मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निवास पर मनाया गया क्रिसमस समारोह, कैरोल संगीत से गूँज उठा प्रांगण

भोपाल : मंगलवार, दिसम्बर 27, 2016
सर्वधर्म समभाव की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए आज यहाँ मुख्यमंत्री निवास पर प्रभु यीशु के जन्मदिन क्रिसमस समारोह पारंपरिक उत्साह के साथ मनाया गया। कैरोल संगीत से मुख्यमंत्री निवास प्रांगण गूँज उठा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि क्रिसमस प्रेम, शांति और क्षमा का संदेश देता है। इसी संदेश से मानवता को मार्गदर्शन मिलेगा। प्रभु यीशु की शिक्षाओं से अशांति एवं आतंकवाद जैसी कुरीतियाँ खत्म होंगी।

श्री चौहान ने कहा कि प्रभु यीशु ने सेवा करने की शिक्षा दी। सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। उन्होंने नर्मदा सेवा यात्रा की चर्चा करते हुये मसीह समाज से पर्यावरण बचाने और नर्मदा संरक्षण के इस अभियान से जुड़ने का आग्रह किया। श्री चौहान ने सभी को क्रिसमस एवं नववर्ष की बधाई दी। अभूतपूर्व विकास कार्य करने के लिए मसीह समाज की ओर से सभी बिशप और पॉश्चर ने मुख्यमंत्री को सम्मानित किया।

भोपाल आर्चबिशॉप श्री लियो कार्नेलिओ ने कहा कि क्रिसमस शांति और प्रेम का त्यौहार है। उन्होंने सभी धर्मो के त्यौहार मनाने की परंपरा शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान की सराहना करते हुए कहा कि ऐसा उदाहरण देश में अन्यत्र नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक विविधता भारत की विशेषता है। इसके बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता। सोचने, बोलने और करने में एक रूपता होने से प्रसन्नता आती है।

स्कूली बच्चों ने प्रभु यीशु की शिक्षाओ पर आधारित नृत्य नाटिकाओं की आकर्षक प्रस्तुति दी।

इस अवसर पर सभी धर्मो के धर्मगुरु एवं उनके प्रतिनिधि, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, भोपाल आर्चबिशॉप श्री लियो कार्नेलिओ, इंदौर के बिशप श्री चाको थोट्टूमरिक्कल, खंडवा के बिशप श्री ए.ए. दुराईराज, जबलपुर के बिशप श्री जेराल्ड अल्मीडा, झाबुआ के बिशप श्री बेसिल भूरिया, मलाईकारा चर्च के फादर चार्ल्स, सीएनआई बिशप श्री पी.सी. सिंह और बड़ी संख्या में प्रदेश भर से आये मसीह समाज के सदस्य उपस्थित थे।