिन प्रदेश सरकार इस योजना पर आगे बढ़ने की बजाय तथ्यों की जांच की बात कह रही है।


दलगत राजनीति से ऊपर हैं आस्था के मसले

श्री चौहान ने कहा कि कुछ मामले लोगों की आस्था और विश्वास से जुड़े होते हैं। इन मामलों को दलगत राजनीति से ऊपर रखा जाना चाहिए। चाहे श्रीलंका में सीता जी के मंदिर का निर्माण हो, ओंकारेश्वर में भगवान शंकराचार्य जी की प्रतिमा का निर्माण हो, यह ऐसे काम हैं जिन्हें सरकार बदलने के बाद भी बंद नहीं किया जाना चाहिए, जारी रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं सरकार से कहना चाहता हूं ये विषय आस्था के हैं। सरकार आस्था को ठेस न पहुंचाए, वहां मंदिर का निर्माण होना चाहिए।(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)

आस्था को चोट पहुंचाती है कांग्रेस

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के अपने जीवन मूल्य हैं, परंपराएं हैं, श्रद्धा और आस्था है, कांग्रेस उनको चोट पहुंचाने की कोशिश क्यों करती है। चाहे राम सेतु का मामला हो, सीता जी के मंदिर का निर्माण हो, भगवान शंकराचार्य जी की प्रतिमा का निर्माण हो, अद्वैत वेदांत संस्थान बनाने का सवाल हो, हर मामले में कांग्रेस सरकार का यही रवैया है।

तीर्थ दर्शन पर भी कुल्हाड़ी चलाई सरकार ने

उन्होंने कहा कि अध्यात्म विभाग का बजट भी 247 करोड़ पर पहुंच गया था, उसे सरकार ने 98 करोड़ पहुंचा दिया। हमने बुजुर्गों को तीर्थयात्रा कराने के लिए तीर्थदर्शन योजना चालू की। उस समय इस योजना का बजट 200 करोड़ हुआ करता था, लेकिन कांग्रेस सरकार ने इसे कम करके 30 करोड़ कर दिया। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस सरकार लगातार आस्था को खंडित करने का काम कर रही है।

कब तक मासूमों की जान लेगा कमलनाथ सरकार का नकारापनः राकेश सिंह

भोपाल। जब से कांग्रेस की कमलनाथ सरकार सत्ता में आई है, अपराध बढ़ रहे हैं, कानून व्यवस्था रसातल में चली गई है। बच्चों से दुष्कर्म के मामले में तो स्थिति यहां तक पहुंच गई है कि सुप्रीम कोर्ट को भी संज्ञान लेना पड़ा है। अब तो इस सरकार का नकारापन मासूम बच्चों की जान पर भारी पड़ने लगा है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने राजधानी के समीप गेहूंखेड़ा में तीन वर्षीय बच्चे के अपहरण और उसकी निर्मम हत्या पर प्रतिक्रया व्यक्त करते हुए कही।

श्री राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में जब से कमलनाथ सरकार आई है, प्रदेश की पुलिस लाचार और कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। मासूम बच्चों और महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहे हैं। पुलिस की कार्यप्रणाली और उसके तंत्र का नकारापन उस समय भी सामने आया था, जब चित्रकूट में अपहरण के 20 दिन बाद भी पुलिस जुड़वां मासूम बच्चों का पता नहीं लगा पाई थी और उनकी हत्या कर दी गई थी। लेकिन अब तो सरकार और उसकी पुलिस ने नकारेपन की हद ही पार कर दी। प्रदेश सरकार की नाक नीचे राजधानी भोपाल के ही एक इलाके में एक तीन वर्षीय बच्चे का अपहरण हो जाता है और तीन दिनों में भी राजधानी पुलिस बच्चे को खोज नहीं पाती। श्री राकेश सिंह ने कहा कि बच्चे का शव गांव में ही पाए जाने से स्पष्ट है कि लापता होने के बाद से बच्चा गांव में ही था और यदि पुलिस ने चुस्ती दिखाई होती, तो मासूम बच्चे की जान बचाई जा सकती थी। लेकिन तबादलों से हांफ रही प्रदेश की पुलिस में काम करने की न तो क्षमता बची है और न ही कोई इच्छा शक्ति रह गई है।

दुर्घटना में प्रदेश के 13 लोगों की मौत पर प्रदेश अध्यक्ष ने जताया दुख

भोपाल। गुजरात में हुई सड़क दुर्घटना में प्रदेश के 13 लोगों की मौत पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने दुख जताया है। उन्होंने दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिजनों के साथ एकजुटता जताई है।

गुजरात के भुज में सोमवार को हुई सड़क दुर्घटना में प्रदेश के रतलाम जिले के 11 एवं उज्जैन जिले के दो लोगों की मौत हो गई थी। इस हादसे को दुखद बताते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने कहा कि ईश्वर हादसे में दिवंगत आत्माओं को श्रीचरणों में स्थान दे तथा परिजनों को इस दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करे। श्री सिंह ने कहा कि हादसे के शिकार सभी व्यक्ति कमजोर आर्थिक स्थिति वाले थे, इसलिए प्रदेश सरकार को सभी मृतकों के परिजनों को तत्काल आर्थिक सहायता देना चाहिए।(sitaji)(hinduo ka apman)(shivrajsingh chouhan)(madhyapradesh sarkar)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)