ग्रामीण क्षेत्र में अधोसंरचना का विकास राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में

भोपाल : शुक्रवार, अगस्त 5, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधोसंरचना का विकास राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में है। उन्होंने निर्माण कार्यों को तय समय-सीमा में पूरा किये जाने के निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान गुरूवार को शहडोल जिले के कनाड़ी खुर्द में जनदर्शन सभा को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ब्यौहारी क्षेत्र के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। उन्होंने बताया कि सोन नदी के पानी को रोककर समूह पेयजल योजना बनाकर 61 गाँव में पेयजल व्यवस्था के लिये 129 करोड़ 64 लाख रूपये की योजना मंजूर की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाणसागर परियोजना से 53 गाँव को पानी देने की योजना के लिये करीब 28 करोड़ मंजूर किये गये हैं। मुख्यमंत्री ने ब्यौहारी और खांड नगर पंचायत को गरीबों के आवास बनाने के लिये 20-20 करोड़ रूपये स्वीकृत किये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहडोल के तहसील मुख्यालय गोहपारू में अगले शिक्षण सत्र से महाविद्यालय खोला जायेगा। उन्होंने कहा कि पेंशनरों को पोस्ट ऑफिस और बैंक से भुगतान में हो रही देरी को देखते हुए अब पंचायत के 5 पंच के सामने नगद राशि के रूप में पेंशन राशि बाँटी जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीणों से कहा कि गोहपारू तहसील के 25 गाँव में पेयजल उपलब्ध करवाने के लिये सोन नदी पर इंटेक बेल बनाकर पाइप लाईन के जरिये घर-घर पानी पहुँचाने की व्यवस्था की जायेगी। इस पर 40 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जायेगी। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सिंचाई का रकबा बढ़ाने में राज्य सरकार ने विशेष ध्यान दिया है। ढाई लाख एकड़ क्षेत्र में सिंचाई व्यवस्था के लिये 28 करोड़ की सिंचाई योजना मंजूर की गई है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि खन्नौधी ग्राम पंचायत में यात्रियों की सुविधा के लिये बस स्टेण्ड बनाया जायेगा। प्रभारी मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने भी संबोधित किया। इस मौके पर अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र मरावी और विधायक श्रीमती प्रमिला सिंह भी मौजूद थीं।