प्रधानमंत्री ने सभी देशवासियों से आत्‍मनिर्भर भारत के माध्‍यम से नया भारत बनाने के लिए एकजुट होकर आगे आने की अपील की

प्रधानमंत्री ने सभी देशवासियों से आत्‍मनिर्भर भारत के माध्‍यम से नया भारत बनाने के लिए एकजुट होकर आगे आने की अपील की
narendra modi,pm narendra modi,primeminister of india,narendra modi news,narendra modi twitter,todayindia,todayindia news,today india news in hindi,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood24,today india news,today indiaप्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि देश उस रास्‍ते पर आगे बढ रहा है जहां प्रत्‍येक नागरिक को बिना किसी भेदभाव के विकास के सभी लाभ मिल सकेंगे। वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के शताब्‍दी समारोह को संबोधित करते हुए उन्‍होंने देशवासियों से अपील की कि वे आत्‍मनिर्भर भारत के माध्‍यम से नया भारत बनाने के लिए एकजुट होकर आगे आयें। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास और सबका विश्‍वास मंत्र के साथ काम कर रही है।

श्री मोदी ने कहा कि अलीगढ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय परिसर मिनी भारत की तरह है। विश्‍वविद्यालय की विविधता न केवल इसकी बल्कि समूचे राष्‍ट्र की ताकत है। उन्‍होंने कहा कि हम सबको मिलकर काम करना चाहिए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अलीगढ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के परिसर में एक भारत श्रेष्‍ठ भारत की भावना दिन-प्रतिदिन मजबूत हो।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुस्लिम बालिकाओं की, बीच में स्‍कूल छोडने की दर 70 प्रतिशत से अधिक थी और यह स्थिति 70 वर्षों तक बनी रही। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने स्‍वच्‍छ भारत अभियान शुरू किया और गांवों तथा बालिका विद्यालयों में शौचालय बनवाये । इससे अब बीच में पढाई छोडने वाली बालिकाओं की दर कम होकर लगभग 30 प्रतिशत रह गई है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि अलीगढ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय से संबंधित शिक्षा का इतिहास, भारत की अमूल्‍य धरोहर है और विश्‍वविद्यालय ने कई देशों के साथ भारत के संबंध मजबूत करने का काम किया है। उन्‍होंने कहा कि उर्दू, अरबी तथा फारसी भाषाओं और इस विश्‍वविद्यालय के इस्‍लामिक साहित्‍य में किया गया अनुसंधान, समूची इस्‍लामिक दुनिया के साथ भारत के सांस्‍कृतिक संबंधों को नई ऊर्जा प्रदान करता है।

श्री मोदी ने कहा कि अलीगढ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय ने कोरोना संकट के दौरान समाज की कई प्रकार से सहायता की। हजारों नमूनों की निशुल्‍क जांच, आइसोलेशन वार्ड तथा प्‍लाज़मा बैंक की स्‍थापना और प्रधानमंत्री केयर फंड में बडी राशि का योगदान जैसे कार्य समाज के प्रति जिम्‍मेदारियां पूरी करने की विश्‍वविद्यालय की गम्‍भीरता दर्शाते हैं।

श्री मोदी ने कहा कि नई शिक्षा नीति, देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर करेगी और 21वीं सदी के लिए प्रतिस्‍पर्धी बनायेगी। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने शिक्षा संस्‍थानों में सीटों की संख्‍या में वृद्धि की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले देश में केवल 16 आई आई टी थे लेकिन अब उनकी संख्‍या बढकर 23 हो गई है और ट्रिपल आई आई टी की संख्‍या 9 से बढकर 25 हो गई है।

आई आई एम की संख्‍या 13 से बढकर 20 और एम्‍स की संख्‍या सात से बढकर 22 हो गई है। प्रधानमंत्री ने विश्‍वविद्यालय के विद्यार्थियों से अपील की कि वे देश के स्‍वतंत्रता सेनानियों पर अनुसंधान करें।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर एक डाक टिकट जारी किया। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्‍यम से शामिल हुए।
===========
courtesy
============
narendra modi,pm narendra modi,primeminister of india,narendra modi news,narendra modi twitter,todayindia,todayindia news,today india news in hindi,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood24,today india news,today india