किसान की जिंदगी में प्रसन्नता लाना प्रमुख ध्येय-मुख्यमंत्री चौहान

भोपाल : शुक्रवार, नवम्बर 4, 2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज दतिया में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ फसल के दौरान किए गए फसल बीमा की क्लेम राशि के रूप में 9 करोड़ 39 लाख की राशि के प्रमाण-पत्र किसानों को वितरित किए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों की जिंदगी में प्रसन्नता लाना राज्य सरकार का प्रमुख ध्येय है। इसके लिए राज्य सरकार ने हर आवश्यक कदम उठाया है। इस कड़ी में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों को विभिन्न तरह से हुई कृषि की क्षति की भरपाई करने वाली महत्वपूर्ण योजना है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2022 तक हर जरूरतमंद को मकान मिल जायेगा। इसके लिए डेढ़ लाख तक की आर्थिक मदद दी जायेगी। प्रदेश में सायकल रिक्शा चालकों को ई-रिक्शा प्रदान की जायेगी। महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए जहाँ अनेक कदम उठाये गये हैं वहीं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना युवाओं को सफल उद्यमी बनाने में मददगार होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि आगामी 4 दिसंबर को भोपाल में गरीब कल्याण मेला लगाया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दतिया में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अच्छे क्रियान्वयन की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यह उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा राशि का किसानों को लाभ दिलाने वाला दतिया प्रदेश का पहला जिला बना है। इस नाते मंत्री डॉ. मिश्रा और दतिया के प्रशासनिक अधिकारी बधाई के पात्र हैं। पूरे देश में इसी वर्ष खरीफ फसल से प्रारंभ की गई इस योजना में खरीफ फसल के दौरान अकेले दतिया जिले में 39 हजार 578 किसानों की 60 हजार 621 हेक्टेयर फसलों का बीमा किया गया था। इसमें 171 करोड़ 37 लाख रुपए की बीमा राशि और 3 करोड़ 42 लाख रुपए की प्रीमियम राशि है। खरीफ फसल के दौरान दतिया जिले में अति वर्षा होने से उड़द और तिल की फसल को नुकसान हुआ था। तत्काल ही बीमा कंपनी को क्लेम भेजा गया और बीमा कंपनी ने 16 हजार 256 किसानों को लगभग 40 करोड़ रुपए की राशि बीमा के रूप में मंजूर की। प्रथम किश्त के रूप में 25 प्रतिशत राशि 9 करोड़ 39 लाख सीधे किसानों के खातों में बीमा कंपनी द्वारा जमा कराई गई। शेष 75 प्रतिशत राशि भी फसल कटाई प्रयोग के बाद अंतिम किश्त के रूप में किसानों को भुगतान कर दी जायेगी।

जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश की धरती से दस्युओं का सफाया हो चुका है। किसानों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने बिना ब्याज के ऋण की व्यवस्था की। प्रदेश में सिंचाई रकबे का तेजी से विस्तार हुआ। पूर्व वर्षों की अव्यवस्थाएँ समाप्त हुईं और विकास के पैमाने पर मध्यप्रदेश तेजी से आगे बढ़ा है। प्रदेश के पुराने बिगड़े हालातों को पलट कर मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रयासों से नई तस्वीर को सामने लाना संभव हुआ है।

जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में दतिया जिले के सभी पात्र किसानों को योजना का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त हो, इसके लिए गाँव-गाँव में किसानों से संपर्क स्थापित कर फसल बीमा कराया गया। ईमानदार प्रयासों से योजना का लाभ किसानों को दिलाने में दतिया जिला प्रदेश का पहला जिला बन सका है। यह देश में भी अपने तरह की विशेष शुरुआत है, जिसमें क्रियान्वयन के स्तर पर परिणाम सामने आए हैं।

कार्यक्रम में नगरीय विकास और आवास एवं दतिया जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती माया सिंह, विधायक और अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।