छह रुपये किलो की दर से सरकार खरीदेगी प्याज

 

भोपाल : बुधवार, जून 1, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल जिले में फंदा विकास खंड के तारा सेवनिया गाँव में ‘ग्रामोदय से भारत उदय’ अभियान के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार किसानों की मेहनत का सम्मान करती है। उन्हें किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होने देगी। इसलिये प्याज उत्पादकों से 6 रुपये किलो की दर से खरीदेगी। खरीदी के लिए सभी इंतजाम करने के निर्देश दे दिए गए है।

ग्राम सभा की बैठक में अपने मार्गदर्शी उदबोधन में श्री चौहान ने कहा कि किसानों को समय पर मदद देने के लिये किसान कल्याण कोष बनाया जायेगा ताकि उन्हें घाटा नहीं हो। उन्होंने कलेक्टरों से कहा है कि वे ऐसी व्यवस्था करें कि खेती की योजना भी गाँव में ही बने और ग्राम सभा में चर्चा हो। जब तक किसान खुश नहीं होंगे समृद्ध प्रदेश का सपना अधूरा रहेगा।

मुख्यमंत्री ने ‘ग्रामोदय से भारत उदय” अभियान को अनूठा अभियान बताते हुए कहा कि गाँव के विकास की योजना गाँवों में ही बनेंगी और सरकार इन योजनाओं पर अमल करेगी। उन्होंने गाँव के निवासियों को स्वच्छ भारत मिशन में गाँवों में साफ़-सफाई रखने, पानी बचाने, बच्चों को रोज स्कूल भेजने, बिजली की बचत करने और गाँव को नशामुक्त बनाने का संकल्प दिलवाया।

मुख्यमंत्री ने तारा सेवनिया में खेल का मैदान बनाने और हायर सेकेण्डरी स्कूल खोलने की घोषणा की। ग्रामोदय अभियान की प्रगति की चर्चा करते हुए श्री चौहान ने स्वेच्छा से आगे आकर बी.पी.एल. सूची से नाम हटवाने वालों को धन्यवाद दिया । श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने रोटी, कपड़ा और मकान की सुविधा के इंतजाम किये हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामोदय अभियान में एक लाख 44 हजार पात्र व्यक्तियों के नाम बी.पी.एल सूची में जोड़े गये हैं। एक लाख 67 हजार पेंशन प्रकरण स्वीकृत किये गये हैं और 4 लाख 66 हजार जाति प्रमाण-पत्र जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि 16 लाख से ज्यादा किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जोड़ा गया है। इसके अलावा 16 लाख महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया है। गंभीर बीमारी वाले प्रकरणों में नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। संतानहीन बहनों का इलाज करवाने की व्यवस्था भी की जायेगी।

श्री चौहान ने कहा है कि खेती-किसानी को लाभकारी बनाने के लिये सरकार प्रतिबद्ध है। किसानों को जीरो प्रतिशत पर ब्याज दिया जा रहा है और अब एक लाख रुपये लेने पर सिर्फ 90 हजार रुपये लौटाने का भी प्रावधान किया गया है। किसानों पर आये संकट को देखते हुए राहत राशि के रूप में 4,600 करोड़ रुपये किसानों के खातों में दिये गये हैं और 4300 करोड़ रूपये फसल बीमा के लिये जल्द ही दिलवाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब खेती के तरीकों को बदलने का समय आया है। खेती की योजना ग्राम की सभा की बैठकों में तय होगी। फसलों का चुनाव भी ग्राम सभा में किया जायेगा ताकि कृषि जलवायु क्षेत्र, मिट्टी और जल-संसाधन की उपलब्धता के अनुसार फसलें ली जायें।

मुख्यमंत्री ने जल-संरक्षण पर जोर देते हुए कहा है कि हर ग्राम पंचायत में कम से कम एक जल संरचना अवश्य होना चाहिये। नदियों को नया जीवन देने का अभियान भी चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में नवाचारी प्रयास हुए हैं जिन्हें अन्य जिलों में भी अपनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में कम से कम एक ग्रामोद्योग इकाई स्थापित होना चाहिये। होशंगाबाद के केसला में महिलाओं के स्व-सहायता समूह द्वारा संचालित पोल्ट्री फार्म की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि गाँव में आय बढ़ाने के सभी प्रयास करने होंगे।

मुख्यमंत्री ने गरीबों को आवास सुविधा देने की प्राथमिकता को रेखांकित करते हुए कहा कि जो आवासहीन व्यक्ति जहाँ रह रहा है उसे उसकी जमीन के स्वामित्व का पट्टा देने का अभियान चलाया जायेगा। हर हर साल 3 लाख आवास बनाये जायेंगे। वर्ष 2022 तक कोई भी गरीब व्यक्ति बिना छत के नहीं रहेगा। जरूरतमंद हितग्राहियों की सूची ग्राम सभा में पारदर्शी रूप से तय होगी।

श्री चौहान ने बच्चों को स्कूल भेजने की अपील करते हुए कहा कि सरकार पाठय-पुस्तकें, गणवेश और छात्रवृत्ति तथा स्कूल जाने के लिये साइकिल नि:शुल्क दे रही है। इसलिये पढ़ाई की चिंता करने की जरूरत नहीं है। बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजें। उन्हें पढ़ने और आगे बढ़ने दें। चाहे वे विदेश जायें या किसी इंजीनियरिंग या मेडिकल कॉलेज में जायें। पढ़ाई के लिये पैसों की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

शहर में पढ़ने आने वाले बच्चों का किराये का मकान देने और किराया सरकार द्वारा भरने की सुविधा दी गयी है। गरीब बच्चों को निजी इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई की फीस भी सरकार भरेगी। प्रतिभाशाली गरीब बच्चों की पढाई की व्यवस्था करने के लिये जल्दी ही योजना लागू की जायेगी।

गाँवों में रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार और युवा उद्यमी योजना जैसी महत्वपूर्ण योजनाएँ युवाओं के लिये चलाई गई हैं। बैंक से लोन लेने पर पाँच साल के लिये ब्याज अनुदान भी सरकार भरेगी। उन्होंने कहा कि जनसंख्या वृद्धि के साथ कौशल उन्नयन हो, तो यह वरदान सिद्ध होगी।

प्रधानमंत्री द्वारा भारत का कायाकल्प करने के लिये चलाई गयी योजनाओं की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज पूरे विश्व में भारत का मान-सम्मान बढ़ा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी केवल भारत के नहीं बल्कि विश्व नेता के रूप में सामने आये हैं।

महिलाओं और बेटियों की गरिमा और सम्मान बढ़ाने के प्रयासों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं को पंचायतों में 50 प्रतिशत आरक्षण देने का उत्साहजनक परिणाम रहा है। वे 56 प्रतिशत सीटों पर चुनकर आयीं और अपनी प्रतिभा के साथ सरकार में भागीदारी कर रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस में 35 प्रतिशत और शिक्षकों की भर्ती में 50 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया है। श्री चौहान प्रधानमंत्री उज्जवला योजना शुरू करने के लिये नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद दिया और कहा कि तीन साल में 5 करोड़ गरीब बहनों को गैस चूल्हे की सुविधा दी जायेगी। श्री चौहान ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के रूप में नहीं बल्कि परिवार के मुखिया के रूप में सरकार चला रहे हैं।

आदिवासी समाज के आदर्श रहे टट्या भील जैसे महान पुरुषों का सम्मान करने की पहल सरकार ने की। भोपाल में रानी कमलापति की प्रतिमा लगाई जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश के तेज गति से विकास और सभी वर्गों के कल्याण के लिये सरकार और समाज को साथ मिलकर काम करना होगा। सरकार की जिम्मेदारी और समाज का सहयोग साथ-साथ मिल जायें तो विकास में और तेजी आयेगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचारियों को दण्ड मिलेगा और अच्छा काम करने वालों का सम्मान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान जिन अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपना कार्य ईमानदारी और परिश्रम से किया। उनका सम्मान स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर किया जायेगा।

इस अवसर पर स्थानीय सांसद श्री आलोक संजर ने कहा कि राज्य की विकास योजनाओं के अच्छे परिणाम को देखते हुए अब अन्य राज्यों में इनका अध्ययन हो रहा है। विधायक श्री विष्णु खत्री ने कहा कि इस अभियान के दौरान आवेदनों का तत्काल निराकरण हुआ। इस अभियान को और चलाने की आवश्यकता होगी।

ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री श्री गोपाल भार्गव, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री मनमोहन नागर, फंदा जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती आरती यादव, पूर्व विधायक श्री भक्तपाल सिंह, श्री गोपाल मीणा और गाँववाले उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत राशि के चेक भेंट किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *