मध्य प्रदेश में जारी सियासी घमासान

(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india
मध्यप्रदेश में कुर्सी के लिए जंग | मध्य प्रदेश में जारी सियासी घमासान के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को राज्यपाल लालजी टंडन से करीब एक घंटे तक चर्चा की। | राज्यपाल से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर विधायकों की खरीद फरोख्त करने का आरोप लगाया। लालजी टंडन से मुलाकात करने के बाद बाहर निकले मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश की राजनीति में कोरोना वायरस है। उन्होंने कहा कि वह फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है। सदन में फ्लोट टेस्ट राज्यपाल के अभिभाषण और बजट पर वैसे भी होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि फ्लोर टेस्ट तब होगा जब बंधक विधायक वापस आएंगे। बेंगलुरु में पिछले कई दिन से रुके कांग्रेस के कई विधायकों के आज भोपाल आने की भी खबर है। ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक मंत्री और विधायक दोपहर तक भोपाल लौट सकते हैं। इन सभी के सिंधिया के नामांकन के वक्त मौजूद रहने और विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात करने की संभावना है। विधायकों के भोपाल आने के चलते एयरपोर्ट से लेकर विधानसभा तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई। विधानसभा की मौजूदा स्थिति में नंबर कमलनाथ सरकार के साथ नजर नहीं आ रहे है।



मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह समेत मध्य प्रदेश के 4 मंत्री अभी बेंगलुरु में हैं। उन्होंने विधायकों को रिसॉर्ट में रखे जाने के को लेकर कर्नाटक कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार के साथ पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की।

मध्य प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह ने कहा है कि कोरोना वायरस के खतरे के कारण प्रदेश में विधानसभा का आगामी बजट सत्र स्थगित किया जा सकता है। संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह का कहना है कि कोरोना वायरस के कारण कई अहम कार्यक्रम रद हुए हैं। ऐसे में विधानसभा का बजट सत्र भी आगे बढ़ा देना चाहिए।

ज्योतिरादित्य सिंधिया, डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी और रंजना बघेल ने भरे नामांकन
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी एवं पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल ने शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं सैकड़ों कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में राज्यसभा चुनाव के लिए अपने नामांकन पत्र दाखिल किये।
ज्योतिरादित्य सिंधिया, डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी एवं श्रीमती रंजना बघेल ने नामांकन पत्र दाखिल करने के लिये कार्यकर्ताओं के साथ शुक्रवार दोपहर में पार्टी के प्रदेश कार्यालय से रवाना हुए। कई गाड़ियों के काफिले के साथ श्री सिंधिया एवं डॉ. सोलंकी विधानसभा भवन पहुंचे। यहां केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा, नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, पूर्व मंत्री श्रीमती यशोधराराजे सिंधिया, पूर्व मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, श्री रामपाल सिंह, श्रीमती माया सिंह, सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह, पूर्व मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य, प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री लोकेन्द्र पाराशर, श्री राजेन्द्रसिंह राजपूत, श्री गजेन्द्र पटेल, श्री रणवीर सिंह रावत, श्री शांतिलाल लोढ़ा, श्री एसएस उप्पल, श्री संतोष शर्मा सहित पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

सिंधिया समर्थक विधायकों का बेंगलुरू से भोपाल आना कैंसल हुआ

सिंधिया समर्थक विधायकों का बेंगलुरू से भोपाल आना कैंसल हुआ | इन विधायकों में से 6 को विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति से मुलाकात करनी थी। प्रजापति ने कहा कि उन्होंने 3 घंटे तक विधायकोें का इंतजार किया, लेकिन कोई नहीं आया।कांग्रेस के सिंधिया समर्थक विधायकों के भोपाल नहीं आने पर भाजपा नेता कुछ भी बोलने से बचते नजर आए। हालातों पर चर्चा के लिए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर बैठक बु‍लाई | इस बैठक में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे।  राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ की सलाह पर मंत्रिपरिषद के 6 सदस्यों को तत्काल प्रभाव से परिषद से बर्खास्त कर दिया। सरकार से जिन मंत्रियों को बर्खास्त किया गया है उनमें इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, महेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्नसिंह तोमर और डॉ. प्रभुराम चौधरी हैं।(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india
===============
courtesy