सरकार ने कहा- अमेरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रंप की भारत यात्रा से द्विपक्षीय वैश्विक रणनीतिक सम्‍बंध मज़बूत होंगे

(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india
सरकार ने कहा- अमेरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रंप की भारत यात्रा से द्विपक्षीय वैश्विक रणनीतिक सम्‍बंध मज़बूत होंगे | विदेश मंत्रालय ने आज कहा कि भारत को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की इस यात्रा का उत्‍सुकता से इंतजार है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आज नई दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में विश्वास व्यक्त किया कि उनकी इस यात्रा से द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा तथा वैश्विक रणनीतिक सम्‍बंधों को और मज़बूत करने का अवसर मिलेगा।

विदेश मंत्रालय ने आज कहा कि भारत अमेरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रंप की यात्रा का उत्‍सुकता से प्रतीक्षा कर रहा है तथा अमेरीकी राष्‍ट्रपति इस महीने की 24 तारीख को अहमदाबाद से भारत की अपनी पहली यात्रा शुरू करेंगे। ।

आज नई दिल्‍ली में मीडिया से बातचीत में विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरीकी राष्‍ट्रपति के बीच सीमित तथा शिष्‍टमंडल स्‍तर की वार्ता के दौरान रक्षा, सुरक्षा और व्‍यापार सहित सभी मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। दोनों नेताओं के बीच 25 फरवरी को नई दिल्‍ली में वार्ता निर्धारित है।

व्‍यापार के मामले में भारत द्वारा अमेरीका के साथ उपयुक्‍त व्‍यवहार नहीं करने के राष्‍ट्रपति ट्रंप की टिप्‍पणी पर प्रवक्ता ने कहा कि यह टिप्‍पणी व्‍यापार असंतुलन के संदर्भ में की गई थी और इस चिंता को दूर करने के लिए कदम उठाए गए हैं।

यह पूछे जाने पर कि इस महीने की 24 तारीख को अमेरीकी राष्‍ट्रपति की यात्रा के दौरान भारत और अमेरीका के बीच कितने समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए जाएंगे तो, प्रवक्‍ता ने कहा कि पांच समझौता ज्ञापनों पर चर्चा चल रही है। भारत-अमेरीका व्‍यापार समझौते पर प्रवक्‍ता ने कहा कि भारत कुछ समय से अमेरीका के साथ व्‍यापार पर चर्चा कर रहा है। उन्‍होंने आशा व्‍यक्‍त की, कि कुछ नतीजे निकलेंगे जिससे दोनों पक्ष संतुष्‍ट होंगे। उन्‍होंने कहा कि एच-1 बी वीज़ा पर भी दोनों नेताओं के बीच चर्चा हो सकती है।

हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि भारत-अमेरीका संबंध दिन प्रतिदिन मज़बूत हो रहा है। पिछले दो वर्षों के दौरान द्विपक्षीय व्‍यापार में प्रतिवर्ष 10 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है और व्‍यापार असंतुलन में तेजी से कमी हो रही है। अगले कुछ वर्षो के दौरान अमेरीका से तेल और गैस के आयात तथा नागरिक विमानों की खरीद से व्‍यापार संतुलन और सुधरेगा। अमेरीका, भारत का छठा सबसे बड़ा तेल आयात का स्रोत है और भारत, अमेरीका का चौथा सबसे बड़ा तेल खरीददार है।

भारत और अमेरीका भू-अवलोकन, उपग्रह, नौवहन तथा अंतरिक्ष खोज सहित नागरिक अंतरिक्ष क्षेत्र में लंबे समय से एक-दूसरे के साथ सहयोग कर रहे हैं। संयुक्‍त कार्य समूह सहयोग मज़बूत करने और नए क्षेत्रों की पहचान के लिए लगातार समीक्षा बैठक कर रहा है। फिलहाल दोनों पक्ष मंगल की खोज, हेलियो फिजिक्‍स तथा मानव अंतरिक्ष उड़ान के क्षेत्र में सहयोग कर रहे हैं।(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india
=============
courtesy