नर्मदा सेवा यात्रा के पहले दिन अरण्डी आश्रम में लगी मुख्यमंत्री चौहान की चौपाल

नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने के लिये गंदगी प्रवहित करने की प्रवृत्ति छोड़ें
भोपाल : रविवार, दिसम्बर 11, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि माँ नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने के लिये उसमें गदंगी प्रवाहित करने की प्रवृत्ति छोड़ना होगा। उसमें जल समाधि नहीं दें और पूजन आदि सामग्री नहीं डाले। ऐसा नहीं करें कि ले मैया ले जा, इससे माँ नर्मदा प्रदूषित होती है। श्री चौहान नर्मदा सेवा यात्रा के पहले पड़ाव में लगी चौपाल में नागरिकों से संवाद कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अरण्डी आश्रम में जन-संवाद करते हुये कहा कि उन्हें इस यात्रा की प्रेरणा डिण्डौरी में माँ नर्मदा की घटती जलधारा को देख कर मिली। यात्रा के पवित्र उद्देश्यों को बताते हुए उन्होंने कहा कि माँ नर्मदा के दोनों तट पर एक हजार किलोमीटर तक वृक्षारोपण किया जायेगा। इससे पर्यावरण और जल-संरक्षण और किसानों के घर समृद्धि आयेगी। किसानों के सुझावों के अनुसार पौधे तैयार किये जायेंगे तथा बरसात में वृक्षारोपण किया जायेगा। इसके अलावा तट के गाँव के हर घर में शौचालय बनवाने के लिये 12-12 हजार रूपये स्वीकृत किये जायेंगे। नगरों का गंदा पानी शुद्ध करके ही माँ नर्मदा में प्रवाहित किया जायेगा। प्रत्येक गाँव में नर्मदा सेवा समिति गठित की जायेगी। इसके अलावा मुक्ति-धाम एवं महिलाओं के वस्त्र बदलने के लिये चेंजिंग रूम बनाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि नशा नाश की जड़ है इसीलिये नशामुक्ति का संदेश दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने यात्रा में समाज के हर वर्ग को जुड़ने का आव्हान करते हुये कहा कि इसमें जन-जन की भागीदारी होना चाहिये। वे स्वयं भी हर सप्ताह शामिल होंगे। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि सबके सहयोग से यह यात्रा दुनिया की अनोखी और अदभुत यात्रा होगी।

कार्यक्रम में स्वामी अखिलेश्वरानन्द, साध्वी प्रज्ञा भारती, सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

इस दौरान नागरिकों ने सुझाव भी दिये। चौपाल में गीत-संगीत का कार्यक्रम भी हुआ। इसके पूर्व श्री चौहान ने माँ नर्मदा की आरती की। यात्रा में भी भजन-मण्डलियाँ गीत-संगीत और नृत्य का कार्यक्रम प्रस्तुत करते हुये उत्साह और उमंग भर रही थीं।

इस अवसर पर वन मंत्री डॉ गौरीशंकर शेजवार, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संजय सत्येन्द्र पाठक, विधायक सर्वश्री ओमकार सिंह मरकाम, रामलाल रौतेल, जन-प्रतिनिधि तथा ग्रामीणजन उपस्थित थे। यात्रा सोमवार को आगे के लिये प्रस्थान करेगी। इसमें मुख्यमंत्री करंजिया तक की यात्रा में शामिल होंगे।