मध्यप्रदेश में चारों ओर तबाही और जंगलराजः शिवराज सिंह चौहान

(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,mpnews,madhyapradesh news,shivrajsingh chouhan
मध्यप्रदेश में चारों ओर तबाही और जंगलराजः शिवराज सिंह चौहान
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने धार-मनावर में हुई मॉब लिंचिंग की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि कांग्रेसराज अब जंगलराज में तब्दील हो चुका है। चारो ओर तबाही मची हुई है। कमलनाथ सरकार ने मध्यप्रदेश को तालिबानी प्रदेश बना दिया है।

उन्होंने कहा कि धार-मनावर में जिन लोगों को पीट-पीटकर, पत्थरों से कुचलकर हत्याएं की उन लोगों ने पुलिस को सूचना देकर गए थे कि हम अपने पैसे लेने वहां जा रहे हैं और हमारी जान को भी खतरा हो सकता है। लेकिन पुलिस सोती रही और ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना घट गई, ऐसी वीभत्स घटना की मध्यप्रदेश के इतिहास में मिसाल नहीं मिलती।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ बताएं आखिर मध्यप्रदेश कहा जा रहा है, ये जंगल राज नहीं है तो क्या है? उन्होंने कहा कि पुलिस कार्यवाही क्यों नहीं करती। क्या पुलिस धर्म, जाति और पंथ पूछकर कार्यवाही करेगी ? क्या पुलिस के हाथ बांध दिए गए हैं ? श्री चौहान ने कहा कि कर्त्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी यदि कार्यवाही करते हैं तो उन्हें प्रताड़ित किया जाता है। उनका तबादला कर दिया जाता है। उन्हें सजाए दी जाती है, क्या हो रहा है मध्यप्रदेश में। चारों ओर तबाही और जंगल राज है और ऐसी घटनाओं पर चुप नहीं बैठा जा सकता है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक ओर दलित युवक को जला दिया गया और सारे अपराधी नही पकड़े गए। पंथ देखकर कार्यवाही की गई। वहीं दूसरी ओर छिंदवाड़ा में एक दलित बिटिया के साथ दुष्कर्म कर जलाकर मार दिया जाता है। प्रदेश में दलित जिंदा जल रहे हैं, बेटियां मारी जा रही हैं, तालिबानी तरीके से हत्याएं हो रही हैं और कांग्रेस की कमलनाथ सरकार सो रही है। मुख्यमंत्री आइफा के आयोजन में व्यस्त हैं, अब तो यह लगता है कि मांग भी करें या न करे, क्योंकि यह सरकार तो कान में तेल डालकर सो रही है। ऐसी घटनाओं को रोकना सरकार की जिम्मेदारी है।


मनावर की घटना को मुखरता से विधानसभा में उठायेंगे :भार्गव
नेता प्रतिपक्ष ने कहा शांति के टापू को कांग्रेस ने हिंसा का अड्डा बना दिया
भोपाल। नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि धार के मनावर में हुई तालिबानी घटना समाज को शर्मसार करने वाली हैं। मध्यप्रदेश किस ओर बढ़ रहा है?  यह घटना दर्शाती है कि प्रदेश में तालिबानी युग की शुरुआत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि पिछले 1 साल में मध्यप्रदेश में दलितों आदिवासियों पर अत्याचार और सौहार्द में खलल डालने वाली घटनाएं हुई है। सरकार की उदासीनता के कारण ऐसी घटनाएं हो रही है। इस घटना के लिए भी कमलनाथ सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि विधानसभा के बजट सत्र में मॉब लिंचिंग की इस घटना को स्थगन सूचना के माध्यम से उठाकर सरकार से जवाब मांगेंगे।
उन्होंने कहा कि कमलनाथ राज में लोगों को भीड़ ने पीटा और 1 व्यक्ति की बेरहमी से हत्या कर दी। यह तालिबानी घटना मध्यप्रदेश की शांतिप्रिय पहचान को शर्मसार करती है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आपने 1 साल में बना नया मध्यप्रदेश बना ही दिया। शांति का टापू कहा जाने वाला मध्यप्रदेश अब एक साल में हिंसा का अड्डा बन गया है। श्री भार्गव ने कहा कि ’दलितों एवं आदिवासियों की हत्या हो रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ वक़्त है बदलाव का नारा देते है, वास्तव में मध्यप्रदेश बदल गया है। मध्यप्रदेश को कांग्रेस की नजर लग गयी। नेता प्रतिपक्ष श्री भार्गव ने कहा कि समाज मे ऐसी  चिंतनीय है। सरकार ऐसी घटनाओं पर तत्काल रोक लगाएं और दोषी कोई भी हो उसे दण्ड दे ताकि ऐसी घटनाओं की प्रदेश में पुनरावृत्ति न हो।
विधानसभा में उठाएंगे मुद्दा
नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि धार मनावर की घटना समाज को शर्मसार करती है। सरकार की नाकामी और प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था के कारण ऐसी घटनाएं हो रही है। विधानसभा के बजट सत्र में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सरकार को जवाब देना होगा। धार मनावर की इस घटना पर सरकार से हम सवाल पूछेंगे। इस तालिबानी घटना के लिए कमलनाथ सरकार जिम्मेदार है।
मुख्यमंत्री राजगढ कलेक्टर पर अविलंब कार्यवाही करे
श्री भार्गव ने राजगढ कलेक्टर निधि निवेदिता द्वारा एएसआई को थप्पड मारने के आरोप प्रमाणित होने की पुलिस की जांच रिपोर्ट सामने आने पर कहा कि सरकार दोषी अधिकारियों को बचाने में लगी है। सुबह गृहमंत्री जांच रिपोर्ट के बाद कार्यवाही की बात करते है, लेकिन मुख्यमंत्री के दबाव के बाद शाम को जांच रिपोर्ट न मिलने की बात कहते है। उन्होंने कहा कि डीजीपी ने सरकार को जांच रिपोर्ट सौंपकर न्याय की गुहार की है। अब मुख्यमंत्री को अविलंब कार्यवाही करते हुए कलेक्टर को हटाना चाहिए और किसी भी जिले में उनकी पदस्थापना न करे क्योंकि वे फिर से ऐसी घटना की पुर्नवृत्ति कर सकती है।
(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,mpnews,madhyapradesh news,shivrajsingh chouhan