क्या कोच चुने जाने के मामले में आमने-सामने थे विराट कोहली और सलाहकार समिति…?

Jun 23 2016
नई दिल्ली: पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान अनिल कुंबले का मौजूदा भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनना लगभग तय हो गया है, और जल्द ही उनके नाम का ऐलान हो सकता है, लेकिन उनका नाम तय करने में परेशानियां कम नहीं आईं…

सबसे पहले, भारतीय टीम के कोच पद के लिए कुल 57 आवेदन मिले थे, जिनमें से स्क्रीनिंग कमेटी ने 21 उम्मीदवार छांटे थे, और उनमें अनिल का नाम मौजूद नहीं था, क्योंकि वह उन दो मापदंडों पर खरे नहीं उतरते, जो भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने कोच बनने के लिए तय किए थे। अनिल कुंबले कभी किसी फर्स्ट क्लास टीम के कोच नहीं रहे हैं, और इसके अलावा वह सर्टिफाइड कोच भी नहीं हैं।

उस समय तक लग रहा था कि खुलकर रवि शास्त्री की वकालत करने वाले टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली की बात मान ली जाएगी, और शास्त्री ही टीम इंडिया के अगले मुख्य कोच होंगे, लेकिन लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली, मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और ‘वेरी वेरी स्पेशल’ कहे जाने वाले वीवीएस लक्ष्मण की सलाहकार समिति ने ऐन मौके पर फिर अनिल कुंबले के नाम पर चर्चा की और उनके शानदार करियर और मैदान के भीतर व बाहर उनके बर्ताव को देखते हुए उन्हें कोच पद का सबसे बड़ा दावेदार माना।

सूत्रों ने बताया कि इसके बाद भी जब सलाहकार समिति अनिल कुंबले के नाम पर मुहर लगा रही थी, बोर्ड के एक वरिष्ठ सदस्य ने समिति को इस मुद्दे पर कप्तान विराट कोहली से सलाह-मशविरा करने की सलाह दी। सूत्र के मुताबिक, इसी बात पर सलाहकार समिति के एक सीनियर सदस्य को गुस्सा आ गया, और उन्होंने सवाल किया कि अगर विराट कोहली की पसंद ही मानी जानी थी, तो समिति के गठन का क्या औचित्य था।

लेकिन, अब समिति भारत की ओर से सबसे ज़्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले अनिल कुंबले के नाम पर मुहर लगा चुकी है, और उनके नाम का ऐलान बहुत जल्द किया जा सकता है…
courtesy