छठ पूजा 2018(Chhath Pooja 2018)

छठ पूजा (Chhath Pooja 2018)में भगवान सूर्य की पूजा की जाती है. ऐसी मान्यता है कि भगवान सूर्य को प्रसन्न करने में जो जातक कामयाब हो जाते हैं, उनकी हर मुराद पूरी हो जाती है. जिन लोगों की संतान नहीं है, उन्हें संतान की प्राप्ति होती है. (Chhath Pooja 2018)


नहाय खाय के द‍िन गंगा स्‍नान करने का चलन है. इस द‍िन घर की पूरी सफाई की जाती है और छठी मइया के स्‍वागत के ल‍िए घर आंगन, घर के आगे और पीछे हर स्‍थान की सफाई होती है. छठ का पर्व चार द‍िनों का होता है और इसका व्रत सभी व्रतों में सबसे कठ‍िन होता है. इसल‍िए इसे महापर्व के नाम से जाना जाता है.(Chhath Pooja 2018)
रविवार 11 नवंबर से छठ पूजा(Chhath Pooja 2018) का शुभारंभ हो रहा है. छठी मइया के भक्‍तों ने छठ पूजन की सारी तैयारी कर लगभग पूरी कर ली है. पूजन की सारी सामग्री खरीदी जा चुकी है और अब नाय खाय से पूजन की व‍िध‍ि शुरू हो जाएगी.


लोक आस्था के महापर्व ‘छठ’ (Chhath Pooja 2018)का हिंदू धर्म में अलग महत्व है। यह एकमात्र ऐसा पर्व है जिसमें ना केवल उदयाचल सूर्य की पूजा की जाती है बल्कि अस्ताचलगामी सूर्य को भी पूजा जाता है। महापर्व के दौरान हिंदू धर्मावलंबी भगवान सूर्य देव को जल अर्पित कर आराधना करते हैं। बिहार में इस पर्व का खास महत्व है। मान्यता है कि छठ देवी सूर्य देव की बहन हैं (Chhath Pooja 2018)और उन्हीं को प्रसन्न करने के लिए भगवान सूर्य की अराधना की जाती है।
आज घाटों पर अस्ताचलगामी सूर्यदेवता को व्रती अर्घ्य देंगे और कल उदीयमान सूर्य की उपासना करेंगे। सोमवार की शाम को खरना पूजा के साथ ही छठव्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो गया है। मंगलवार को शाम का अर्घ्य व बुधवार को सुबह के अर्घ्य के बाद व्रती महिलाएं पारण करेंगी।


अर्घ्य के बाद पारण के साथ महापर्व छठ का समापन हो जाएगा। सुबह से खरना की तैयारी में जुटे छठव्रतियों ने मिट्टी के चूल्हे पर आम की लकड़ी जलाकर गुड़(Chhath Pooja 2018) से बनी खीर और घी लगी सोहारी तैयार कर भगवान भास्कर की पूजा-अर्चना कर ग्रहण किया। सुख-समृद्धि की कामना की। खरना के बाद आसपास के लोगों ने भी व्रतियों के घर पहुंचकर प्रसाद ग्रहण किया।
दिल्ली में भी छठ को लेकर खास तैयारी की गई है. दिल्ली के स्कूलों में छुट्टी का ऐलान किया है. सरकार के आदेश के बाद मंगलवार को दिल्ली सरकार की सभी स्कूल बंद रहेंगी.(Chhath Pooja 2018)
घाट और ट्रेफिक की खास व्यवस्था की जा रही है. पिछली बार दिल्ली सरकार ने दिल्ली में 600 जगहों पर छठ पूजा का आयोजन किया था, लेकिन इस बार सरकार की ओर से 1000 जगहों पर छठ पूजा का आयोजन किया जाएगा. इसके अलावा पानी के लिए भी पूरी व्यवस्था की गई है.(Chhath Pooja 2018)


बिहार में राजनेताओं के छठ(Chhath Pooja 2018) की बात करें तो राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव तथा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के घरों के छठ चर्चा में रहते आए हैं। इस बार राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के घर सन्‍नाटा पसरा है। दूसरी ओर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर छठ की रौनक दिख रही है।
==================================
Courtesy