सरकार ने कहा- अब तक देश में सामुदायिक संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई, घबराने की आवश्‍यकता नहीं

सरकार ने कहा- अब तक देश में सामुदायिक संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई, घबराने की आवश्‍यकता नहीं
देश में अभी सामुदायिक संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है इसलिए घबराने की कोई जरूरत नहीं है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने आज कहा कि हर नागरिक को जागरुक और सतर्क रहने की आवश्‍यकता है। श्री अग्रवाल ने नई दिल्‍ली में संवाददताओं को बताया कि श्री अग्रवाल ने कहा कि कल 16 हजार से अधिक नमूनों की जांच की गई। उन्‍होंने कहा कि एकत्र किए गए नमूनों के आधार पर स्‍पष्‍ट होता है कि संक्रमण की दर अधिक नहीं है।

कल कोविड-19 से 33 लोगों की मृत्‍यु के साथ मृतकों की संख्‍या 199 हो गई। कल 678 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके साथ ही देश में संक्रमित लोगों की संख्‍या छह हजार चार सौ बारह हो गई। अब तक पांच सौ तीन लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई। श्री अग्रवाल ने कहा कि देश में हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्‍वीन की एक करोड गोलियों की आवश्‍यकता है और अभी तीन करोड़ 28 लाख गोलियों का भण्‍डार है।

विदेश मंत्रालय में अपर सचिव और कोविड-19 के समन्‍वयक दम्‍मू रवि ने कहा कि बृहस्‍पतिवार तक बीस हजार चार सौ 73 विदेशी नागरिकों को भारत से वापस भेजा गया है।

श्री दम्‍मू रवि ने कहा कि दुनिया भर में हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्‍वीन की अत्‍यधिक मांग हैं और कई देशों ने इसके लिए आग्रह किया है। उन्‍होंने कहा कि घरेलू उपलब्‍धता और देश की आवश्‍यकता के मद्देनजर मंत्री समूह ने कुछ गोलियों के निर्यात का फैसला किया है। श्री रवि ने कहा कि पहली सूची में शामिल देशों को निर्यात की मंजूरी दे दी गई है जबकि दूसरी और तीसरी सूची पर सरकार काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्‍वीन के निर्यात का फैसला करते समय घरेलू जरूरत सरकार की प्राथमिकता रहेगी।
=============
courtesy