मुख्यमंत्री चौहान ने सुश्री पी.वी.सिंधु को 50 लाख रूपये भेंटकर किया सम्मान

भोपाल : गुरूवार, नवम्बर 10, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ भव्य समारोह में विभिन्न खेलों के उत्कृष्ट खिलाड़ियों को प्रतिष्ठित “ शिखर खेल अलंकरण 2016 ’’ से सम्मानित किया। उन्होंने रियो ओलंपिक में भारत के लिये रजत पदक जीतने वाली बेडमिंटन खिलाड़ी सुश्री पी. वी. सिंधु को राज्य सरकार की ओर से 50 लाख रूपये की राशि भेंट कर सम्मानित किया। सुश्री सिंधु की माताजी श्रीमती विजया और कोच श्री पुल्लेला गोपीचंद इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि रजत पदक जीतने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सुश्री पी.वी. सिंधु को पुरस्कार स्वरूप 50 लाख रूपये की राशि भेंट करने की घोषणा की थी। श्री चौहान ने कहा कि सुश्री सिंधु देश का गौरव है। उन्होंने देश का मान बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि साक्षी मलिक को भी सम्मानित किया जायेगा। प्रदेश के उन खिलाडियों को भी सम्मानित किया जायेगा जिन्होंने ओलंपिक में भाग लिया था। श्री चौहान ने अगले ओलंपिक में प्रदेश से ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ी भेजने का संकल्प दोहराया।

मुख्यमंत्री ने प्रख्यात हॉकी कोच श्री परमजीत सिंह को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया। साफ्ट टेनिस के प्रशिक्षक श्री सुदेश सांगते और त्वाईकांडो के प्रशिक्षक श्री वीरेंद्र पवार को विश्वामित्र सम्मान से सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार हर प्रकार से खिलाड़ियों को अच्छी सुविधाएँ देने में मदद करेगी। उन्होंने कहा कि रियो ओलिंपिक से स्पष्ट है कि भारत की बेटियाँ चमत्कार कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों में प्रतिभा, क्षमता और लगन है। उन्हें थोड़ी सी सुविधाएँ मिल जाये, तो वे चमत्‍कार कर सकते हैं।

श्री चौहान ने कहा कि पढ़ाई के साथ खेल भी जीवन के लिए जरुरी है। राजनीति में भी खेल भावना होनी चाहिए। जो प्रतिबद्ध खिलाडी खेलों से गहरे जुड़े हैं उन्हें ही खेलों के प्रबंधन में रहना चाहिए। उन्होंने खिलाड़ियों का आव्हान किया कि वे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का संकल्प लें। उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगले ओलिंपिक में भारत उत्कृष्ट प्रदर्शन करेगा और मध्यप्रदेश का विशेष योगदान होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कयाकिंग खिलाडी सुश्री अंजलि वशिष्ठ, सॉफ्टबॉल खिलाडी सुश्री रिहा डेविड, कराते खिलाडी श्री अजय यादव, वुशू खिलाडी सुश्री अंकिता रायकवार और सॉफ्टबॉल खिलाडी सुश्री सविता को सरकारी नौकरियों के नियुक्ति पत्र सौंपे।

सुश्री पी. वी. सिंधु ने ओलम्पिक मैचों के दौरान समर्थन के लिए सभी का धन्यवाद दिया और आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोच के मार्गदर्शन और समर्थन के बिना संभव नहीं था।

खेल मंत्री श्रीमती यशोधराराजे सिंधिया ने प्रदेश में खेलों की उपलब्धियों और प्रगति का श्रेय मुख्यमंत्री को देते हुए कहा कि खेलों का बजट सौ गुना बढ़ाये बिना यह संभव नहीं था। उन्होंने कहा कि 2006 में खेल विभाग छोटा विभाग था। इसका बजट मात्र 4 करोड़ रूपये था। आज सौ गुना बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि बजट और खेल सुविधाएँ बढ़ने से खेल अकादमियों के खिलाड़ियों में उत्साह और खुशी का माहौल है। उन्होंने कहा कि कोच और अभिभावक का सहयोग ही सफलता की कुंजी है।

संचालक खेल श्री उपेंद्र जैन ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि खेलों के क्षेत्र में मध्यप्रदेश निरंतर अग्रणी बनता जा रहा है। मध्यप्रदेश में खेलों को बढ़ाने की रणनीति का अन्य राज्यों द्वारा अध्ययन भी किया जा रहा है।

इस अवसर पर माउन्ट एवरेस्ट पर विजय प्राप्त करने वाले पर्वतारोही श्री भगवान सिंह कुशवाह और श्री रत्नेश पांडे को एक-एक लाख रूपये की सम्मान राशि देकर सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री ने एकलव्य पुरस्कार से सम्मानित श्री मोहिक गजधर (साफ्ट टेनिस), सुश्री चिंकी यादव (शूटिंग), सुश्री नेहा राजपूत (वूशू), श्री अतुल मिश्रा (क्याकिंग कैनोइंग), सुश्री एनी जैन (तैराकी), सुश्री अरूणिमा श्रीवास्तव (फेंसिंग), सुश्री परिधि जोशी (घुड़सवारी), श्री सत्यम शर्मा (कराते), श्री आनंद ठाकुर (सेलिंग), श्री मयंक पटेल (साइक्लिंग), श्री राहुल बाथम (क्रिकेट), सुश्री दिव्या ठेपे (हॉकी), सुश्री सोनाली बिष्ट (सॉफ्टबॉल), सुश्री सौम्या अग्रवाल (जम्परोप) एवं विक्रम पुरस्कार से सम्मानित सुश्री नमिता चंदेल (क्याकिंग-कैनोइंग), सुश्री पूर्वी सोनी वूशू, सुश्री शालिनी संकथ (शूटिंग), श्री ऋषभ मेहता (घुड़सवारी), सुश्री श्राव्या द्रोणादुला (ताइक्वांडो), श्री समीर वर्मा (बेडमिंटन), सुश्री नीति सिंह (कबड्डी), श्री अंकित चिन्तामन (खो-खो), श्री कमल कुशवाह (थ्रो बॉल), नि:शक्त श्री रवि कुमार सुरारिया (साइक्लिंग को शिखर खेल अलंकरण प्रदान किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर मध्यप्रदेश में खेलों की उपलब्धियों और प्रगति को रेखांकित करने वाली किताब “ इन परस्यूट ऑफ एक्सीलेंस ’’ का विमोचन किया।