आज फैसला कर रहा है ब्रिटेन, ईयू में बने रहना है या नहीं…

Jun 23 2016
लंदन: ब्रिटेन यूरोपियन यूनियन का हिस्सा बना रहेगा या नहीं, इस सवाल पर गुरुवार को ब्रिटेन में जनमत संग्रह हो रहा है… भारत समेत दुनियाभर के देशों की निगाहें इस जनमत संग्रह के फैसले पर टिकी हैं, जिसके नतीजे शुक्रवार को घोषित किए जाएंगे…

यूरोपियन यूनियन को लेकर पूरा ब्रिटेन दो पक्षों में बंटा हुआ है… एक पक्ष जहां इस हक में है कि उनका देश ईयू का हिस्सा बना रहे, वहीं दूसरे पक्ष का मानना है कि ईयू से बाहर निकल जाना उचित है, क्योंकि वह ब्रिटेन पर अपने अलोकतांत्रिक कानूनों को थोपता है…

कैमरन ने किया था जनमत संग्रह कराने का वादा
वर्ष 2015 के चुनावों के दौरान पीएम डेविड कैमरन ने ब्रेक्ज़िट (ब्रिटेन एक्ज़िट – ब्रिटेन का ईयू से बाहर निकलना) को लेकर वर्ष 2017 खत्म होने से पहले जनमत संग्रह कराने का वादा किया था, लेकिन हालात ऐसे हैं कि लेबर और कंजरवेटिव – दोनों ही दलों में ऐसे नेता मौजूद हैं, जो इसके पक्ष और विपक्ष में हैं…

पीएम डेविड कैमरन ने लोगों से ईयू में बने रहने के पक्ष में वोट करने की अपील की है, जबकि अमेरिका में राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल डोनाल्ड ट्रंप का मानना है कि ब्रिटेन का ईयू से बाहर होना एक बेहतर कदम होगा…

मतदान गुरुवार को स्थानीय समयानुसार सुबह 7 बजे (सुबह 6 बजे जीएमटी) शुरू हुआ, और रात को 10 बजे (रात 9 बजे जीएमटी) तक जारी रहेगा।

संसद नतीजे को मानने के लिए बाध्य नहीं…
वैसे, ब्रिटेन की संसद इस जनमत संग्रह के परिणाम को मानने के लिए बाध्य नहीं है, लेकिन यदि जनमत संग्रह का नतीजा स्पष्ट रहा, तो संसद पर इसे मान लेने का जबर्दस्त राजनैतिक दबाव रहेगा।
courtesy