भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक श्री शशिकांत शर्मा ने मुख्यमंत्री श्री चौहान से की सौजन्य भेंट

 

भोपाल : बुधवार, जून 8, 2016
भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक श्री शशिकांत शर्मा ने मंत्रालय में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से सौजन्य भेंट की। श्री शर्मा ने प्रदेश की वित्तीय स्थिति की सराहना करते हुए कहा कि राजकोषीय घाटे और अन्य वित्तीय मापदंडों पर नियंत्रण भविष्य के लिये अच्छी स्थिति है। उन्होने प्रदेश के सकल घरेलू उत्पादन की वृद्धि दर की भी सराहना की।

श्री शर्मा ने कहा कि राज्य की सभी योजनाओं की प्रगति अच्छी है और परिणाम भी बेहतर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि कृषि क्षेत्र और सामाजिक अधोसंरचना निर्माण पर ज्यादा ध्यान दिया गया है। सभी योजनाओ को समय पर पूरा करने के लिए समय-सीमा तय की जाती है ताकि लागत न बढ़ पाये। श्री शर्मा ने सिंहस्थ महाकुम्भ मेले के सफल आयोजन पर मुख्यमंत्री को बधाई दी। श्री चौहान ने उन्हें सिंहस्थ आयोजन की रणनीति की जानकारी दी।

श्री शर्मा ने मुख्यमंत्री को बताया कि पहली बार स्थानीय निकायों द्वारा व्यय पर रिपोर्ट तैयार की जा रही है। कैग के सहयोग से भारत सरकार ने सामाजिक अंकेक्षण के नियम भी बना दिये हैं। इससे और ज्यादा वित्तीय पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी। उन्होंने सामाजिक अधोसंरचना के विकास पर खर्च करने पर विशेष ध्यान देने की जरूरत बताई।

मुख्यमंत्री ने बताया की सामाजिक अधोसरंचनाओं के निर्माण पर विगत वर्षों में विशेष ध्यान दिया गया है। उन्होंने कहा कि जन-कल्याण से जुड़े मुद्दों पर कल्याणकारी राज्य के नाते हस्तक्षेप करना जरुरी हो जाता है। प्याज खरीदी का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि सरकार के हस्तक्षेप से अब प्‍याज उत्पादक किसानों के लिए भी बाजार में कीमतें स्थिर होने लगी हैं। उन्होंने कहा कि जन-कल्याण के कामों के लिए कर्ज लेना सकारात्मक पहल है। उन्होंने बताया कि 13,000 गाँवों के लिये समूह नल-जल योजनाएँ स्वीकृत की गयी हैं। इन नल-जल योजनाओं को वर्ष 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा। श्री शर्मा ने कहा कि इससे जन-स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

मुख्यमंत्री ने मध्यान्ह भोजन योजना पर चर्चा करते हुए कहा कि कस्बों में भी निजी शालाओं का नेटवर्क बढ़ा है। साथ ही सरकारी शालाओं में अब पढ़ाई का स्तर सुधरने से बड़ी संख्या में आदिवासी अंचलों से भी एनआईटी और आईआईटी जैसे सस्थानों में विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है।

मुख्यमंत्री ने श्री शर्मा को सिंहस्थ महाकुंभ पर प्रकाशित पुस्तक भेंट की। अपर मुख्य सचिव वित्त श्री ए.पी. श्रीवास्तव और प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस.के. मिश्रा उपस्थित थे।