सभी गरीब परिवारों को आशियाना मिलेगा

भोपाल : गुरूवार, अगस्त 4, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश के सभी गरीब परिवारों को राज्य सरकार घर बनवाने के लिये भूमि मुहैया करवाकर वर्षो से भूमि पर काबिज रहवासियों को भूमि के पट्टे मुहैया करवायेगी। उन्होंने कहा है कि सरकार भूमि के पट्टे मुहैया करवाने के साथ गरीब परिवार के लोगों को घर बनवाने के लिये आर्थिक सहायता मुहैया करवायेगी। मुख्यमंत्री शहडोल जिले के बुढ़ार में हितग्राही सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने तय किया है कि मध्यप्रदेश में जिस व्यक्ति का जन्म हुआ है, उसके नाम जमीन का टुकड़ा होना चाहिए। हर आदमी का यह सपना होता है कि उसका एक घर हो तथा परिवार हो। गरीब परिवारों के इस सपने को मध्यप्रदेश में साकार किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने जिले की धनपुरी नगर पालिका क्षेत्र में गरीब तबके के आवास निर्माण के लिये 40 करोड़ रुपए और बुढ़ार नगर पालिका क्षेत्र में आवास निर्माण के लिये 20 करोड़ रुपए की राशि मुहैया करवाने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान कहा है कि सभी वर्गों के प्रतिभावान बच्चों को मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी में अध्ययन के लिये आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार पहली से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं को निःशुल्क किताबें एवं गणवेश तथा दूर-दराज के क्षेत्रों में रह रहे छात्र-छात्राओं को निःशुल्क सायकल मुहैया करवा रही है। कक्षा 12 वीं में 60 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली छात्राओं को गाँव की बेटी योजना में छात्रवृत्ति मुहैया करवाई जा रही है। प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को सूचना क्रांति से जोड़ने के लिये स्मार्ट फोन और लेपटॉप भी मुहैया करवाने का निर्णय लिया गया है। श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि अब हर महीने की 10 तारीख को जनता के बीच निराश्रित और बुजुर्ग वर्ग को पेंशन का भुगतान किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने अधिकारी-कर्मचारियों को छठवाँ वेतनमान दिया और सातवाँ वेतनमान भी देगी, किंतु अधिकारी-कर्मचारियों का भी कर्त्तव्य है कि वे गरीब और कमजोर तबके के लोगों की निष्ठा और कर्त्तव्य परायणता के साथ सेवा कर योजनाओं का लाभ मुहैया करवाये। शासकीय अधिकारी- कर्मचारी गरीबों के लिये संचालित योजनाओं में अमानत में खयानत करेंगें तो ऐसे अधिकारी-कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार करने वालों को जेल भेजा जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार महिलाओं के सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षणिक विकास के लिए प्रतिबद्ध है। महिलाओं को पंचायत राज संस्थाओं, नगर पालिकाओं में प्रतिनिधित्व के लिये 50 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया है। आगामी महीनों में 40 हजार शिक्षकों की भर्ती की जा रही है, जिसमें लगभग 20 प्रतिशत महिलाएँ होंगी। वन विभाग को छोड़कर सभी विभाग में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। आरक्षण के कारण महिलाएँ महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं और प्रशासकीय कार्यों को बखूबी अंजाम दे रही हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में विकास को अब जनांदोलन बनाया जायेगा, जिसमें सभी वर्ग की सहभागिता आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हितलाभ का वितरण किया। सम्मेलन में जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेंद्र शुक्ला, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री ओम प्रकाश धुर्वे, सूक्ष्म,लघु उद्यम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं अनूपपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री संजय पाठक उपस्थित थे।

धनपुरी में पेयजल आपूर्ति योजना

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नगर पालिका धनपुरी में शुद्ध पेयजल मुहैया करवाने के लिये 16 करोड 45 लाख रूपए की राशि एवं बुढ़ार क्षेत्र के पेयजल के लिए 15 करोड 35 लाख रूपए की राशि मुहैया करवाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने धनपुरी और बुढ़ार नगर पालिका क्षेत्र की सड़कों के विकास के लिए डेढ़-डेढ़ करोड़ रूपए की राशि देने की भी घोषणा की। उन्होंने बताया कि मरखी देवी बाँध परियोजना के लिए 79 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत की गई है। मरखी देवी बाँध का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा।

आरटीओ भवन का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले के हर्री ग्राम में 5 लाख 99 हजार की लागत से निर्मित क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के भवन का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने हर्री में नल-जल योजना प्रारंभ कर पेयजल की आपूर्ति करवाने तथा उप-स्वास्थ्य केंद्र खोलने की घोषणा की। उन्होने बाँध की सिल्ट हटाने एवं नहर की मरम्मत करवाने के लिये परीक्षण के बाद कार्य करवाने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने तहसील मुख्यालय बुढ़ार में लगभग 69 लाख 70 हजार रुपए की लागत से नवनिर्मित सर्व-सुविधायुक्त तहसील कार्यालय का लोकार्पण भी किया।

100 सीटर कन्या छात्रावास का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धनपुरी नगर पालिका में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान में एक करोड़ 37 लाख रुपए की लागत के नवनिर्मित 100 सीटर कन्या छात्रावास भवन का लोकार्पण किया। उन्होंने सर्वसुविधायुक्त छात्रावास भवन का निरीक्षण कर छात्राओं से चर्चा भी की।

देवहरा में ग्रामीणों की समस्याएँ सुनी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अनूपपुर जिले के ग्राम पंचायत देवहरा में जनदर्शन कर ग्रामीणों की समस्याएँ सुनी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को बिजली और पानी की समस्या का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की माँग पर ग्राम देवहरा से बस स्टेण्ड अमलाई मार्ग की मरम्मत करवाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने ग्राम सकोला में नवीन प्राथमिक शाला भवन और देवहरा में आगामी शिक्षा सत्र से 12 वीं कक्षा संचालित करवाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोल माईंस में जिन किसानों की भूमि अधिग्रहीत की गई है, उनकी सूची तत्काल बनाई जाये तथा ऐसे सदस्यों को कोल माईंस में नौकरी दिलवाने के प्रयास किये जायें। उन्होंने कहा कि गरीब और कमजोर तबके के ऐसे परिवार, जिनके पास स्वंय का घर नहीं है, उन्हें भूमि मुहैया करवाकर घर बनवाने के लिये आर्थिक सहायता मुहैया कराने के प्रयास किया जा रहे हैं। शहडोल संभाग में वर्षों से काबिज लोगों को भूमि के पट्टे दिये जा रहे हैं। शहडोल जिले में लगभग 29 हजार परिवार को भूमि के स्थाई पट्टे मुहैया करवाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि देवहरा में काफी प्रतिभाशाली बच्चे हैं। गाँव के सात बच्चों ने बारहवीं की परीक्षा में 85 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित किए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे सभी बच्चों को लेपटॉप दिया जायेगा।

जगवानी परिवार के प्रति जताया शोक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शहडोल नगर पालिका के अध्यक्ष श्री प्रकाश जगवानी के पिता के आकस्मिक निधन की सूचना मिलने पर उनके परिजन से मिलकर शोक व्यक्त कर ढाँढस बँधाया तथा दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से कामना की।