पं. उपाध्याय ने देश को दिया एक वैकल्पिक राजनीतिक दल और विचारधाराः शिवराजसिंह चौहान

mp news,mpcm news,mpcm,kamal nath,mp bjp,shivrajsing chouhan,bhopal news
पं. उपाध्याय ने देश को दिया एक वैकल्पिक राजनीतिक दल और विचारधाराः शिवराजसिंह चौहान
पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं ने पं. दीनदयाल उपाध्याय को पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि
भोपाल। पं. दीनदयाल उपाध्याय ने ऐसे समय में एकात्म मानववाद का सृजन किया, जब दुनिया में एकतरफ कम्युनिज्म तो दूसरी तरफ पूंजीवाद का बोलबाला था। कम्युनिज्म में लोगों को वह सुख नहीं मिल पाया, जिसकी आकांक्षा थी। वहीं, पूंजीवाद में शोषण होने लगा। ऐसे समय में पं. दीनदयाल उपाध्याय ने देश को जनसंघ के रूप में एक वैकल्पिक राजनीतिक दल और एकात्म मानववाद के रूप में एक वैकल्पिक विचारधारा दी। यह बात भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने सोमवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर आयोजित समर्पण दिवस कार्यक्रम में कही। कार्यक्रम को प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत एवं जिला अध्यक्ष श्री विकास विरानी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में श्री शिवराजसिंह चौहान, श्री सुहास भगत सहित वरिष्ठ नेताओं ने अपनी सहयोग निधि का समर्पण किया। कार्यक्रम के पूर्व प्रदेश कार्यालय एवं लालघाटी चौराहा स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।

एकात्म मानववाद में एक-दूसरे के कल्याण का भाव
पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय के जीवन में आई कठिनाइयों और उनके विराट व्यक्तित्व का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने देश को एकात्म मानववाद उस समय दिया, जब देश में कांग्रेस का जलजला था। कांग्रेस सरकार की तुष्टिकरण की नीति से असंतुष्ट होकर डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। एक तिहाई दुनिया में कम्युनिज्म का बोलबाला था और कम्युनिस्ट यह सोचते थे कि उत्पादन के साधन जिनके हाथों में हैं, उनसे छीन लो और समाज के स्वामित्व में दे दो। दूसरी तरफ अमेरिका की अगुवाई में पूंजीवादी देश थे जो यह कहते थे कि हमारे एक हाथ में रोटी और दूसरे में अभिव्यक्ति की आजादी है। दुनिया में जहां भी कम्युनिस्ट क्रांतियां हुईं, लोग सुखी नहीं रह पाए। वहीं, पूंजीवादी व्यवस्था में शोषण होने लगा। तब पं. दीनदयाल उपाध्याय जी ने कहा कि पश्चिम का अंधानुकरण मत करो। हमें यह सोचना चाहिए कि हमारी भारतीय संस्कृति में ऐसा कोई विचार है, जिसके आधार पर हम समाज और राष्ट्र जीवन की रचना कर सकें। उन्होंने एकात्म मानव दर्शन का विचार दिया। इस प्रगतिशील विचार में हम सभी एक-दूसरे से जुड़कर अपना अस्तित्व साधते हुए एक-दूसरे के पूरक एवं स्वाभाविक सहयोगी बनते हैं। इसमें एक-दूसरे के लिए कल्याण का भाव होता है।
हम पं. उपाध्याय के बताए रास्ते पर बढ़ चले हैं
श्री चौहान ने कहा कि हम सब एक वैभवशाली, गौरवशाली, समृद्ध, सम्पन्न और एक शक्तिशाली भारत के निर्माण के लिए भाजपा में हैं। भारतीय जनता पार्टी पद-प्रतिष्ठा प्राप्त करने के लिए नहीं है, बल्कि यह भारत के निर्माण के लिए है। एक ऐसा भारत जो इक्कीसवीं शताब्दी में दुनिया का नेतृत्व करे और धीरे-धीरे हम इस दिशा में बढ़ चले हैं। श्री चौहान ने कहा कि हमारे श्रद्धेय श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पं. दीनदयाल उपाध्याय जी ने कश्मीर से धारा 370 समाप्त करने का जो संकल्प लिया था, उसे माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरा कर दिया गया है। भारत माता की जय का उद्घोष चारों दिशाओं में हो रहा है, मातृभूमि की वंदना हो रही है और इस सबके लिए हम पं. दीनदयाल उपाध्याय जी को प्रणाम करते हैं।

पं. उपाध्याय का जीवन हमारे लिये प्रेरणास्रोतः सुहास भगत
पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत ने कहा कि पं. दीनदयाल जी के बारे में पढ़ना हम सबके लिए जरूरी है। हम मैं से अधिकतर कार्यकर्ता उनके बारे में जितना सुनते हैं, उतना ही याद रखते हैं। हमें उनके बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है,  इसलिए हम उन्हें भी अन्य राजनेताओं की श्रेणी में रख लेते हैं। हमें यह जानना चाहिए कि किस प्रकार से उन्होंने अपना बचपन और अपना जीवन व्यतीत किया। उन्होंने कई परीक्षा दीं और उनमें गोल्ड मेडलिस्ट रहे। ऐसी परिस्थितियों में जबकि ठीक से भोजन करने की भी स्थिति नहीं थी, तब उन्होंने पढ़ाई करने के बारे में सोचा। ऐसे में गोल्ड मैडल हासिल करना कितना कठिन रहा होगा। इसके अलावा उन्हें अपने भाई-बहनों की देखभाल भी करना होती थी। श्री भगत ने कहा कि कठिन संघर्षों से भरा पं. उपाध्याय का जीवन हम सभी के लिये प्रेरणास्रोत है।
हम उस पार्टी के कार्यकर्ता जिसका निर्माण मनीषियों के बलिदान से हुआः विरानी
पं. उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पार्टी के जिला अध्यक्ष श्री विकास विरानी ने कहा कि हम अपने वरिष्ठ नेताओं से यह सुनते रहे हैं कि इस पार्टी को बनाने में पं. दीनदयाल उपाध्याय, डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और श्रद्धेय कुशाभाऊ ठाकरे का योगदान रहा है। इन सभी का जीवन वृतांत हमारे सामने है। इनका जीवन योगी और तपस्वियों की तरह रहा है। हर तरह की कठिनाइयों के बीच उन्होंने जिस तरह पार्टी को विस्तार दिया, वह हमारे लिये एक प्रेरणा है। श्री विरानी ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि हम उस पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जिसका निर्माण पं. उपाध्याय जैसे मनीषियों के बलिदान से हुआ है। उन्होंने कहा कि ऐसे संगठन का सदस्य होने के नाते हमारा भी यह दायित्व है कि हम अपने दल और संगठन के विस्तार के लिये अपना बहुमूल्य समय समर्पण के रूप में दें। उन्होंने कहा कि हम सभी इस दिशा में काम कर रहे हैं और आज यह संकल्प लेते हैं कि इसी तरह भारतीय जनता पार्टी की सेवा करते रहेंगे।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री रामेश्वर शर्मा, प्रदेश मंत्री श्री पकंज जोशी, पूर्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता, महापौर श्री आलोक शर्मा, प्रदेश कार्यालय मंत्री श्री राजेन्द्रसिंह राजपूत, पूर्व सांसद श्री आलोक संजर, श्री बसंत गुप्ता, श्री सुरजीत सिंह चौहान, श्री अशोक सैनी उपस्थित थे।

पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि प्रदेश भर में समर्पण दिवस के रूप में मनाई
कार्यकर्ताओं ने समर्पण दिवस कार्यक्रम के साथ सेवा कार्यों का किया आयोजन
आजीवन सहयोग निधि अभियान की शुरूआत

भोपाल। राष्ट्र चिंतक एवं एकात्म मानव दर्शन के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि को प्रदेश भर में कार्यकर्ताओं ने समर्पण दिवस के रूप में मनाया। बूथ स्तर तक भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पं. दीनदयाल जी का स्मरण करते हुए उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। इसके साथ ही प्रदेश में किसी न किसी रूप में सेवा कार्यों का आयोजन भी किया गया। प्रदेश के सभी मंडलों में आजीवन सहयोग निधि के कार्यक्रमों में समर्पण राशि एकत्रित की गयी। भोपाल में पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश कार्यालय में आजीवन सहयोग निधि अभियान की शुरूआत की।
दीनदयालजी ने देश और समाज को एकात्म मानवदर्शन दिया : कृष्णमुरारी मोघे
इंदौर में भंवरकुंआ स्थित पं. दीनदयाल उपवन एवं बापट चौराहा स्थित प्रतिमा स्थल पर पार्टी के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने माल्यार्पण कर पं. दीनदयाल जी का स्मरण किया। कार्यकर्ताओं ने आजीवन सहयोग निधि एवं समर्पण राशि एकत्रित कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। कार्यक्रम को आजीवन सहयोग निधि के प्रदेश प्रभारी, वरिष्ठ नेता श्री कृष्णमुरारी मोघे ने संबोधित करते हुए कहा कि पं. दीनदयालजी उपाध्याय जी ने एकात्म मानववाद का दर्शन देश और समाज को दिया। दीनदयालजी से प्रेरित होकर, उनके विचारों को आत्मसात करते हुए आज हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी उसी तरह कार्य कर रहे हैं। समाज के प्रत्येक वर्ग की चिंता मोदी सरकार ने की है। संभागीय संगठन मंत्री जयपालसिंह चावड़ा ने संबोधित करते हुए कहा कि पं. दीनदयाल जी ने भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा देकर पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति के लिए कार्य करने की प्रेरणा दी। इस अवसर पर नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, रमेश मेंदोला, महेंद्र हार्डिया, सुदर्शन गुप्ता, मधु वर्मा, आकाश विजयवर्गीय, गणेश गोयल, घनश्याम शेर, कमल बाघेला, अभिषेक बबलू शर्मा उपस्थित थे।
दीनदयालजी जीवन पर्यन्त राष्ट्र और गरीबों के प्रति समर्पित रहे : शेजवलकर
ग्वालियर में पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर मंगलवार दीनदयाल नगर स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। वीर दुर्गादास मंडल में सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय का पूरा जीवन ही प्रेरक रहा है। वे जीवन भर राष्ट्र और गरीबों के प्रति समर्पित थे। इस अवसर पर पूर्व मंत्री बालेंदु शुक्ला, अभय चौधरी, राकेश जादौन सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। इसी प्रकार शहीद भगत सिंह मंडल में जिलाध्यक्ष श्री देवेश शर्मा, कोटेश्वर मंडल में श्री लालजी जादौन, रानी लक्ष्मीबाई मंडल में श्री कमल मखीजानी, स्वामी विवेकानंद मंडल में श्री अभय चौधरी, हेमू कालानी मंडल में पूर्व मंत्री श्री नारायण सिंह कुशवाह, पं. दीनदयाल उपाध्याय मंडल में पूर्व साडा अध्यक्ष श्री राकेश जादौन, रामकृष्ण मंडल में पूर्व साडा अध्यक्ष श्री जय सिंह कुशवाह एवं जिला महामंत्री श्री शरद गौतम तथा वीर सावरकर मंडल में श्री सतीश सिंह सिकरवार मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम में सम्मिलित हुए।
पं. दीनदयाल जी ने देश की राजनीति को विचारधारा दी : बरूआ
जबलपुर में दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि के अवसर पर पुष्पांजलि कार्यक्रम में सम्भागीय संगठन मंत्री श्री शैलेन्द्र बरूआ ने कहा कि भारतीय राजनीति में शुचिता, सादगी और सरलता वाले व्यक्तित्व में से एक पंडित दीनदयाल उपाध्याय थे। जिन्होंने देश की राजनीति को एक विचारधारा दी। उन्होने कहा कि 25 सितम्बर 1916 को उत्तरप्रदेश के मथुरा में जन्म लेने वाले पं. दीनदयाल जी का मानना रहा कि समाजवाद, साम्यवाद और पूंजीवाद व्यक्ति के एकांगी विकास की बात करते है जबकि व्यक्ति की समग्र जरूरतों का मूल्यांकन किए बिना कोई भी विचार भारत के विकास के अनुकूल नहीं होगा और पं. दीनदयाल जी ने भारतीयता के अनुकूल पूर्ण भारतीय चिंतन के रूप में एकात्म मानववाद का दर्शन प्रस्तुत किया जो भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का आदर्श है। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्याक्ष श्री विनोद गोंटिया, महापौर डॉ. स्वाति गोडबोले, पूर्व मंत्री शरद जैन, विधायक श्री अशोक रोहाणी, दीपांकर बैनर्जी, सदानन्द गोडबोले, एस.के.मुद्दीन सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।
भाजपा के विराट रूप के पीछे दीनदयालजी का बलिदानः सीताशरण शर्मा
होशंगाबाद संभाग के सभी जिलों एवं मंडलों में पं. दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। होशंगाबाद के संभागीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री सीताशरण शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि पं. दीनदयाल जी ने एकात्म मानववाद के जिस विचार को प्रतिपादित किया था, उस विचार को अंगीकार कर केन्द्र सरकार और अन्य प्रांतों में भाजपा की सरकारें जनकल्याण का काम कर रही है। भारतीय जनता पार्टी आज जिस विराट रूप में वैश्विक पटल पर है, उसके पीछे पं. दीनदयालजी का बलिदान है। कार्यक्रम में उपस्थित वरिष्ठ नेताओं एवं पदाधिकारियों ने पं. दीनदयाल जी के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री गिरिजाशंकर शर्मा, भाजपा अध्यक्ष श्री हरिशंकर जायसवाल, श्री शंभु सोनकिया, श्री मनोहर बनानी, श्रीमती माया नारोलिया, श्री हंस राय, श्री दिनेश तिवारी, श्री पीयूष शर्मा सहित जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।
पं. उपाध्याय जी का अनुसरण करें कार्यकर्ताः प्रदीप लारिया
सागर संभाग में विधानसभावार मंडल स्तर तक पं. दीनदयाल जी की पुण्यतिथि पर सेवा कार्यो के आयोजन हुए। कार्यकर्ताओं एवं पार्टी पदाधिकारियों ने दीनदयालजी के चित्र पर माल्यार्पण कर उनका पुण्य स्मरण किया। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री प्रदीप लारिया ने नरयावली विधानसभा के मकरोनिया नगर एवं ग्रामीण मंडल के कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए दीनदयालजी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी। आज केन्द्र की मोदी सरकार और कई राज्यों में भाजपा सरकार इस विचारधारा को अंगीकार कर समाज के अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति की चिंता कर रही है। उन्होनें कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में दीनहीनों और दरिद्र नारायण की सेवा करें, यही पंडित उपाध्याय को सच्ची श्रद्धांजली होगी। कार्यक्रम में वरिष्ठ नेता बलवंत सिंह, मिश्रीचंद गुप्ता, पार्षद हरलाल साहू, कपिल कुशवाहा अशोक पटैल, बाबूलाल रोहित, अशोक सिंह पड़रिया, पूर्व एल्डरमेन श्रीमति सुधा शर्मा, मिहीलाल अहिरवार उपस्थित थे।
पं. उपाध्याय ने ही दिया भाजपा को विस्तार : छाबडा
शहडोल में पंडित दीनदयाल उपाध्यायजी की पुण्यतिथि के अवसर पर मंगलवार को जिला मुख्यालय में संगोष्ठी का आयोजन कर पुष्पांजलि अर्पित की गई। उपस्थित पार्टीजनों को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष इंद्रजीतसिंह छाबड़ा ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय के त्याग और बलिदान के कारण ही आज भारतीय जनता पार्टी इतने विशाल स्वरूप में दिखाई दे रही है। इस अवसर पर उपाध्यक्ष प्रकाश जगवानी, श्री राकेश पाण्डे, श्री राजेन्द्र त्रिपाठी सहित पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।
अंतिम व्यक्ति की सेवा भाजपा का ध्येयः मोहन यादव
उज्जैन में पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर सोमवार को समर्पण दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने नानाखेडा स्थित दीनदयालजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। विधायक मोहन यादव, जिला अध्यक्ष विवेक जोशी ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय से प्रेरणा लेकर समाज के अंतिम व्यक्ति की सेवा करना ही भाजपा का ध्येय है। इस अवसर पर महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, श्री सोनू गेहलोत, श्री ओम जैन, श्री अनिल जैन कालूहेडा, श्री इकबाल सिंह गांधी, श्री शिवा कोटवानी, श्री वीरेन्द्र कावडिया सहित बडी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।mp news,mpcm news,mpcm,kamal nath,mp bjp,shivrajsing chouhan,bhopal news