कांग्रेस का दावा कि मैनेजमेंट से चुनाव जीता जाता है, कांग्रेस को जनता सबक सिखायेगी- श्री शिवराज सिंह चौहान

शहडोल। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने नोट बंदी करके आजादी के बाद सबसे बड़ा आर्थिक फैसला लिया है। इससे भ्रष्टाचार, घोटालों, आतंकवाद और तस्करी पर प्रहार हुआ है। जम्मू कश्मीर में पत्थर फैकने वाले भुगतान न मिलने पर घरों में बैठ गये हैं और अशांति का दौर थम गया है। नोट बंदी का आतंकवाद, नक्सलवाद पर अच्छा असर देखने में आया है। बड़े नोट भ्रष्टाचार का जरिया बन चुके थे, भारतीय जनता पार्टी का दावा है कि श्री नरेंद्र मोदी के राज में कमाने वाला, मेहनत करने वाला, सरसब्ज होगा, लेकिन लूटने वाले को अलविदा होना पड़ेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शहडोल संसदीय क्षेत्र के राजनगर विधानसभा के डूमर, कछार अनूपपुर के अबूमाड़ा, पुष्पराजगढ़ के अमदरी, जैतपुर विधानसभा क्षेत्र के देवरी, भानगढ़ के बिजोरी और बड़वारा क्षेत्र के शैलारपुर में चुनावी सभाओं में जन-जन को प्रदेश में हुई भाजपा सरकार के अंतर्गत प्रगति से रूबरू कराते हुए कही। उन्होंने कहा कि काम, विकास और जनकल्याण के नाम पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ज्ञानसिंह समर्थन के अधिकारी हैं। 19 नवम्बर को होने जा रहे उपचुनाव में कमल का बटन दबाकर ज्ञानसिंह को विजयी बनाये और क्षेत्र के विकास का मार्ग प्रशस्त करें। उन्होंने जन-जन को आगाह किया कि वे कांग्रेस के बहकावे में न आये। आजादी के बाद 50 वर्षों तक कांग्रेस ने केंद्र और राज्य की सत्ता में रहकर सिर्फ नारे लगाये, वादे किये लेकिन जनता की विकास और तरक्की के मामले में कदम नहीं बढ़ाया।
श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता से उन्होंने पारिवारिक, रागात्मक संबंध स्थापित किये हैं। उन्हें प्रदेश की बहने भाई संबोधित करती हैं। बच्चे-बच्चियां मामा कहकर पुकारती हैं, उनके प्रति ममता उमड़ती है। उनके भविष्य को सवांरना सरकार और मेरी जिम्मेदारी है। किसी की जिन्दगी में अंधेरा नहीं रहने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि पहली से लेकर बारहवीं तक की पाठ्य-पुस्तके सरकार दे रही हैं। छात्रवृत्ति देकर छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित किया जा रहा है। दूर गांव जाने के लिए छात्र-छात्राओं को साईकिल का बंदोबस्त किया गया है। कांग्रेस ने कभी न तो शिक्षा के विस्तार में रूचि ली और न अनुन्नत वर्ग को समुननत बनाने का प्रयास किया। गांव में अशिक्षा का यही कारण रहा है जबकि भाजपा की सरकार जनता की बुनियादी आवश्यकताओं के प्रति सजग है। उन्हांेने कहा कि इन्हीं सब बातों के सहारे भाजपा जनता से समर्थन की आकंाक्षी है।
उच्च शिक्षा के लिए राज्य सरकार विदेशों में गये छात्र-छात्राओं का खर्च वहन करती है
श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि आदिवासी, अनुसूचित, पिछड़े वर्ग और सामान्य के गरीब परिवारों के बच्चे अपने में हीन भावना न आने दें। राज्य सरकार उन्हें उनकी कुशाग्र बुद्धि होने पर उच्च शिक्षा के लिए विदेशों में भेंजने का खर्च वहन कर रही है। प्रतिवर्ष उस पर उच्च शिक्षा के प्रति छात्र पर कमोवेश 25 लाख रू. तक व्यय आता है। उन्होंने कहा कि जो छात्र मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी में शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं, उनकी फीस का बंदोबस्त सरकार कर रही है। उन्होंने जनता से प्रश्न किया कि क्या कभी कांग्रेस ने इस दिशा में पहल की है?
श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश में खेती घाटे का सौदा बन गई और लोग खेती से पलायन करने को मजबूर हो गये, लेकिन सत्ता में आने के बाद पहले पहल श्री अटल बिहारी वाजपेयी की एनडीए सरकार ने किसानों से वसूले जाने वाले 18 प्रतिशत ब्याज को घटाया। मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार ने जीरो प्रतिशत ब्याज पर किसान को कर्ज दिया है। साथ खाद और बीज के लिए यदि किसान 1लाख रू. लेता है, तो उसे भुगतान में 10 प्रतिशत छूट भी दी जा रही हैं। भाजपा सरकार मानती है कि किसान समृद्ध होगा। तभी प्रदेश खुशहाल होगा और देश सशक्त बनेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार गांव, गरीब, किसान, मजदूर की सरकार है और उसकी सोच है कि जब गांव गरीब, किसान सशक्त होगा तो देश दुनिया में सुपर पाॅवर बनेगा। उन्हांेने महिला सशक्तिकरण की दिशा में दिये गये स्थानीय निकायों में 50 प्रतिशत आरक्षण, नौकरियों में, शिक्षा में 50 प्रतिशत आरक्षण और वन विभाग को छोड़कर सभी विभागों में दिये गये आरक्षण की चर्चा की और कहा कि इससे महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि अभी प्रदेश को प्रगति के शिखर पर ले जाने के लिए बहुत करना बाकी है। विकास की निरंतरता और स्थिरता के लिए भारतीय जनता पार्टी को समर्थन दें। 19 नवम्बर को हो रहे चुनाव मतदान में कमल का बटन दबाकर अपने प्रत्याशी के रूप में श्री ज्ञानसिंह को विजयी बनायें। उन्हांेने जन-जन से आग्रह किया कि वे विकास की आवश्यकता को देखते हुए। स्वयं घर-घर जाकर परिवारों से भेंट करें और भाजपा प्रत्याशी श्री ज्ञानसिंह के प्रति सर्मथन में जुटने की प्रेरणा दें। श्री ज्ञानसिंह की विजय आदिवासी अंचल शहडोल, अनूपपुर और उमरिया की समुन्नति और विकास की विजय होगी। सभा में सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग, श्री जयसिंह मरावी भी उपस्थित थे।
श्री शिवराज सिंह चौहान ने सभाओं के साथ रोड शो में भी भाग लिया। जनता रोड शो में उमड़ी और मुख्यमंत्री से आत्मीय चर्चा करते हुए स्थानीय समस्याओं पर विचार किया। मुख्यमंत्री ने मर्मस्पर्शी शब्दों में कहा कि वे धैर्य धारण करें, उनके हाथ चुनाव आचार संहिता ने बांध दिये हैं। विश्वास रखे कि चुनाव के पश्चात् श्री शिवराज सिंह चैहान स्वयं अधिकारियों की टीम के साथ क्षेत्र में पहुंचेंगे और क्षेत्र के विकास की योजनाओं पर चर्चा कर विकास का खाका तैयार करेंगे। किसी भी क्षेत्र में पिछड़ेपन का अंधकार नहीं रहेगा। यह मुख्यमंत्री का दावा है। इस अवसर पर जनता ने स्थान-स्थान पर पुष्प वर्षा कर मुख्यमंत्री का स्वागत किया।