प्रधानमंत्री ने कहा-भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ समारोहों में सनातन धर्म की गरिमा और आधुनिक भारत की चमक प्रदर्शित होनी चाहिए

प्रधानमंत्री ने कहा-भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ समारोहों में सनातन धर्म की गरिमा और आधुनिक भारत की चमक प्रदर्शित होनी चाहिए
narendra modi,pm narendra modi,primeminister of india,narendra modi news,narendra modi twitter,todayindia,todayindia news,today india,today india news in hindi,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood24,today india news,today indiaप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि स्‍वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ का उत्‍सव ऐसा होना चाहिए, जिसमें स्वतंत्रता संग्राम की भावना, शहीदों को श्रद्धांजलि और भारत निर्माण की प्रतिज्ञा का अनुभव किया जा सके।

आजादी के 75 साल मनाने की तैयारियों के तौर-तरीके के लिए गठित राष्ट्रीय समिति की पहली बैठक को वर्चुअली सम्‍बोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि इस उत्‍सव में सनातन भारत की महिमा और आधुनिक भारत की चमक दिखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस उत्‍सव में संतों की आध्यात्मिकता की झलक और हमारे वैज्ञानिकों की प्रतिभा को भी प्रतिबिंबित करने वाला होना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह आयोजन 75 वर्षों की हमारी उपलब्धियों को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने का एक अवसर होगा और अगले 25 वर्षों के लिए हमें संकल्प के लिए एक रूपरेखा भी प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि कोई भी संकल्प उत्सव के बिना सफल नहीं होता। श्री मोदी ने कहा कि जब कोई संकल्प उत्सव का रूप लेता है, तो प्रतिज्ञा और करोडों की ऊर्जा इसमें जुड जाती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 75 साल का जश्न 130 करोड़ भारतीयों की भागीदारी के साथ मनाया जायेगा और इस उत्सव के मूल में लोगों की भागीदारी होगी। उन्होंने कहा कि इस भागीदारी में 130 करोड़ देशवासियों की भावनाओं, सुझावों और आकांक्षाओं को शामिल किया जायेगा। श्री मोदी ने बताया कि 75 साल के जश्न के लिए 5 स्तंभ तय किए गए हैं। ये स्‍तंभ – स्वतंत्रता संग्राम, 75 पर विचार, 75 पर उपलब्धियां, 75 पर कार्य और 75 पर समाधान हैं। उन्होंने उन स्वतंत्रता सेनानियों को सम्‍मान देने और उनकी कहानियों को लोगों तक पहुंचाने की जरूरत पर जोर दिया, जिनके बारे में देशवासियों को बहुत कम जानकारी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें हर वर्ग के योगदान को सामने लाना होगा। उन्‍होंने ने कहा कि यह ऐतिहासिक उत्‍सव स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को पूरा करने के बारे में है, जो देश को उस ऊंचाई पर ले जाने का एक प्रयास है जिसकी वे कामना करते थे। उन्होंने कहा कि यह उत्सव भारत के ऐतिहासिक गौरव के अनुरूप मनाया जायेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश आजादी के 75 साल के अवसर को भव्यता और उत्साह के साथ मनाएगा। श्री मोदी ने बैठक के दौरान समिति के सदस्यों से मिले नए और विभिन्‍न विचारों की सराहना की। वर्चुअल तरीके से आयोजित इस बैठक में राज्यपालों, केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, राजनीतिक नेताओं, वैज्ञानिकों, अधिकारियों, मीडिया हस्तियों, आध्यात्मिक गुरूओं, कलाकारों तथा फिल्मी और खेलजगत की हस्तियों तथा अन्य क्षेत्रों के प्रतिष्ठित व्यक्तियों सहित राष्ट्रीय समिति के विभिन्न सदस्यों ने भाग लिया।

आज की बैठक में राष्ट्रीय समिति के जिन सदस्यों ने अपने विचार व्‍यक्‍त किऐ उनमें पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल, पूर्व प्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा, नवीन पटनायक, मल्लिकार्जुन खड़गे, मीरा कुमार, सुमित्रा महाजन, जे पी नड्डा और मौलाना वहिदुद्दीन खान शामिल हैं। इन सदस्‍यों ने महोत्सव के दायरे का विस्तार करने का भी सुझाव दिया।
===============
courtesy
===============
narendra modi,pm narendra modi,primeminister of india,narendra modi news,narendra modi twitter,todayindia,todayindia news,today india,today india news in hindi,Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood24,today india news,today india