प्रधानमंत्री ने कहा-सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कदम उठा रही है

(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,Narenda Modi
प्रधानमंत्री ने कहा-सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कदम उठा रही है
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सुधारात्‍मक उपायों पर लगातार काम कर रही है।

आज गुजरात के गांधी नगर में तीसरे वैश्विक आलू सम्‍मेलन को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सम्‍बोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि सरकार की नीतियों और किसानों के प्रयासों से भारत ने कई तरह की दालों और अन्‍य खाद्य पदार्थो के उत्‍पादन में विश्‍व के शीर्ष तीन देशों में जगह बना ली है और केन्‍द्र ने खाद्य प्रसंस्‍करण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाये हैं।

उन्‍होंने कहा कि शत-प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की शुरूआत तथा प्रधानमंत्री किसान सम्‍पदा योजना के माध्यम से मूल्य संवर्धन और मूल्य श्रृंखला विकसित करने का प्रयास किया गया है।

श्री मोदी ने कहा कि इस महीने की शुरूआत में छह करोड़ किसानों के बैंक खातों में एक बार में 12 हजार करोड़ रूपये स्‍थानांतरित करने का रिकॉर्ड बनाया गया। उन्‍होंने कहा कि किसानों और उपभोक्‍ताओं के बीच बिचौलियों की भूमिका को कम करने और उपज की बर्बादी रोकने के लिए सरकार पारम्‍परिक कृषि को बढ़ावा दे रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार कृषि-प्रौद्योगिकी पर आधारित स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है ताकि उन्‍नत कृषि के लिए किसानों और कृषि से संबंधित आंकड़ों का उपयोग किया जा सके।

उन्‍होंने कहा कि एक समय में भारत में दालों की कमी थी लेकिन किसानों ने हौसला दिखाकर इस मुद्दे का समाधान किया। श्री मोदी ने कहा कि खेतों से खाद्य प्रसंस्‍करण तक आधुनिक और समग्र नेटवर्क बनाने का सरकार का लक्ष्‍य है। उन्‍होंने कहा कि हर बूंद से अधिक फसल के मंत्र के साथ सूक्ष्‍म सिंचाई पर भी ध्‍यान दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र में आधुनिक जैव प्रौद्योगिकी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, ब्‍लॉकचेन, ड्रोन प्रौद्योगिकी जैसी नई तकनीकों के उपयोग पर किसानों के सुझाव महत्वपूर्ण हैं। श्री मोदी ने कहा कि कृषि क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों की यह सुनिश्चित करना एक बड़ी जिम्‍मेदारी है कि 21 वीं सदी में कोई भी भूखा और कुपोषित न हो।

हमारे अहमदाबाद संवाददाता ने खबर दी है कि नीदरलैंड्स इस सम्‍मेलन में भागीदार देश है। 14 विभिन्‍न देशों के एक सौ प्रतिनिधि इसमें भाग ले रहे हैं। चार दिन के इस समारोह के दौरान आलू सम्‍मेलन, कृषि एक्‍सपो और आलू के खेतों का भ्रमण होगा।

भारतीय आलू संघ ने भारतीय कृषि शोध परिषद, केन्‍द्रीय आलू अनुसंधान संस्‍थान शिमला और लीमा तथा पेरू के अन्‍तर्राष्‍ट्रीय आलू केन्‍द्रों के सहयोग से इस सम्‍मेलन का आयोजन किया है।(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,Narenda Modi
=============
courtesy