दिल्ली ACB ने शुरू की टैंकर घोटाले की जांच, कहा- सबूत मिले तो CM के खि‍लाफ भी लेंगे एक्शन

Jun 17 2016
नई दिल्ली: दिल्ली एसीबी ने वाटर टैंकर घोटाला मामले में बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता की शि‍कायत पर जांच शुरू कर दी है. गुप्ता ने अरविंद केजरीवाल की सरकार पर 11 महीने तक फाइल को दबाकर रखने और इस दौरान कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. एंटी-करप्शन ब्यूरो के चीफ एमके मीणा ने कहा कि अगर सबूत मिलते हैं तो सीएम के खि‍लाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

शुक्रवार को एसीबी चीफ ने कहा, ‘विजेंद्र गुप्ता ने शि‍कायत दी है, जिस पर जांच शुरू कर दी गई है. अगर सबूत सामने आते हैं तो मुख्यमंत्री के खि‍लाफ भी कार्रवाई की जाएगी. जरूरत पड़ी तो पूछताछ भी की जाएगी.’

दो अलग-अलग शि‍कायतों पर जांच शुरू
मीणा ने कहा, ‘हमें दो अलग-अलग शि‍कायतें मिली हैं. इनमें पहली श‍िकायत दिल्ली सरकार की वाटर टैंकर घोटले पर रिपोर्ट को लेकर है. इसमें अनियमितता और 400 करोड़ रुपये के घाटे का जिक्र है. हम इस ओर जांच कर रहे हैं. जबकि दूसरी शि‍कायत विजेंद्र गुपता ने की है. इसमें दिल्ली सरकार पर आरोप है कि रिपोर्ट के बावजूद घोटाला मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई.’

जरूरत पड़ी तो करेंगे पूछताछ
एसीबी चीफ ने बताया कि बीजेपी नेता की शिकायत में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का भी नाम है. एमके मीणा ने कहा कि दोनों ही शिकायत पर जांच शुरू कर दी गई है, जिस किसी से पूछताछ की जरूरत पड़ेगी, हम करेंगे.

बता दें कि विजेंद्र गुप्ता ने उपराज्यपाल नजीब जंग को भी चिट्ठी लिखकर अरविंद केजरीवाल पर 11 महीने तक फाइल दबाकर रखने के आरोप लगाए हैं.
courtesy