कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सभी ३१ मंत्रियो के इस्तीफे लिए |

कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सोमवार को सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिए | इसमें २१ मंत्री कांग्रेस के है |  मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने यह कदम इसलिए उठाया है ताकि बागी १३ विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल कर सरकार बचा सके |(Karnataka News)(HD kumarswami)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)

नागेश व् शंकर
कुमारस्वामी ने १४ जून को निर्दलीय नागेश व् शंकर को मंत्री बनाया था | नागेश व् शंकर ने सोमवार को राज्यपाल वजुभाई वाला को अपना इस्तीफा सौंप दिया | उन्होंने यह कहा की राजयपाल अगर बीजेपी को सरकार बनाने का मौका देते है तो वह उसे साफतौर पर समर्थन देंगे | इस्तीफे के बाद दोनों मुंबई रवाना हो गए |
नागेश और शंकर के इस्तीफे से कुमारस्वामी सरकार सोमवार को पतन के और करीब पहुँच गयी | उनके सहित बागियों की संख्या १५ हो गयी है |(Karnataka News)(HD kumarswami)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)

राहुल गाँधी के बाद शरू हुआ इस्तीफे का दौर |
कर्णाटक की सियासी उठापटक का मामला सोमवार को लोकसभा में गूंजा | कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर कर्नाटक और मध्य प्रदेश को अस्थिर करने की गुप्त साजिश रचने का आरोप लगाया तो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की इसमें केंद्र की बीजेपी नीत राजग सरकार का कोई सम्बन्ध नहीं है | उन्होंने राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए कहा की इस्तीफे का दौर उनसे शुरू हुआ है और अब कांग्रेस के बड़े बड़े नेता इस्तीफा दे रहे है |


मंत्रीपद का ऑफर दे रहे हैं: सिद्धारमैया
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने कर्नाटक में जारी संकट के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने भाजपा पर सरकारों को अस्थिर करने का आरोप लगाया है।सिद्धारमैया ने कहा है, “सरकारों को अस्थिर करने की भाजपा की आदत हो गई है। ये अलोकतांत्रिक है, लोगों ने भाजपा को सरकार बनाने का जनादेश नहीं दिया है। लोगों ने हमें अधिक वोट दिए हैं। कांग्रेस और जेडीएस दोनों को एकसाथ 57 फीसदी से अधिक वोट मिले हैं।”

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि अपनी विफलता के लिए दूसरे पर आरोप लगाना उनकी आदत है। उनके विधायकों ने गवर्नर को इस्तीफा सौंपा है। फिलहाल हालात पर हमारी नजर है, उसी हिसाब के आगे कुछ किया जाएगा।

स्पीकर केआर राकेश कुमार मंगलवार को फैसला लेंगे।
बागी विधायकों के इस्तीफे पर स्पीकर केआर राकेश कुमार मंगलवार को फैसला लेंगे। शनिवार को कांग्रेस के 10 और जेडीएस के 3 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सरकार मुश्किलों में घिर गई थी। नागेश और आर शंकर के इस्तीफे के बाद सरकार के पास 116 विधायकों (कांग्रेस-78, जदएस-37, बसपा-1) का समर्थन है। अगर 13 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं तो गठबंधन के बाद 103 विधायक होंगे और सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 113 है।
(Karnataka News)(HD kumarswami)(todayindia)(latest news)(breaking news)(national news)(bollywood news)(cricket news)(sports news)(political news)
=========================
courtesy