देश-दुनिया में शांति के लिए अहिंसा ही एक मात्र विकल्प : मुख्यमंत्री कमल नाथ

(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,mpnews,madhyapradesh news,kamal nath ke samachar
देश-दुनिया में शांति के लिए अहिंसा ही एक मात्र विकल्प : मुख्यमंत्री कमल नाथ
मुख्यमंत्री द्वारा “गांधी संदेश पद यात्रा” पत्रिका का विमोचन
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) ने सत्य और अहिंसा का जो मार्ग दिखाया है, वही एक मात्र विकल्प है, जो हमारे देश और दुनिया में शांति कायम कर सकता है। कमल नाथ ने आज मुख्यमंत्री निवास पर ‘गांधी संदेश पद यात्रा’ पुस्तक का विमोचन कर रहे थे।(30 January 2020)

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि देश की वर्तमान और भावी पीढ़ी को गांधी जी के विचारों से अवगत कराना आज की सबसे बड़ी जरूरत है। विभिन्न संस्कृतियों, भाषाओं और धर्म पर आधारित हमारे देश की यह विशेषता बनी रहे, एक दूसरे के प्रति सम्मान का भाव रहे, इसके लिए हर भारतीय को प्रयास करना चाहिए। श्री कमल नाथ ने कहा हमारे देश का संविधान पूरी दुनिया में सबसे महान संविधान है। यह सर्व धर्म समभाव और समानता पर आधारित है। कई देशों ने हमारे संविधान को अपनाया है। यह संविधान अक्षुण्ण रहे, यह हम सभी का कर्तव्य है।

महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) के 150वीं जंयती वर्ष के अवसर पर ‘गांधी संदेश पद यात्रा’ जबलपुर से 25 दिसंबर को शुरू हुई। इसका समापन मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने 6 जनवरी को छिंदवाड़ा में किया। समापन अवसर पर हुए कार्यक्रम में 25 हजार स्कूली बच्चों ने महात्मा गांधी के प्रिय भजन ‘वैष्णनव जन को तैने कहिए’ को सामूहिक रूप से गाया, जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बना है। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के साउथ एशिया हेड श्री आलोक कुमार ने मुख्यमंत्री को इस रिकॉर्ड का प्रमाण-पत्र प्रदान किया। श्री दुर्गेश पटेल के नेतृत्व में 70 पद यात्रियों ने गाँवों और स्कूलों में जाकर गांधी जी के संदेश को पहुँचाया। पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधारोपण भी किया।

भारत की एकजुटता के लिए महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने की आवश्यकता
मुख्यमंत्री मल नाथ द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का पुण्य-स्मरण

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शहीद दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का पुण्य-स्मरण करते हुए कहा कि आज भारत को एकजुट बनाए रखने के लिए महात्मा गांधी द्वारा दिखाए रास्ते पर पूरी दृढ़ता के साथ चलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यही एकमात्र विकल्प है जो देश को एक सूत्र में पिरोए रख सकता है।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने अपने संदेश में कहा कि सद्भाव और अहिंसा की आज भारत को सबसे ज्यादा जरूरत है। गांधी जी ने इसके लिए अपने प्राणों तक का बलिदान दे दिया। हम सभी नागरिकों का कर्तव्य है कि देश को बांटने की कोशिशों को नाकामयाब करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत का भविष्य विभिन्नता और अनेकता में एकता की भावना से ही सुरक्षित है। हमारी यह संस्कृति अक्षुण्ण बनी रहे, इसके लिए गांधी जी के दिखाए गए मार्ग पर पूरी दृढ़ता से एक साथ चलने का संकल्प लें। यही हमारी उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

शहीद दिवस 30 जनवरी को मंत्रालय में दो मिनिट का मौन
शहीद दिवस 30 जनवरी को मंत्रालय के समक्ष सरदार पटेल पार्क में 2 मिनिट का मौन धारण किया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा इस संबंध में जारी आदेश में बताया गया है कि सरदार पटेल पार्क में प्रात: 11 बजे महात्मा गाँधी के बलिदान दिवस और शहीदों की स्मृति में दो मिनिट का मौन धारण किया जाएगा।

(30 January 2020)(todayindia),Headlines,Latest News,Breaking News,Cricket ,Bollywood news,today india news,today india,mpnews,madhyapradesh news,kamal nath ke samachar